होम /न्यूज /जीवन शैली /

एलोवेरा को सेहत के लिए अच्छा मान बहुत करते हैं इस्तेमाल, तो जान लें इसके नुकसान

एलोवेरा को सेहत के लिए अच्छा मान बहुत करते हैं इस्तेमाल, तो जान लें इसके नुकसान

एलोवेरा लैटेक्स गंभीर बीमारियों की वजह बनता है. Image- Canva

एलोवेरा लैटेक्स गंभीर बीमारियों की वजह बनता है. Image- Canva

एलोवेरा के कई फायदे होते हैं. इसके जूस से लेकर जेल तक हमारी सेहत और सुंदरता बनाए रखने में मदद करती है. हालांकि एलोवेरा का सेवन सही तरह से नहीं करने के कुछ गंभीर नुकसान भी होते है, जिन्हें जानना बेहद ज़रूरी है.

Side Effects Of Aloe vera–  आपने ज़्यादातर मौकों पर एलोवेरा या फिर इसके जूस के अच्छे गुणों के बारे में सुना होगा. इस वजह से लोग इसे अपनी डाइट में शामिल करने से पीछे नहीं हटते हैं. औषधीय गुणों की पुष्टि के बाद एलोवेरा का इस्तेमाल लोगों के बीच तेज़ी से बढ़ चला है. क्या आप जानते हैं, एलोवेरा का सेवन कुछ स्थितियों में नुकसानदायक भी हो सकता है. 

किसी भी चीज को इस्तेमाल करने से पहले उसके फायदे या नुकसान दोनों की जानकारी होना ज़रूरी है, जिससे उस चीज का इस्तेमाल सीमित मात्रा में हो सके. दरअसल एलोवेरा में लेटेक्स पाया जाता है और अगर इसे जूस या किसी भी फॉर्म में खा लिया गया, तो इसकी वजह से पेट में इरीटेशन, दर्द और एलर्जी होने जैसी समस्याएं देखी जा सकती हैं. आइए जानते हैं एलोवेरा कब हो सकता है नुकसानदायक.

ये भी पढ़ें: डायबिटीज में लापरवाही से बढ़ जाता है शुगर लेवल, इन बातों का रखें ध्यान

एलो वेरा से होने वाले नुकसान
 मायोक्लिनिक के मुताबिक एलोवेरा का अधिक सेवन नुकसानदायक हो सकता है. अगर कुछ दिनों तक 1 ग्राम से ज़्यादा इसका इस्तेमाल किया गया, तो किडनी फेल हो सकती हैं.

एलो वेरा लेटेक्स का ज़्यादा-मात्रा में सेवन कैंसर का कारण भी बन सकता है. इसके अलावा डायरिया, पेट में दर्द जैसी समस्याएं भी देखने को मिल सकती हैं. जिन्हें एलोवेरा से एलर्जी है, उन्हें भी इसका सेवन करने से बचना चाहिए.

ये भी पढ़ें: देर रात को भूख लग जाती है? इन फूड्स को खाने से मिलेगा पोषण

 बहुत से लोगों को इससे स्किन एलर्जी, आंखें लाल होना और स्किन पर रैशज़ या इरिटेशन और जलन होने जैसे लक्षणों का सामना करना पड़ सकता है.

 इसका ज़्यादा सेवन करने से ब्लड शुगर लेवल कम हो सकता है. अगर ब्लड शुगर लेवल ज़रूरत से ज़्यादा हो गया, तो यह सेहत को गंभीर नुकसान पहुंचा सकता है.

 इसमें  मौजूद लेक्साटिव प्रभावों के कारण कुछ लोगों को एलर्जी का सामना भी करना पड़ सकता है.

 अगर इसका सेवन ज़्यादा मात्रा में किया जाए, तो शरीर में डिहाइड्रेशन भी हो सकता है.

 गर्भवती महिलाओं को इसका सेवन नहीं करना चाहिए नहीं, तो समय से पहले कॉन्ट्रैकशन शुरू हो  सकते हैं. इससे बच्चे को जन्म देने में भी मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है.

 यह शरीर में  पोटेशियम के लेवल भी कम कर सकता है.

Tags: Health, Lifestyle

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर