#कामकीबात : क्‍या सेक्‍सुअली एक्टिव महिलाएं ज्‍यादा स्‍वस्‍थ होती हैं?

सेक्‍स सलाह
सेक्‍स सलाह

यौन संबंध सिर्फ सेक्‍सुअल हॉार्मोन पर ही नहीं, बल्कि मन और शरीर की समूची आंतरिक प्रक्रिया पर असर डालते हैं. इसका संबंध खुशी से है और खुशी का संबंध अच्‍छे स्‍वास्‍थ्‍य से है

  • Last Updated: September 17, 2018, 5:26 PM IST
  • Share this:
प्रश्‍न : मेरी उम्र 27 साल है और अभी मेरी शादी नहीं हुई है. कुछ समय पहले तक एक ब्‍वायफ्रेंड था, ले‍किन फिर हमारा ब्रेकअप हो गया. जब तक मैं रिलेशनशिप में थी, सेक्‍सुअली भी एक्टिव थी, लेकिन अब दो सालों से ऐसा नहीं है. मैंने कुछ दिन पहले एक मैगजीन में रिसर्च पढ़ी कि सेक्‍सुअली एक्टिव महिलाएं ज्‍यादा स्‍वस्‍थ्‍य होती हैं. क्‍या ये बात सही है. मेरी चिंता ये भी है कि अगर मैं सेक्‍सुअली एक्टिव नहीं हूं तो क्‍या इसका मेरी सेहत पर बुरा असर पड़ेगा.

उत्‍तर: सेक्‍स का हमारे शारीरिक और मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य के साथ गहरा संबंध है. ये सही है कि सिर्फ महिलाएं ही नहीं, सेक्‍सुअली एक्टिव स्‍त्री और पुरुष दोनों का शारीरिक और मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य बेहतर होता है. सेक्‍स हमारे शरीर में ऑक्‍सीटोसिन नामक एक हॉर्मोन पैदा करता है, जिसका मन और शरीर पर सकारात्‍मक असर होता है. ऑक्‍सीटोसिन का संबंध खुशी से है और खुशी का संबंध अच्‍छे स्‍वास्‍थ्‍य से.

लेकिन मुझे लगता है कि आपकी यह चिंता बिलकुल बेबुनियाद है कि कुछ समय से सेक्‍सुअली एक्टिव न होने का आपके स्‍वास्‍थ्‍य पर बुरा असर पड़ रहा होगा. ऐसा नहीं है. आपकी उम्र अभी बहुत कम है. आप खुश रहें, मन की चीजें करें और अपने स्‍वास्‍थ्‍य का ध्‍यान रखें. इस तरह की बेबुनियाद चिंताओं में वक्‍त और दिमाग जाया न करें.



(डॉ. पारस शाह सानिध्‍य मल्‍टी स्‍पेशिएलिटी हॉस्पिटल, अहमदाबाद, गुजरात में चीफ कंसल्‍टेंट सेक्‍सोलॉजिस्‍ट हैं.) 
अगर आपके मन में भी कोई सवाल या जिज्ञासा है तो आप इस पते पर हमें ईमेल भेज सकते हैं. डॉ. शाह आपके सभी सवालों का जवाब देंगे.
ईमेल – Ask.life@nw18.com

ये भी पढ़ें-

#काम की बात : जब से मेरे पार्टनर का वजन बढ़ा है, हमारी सेक्स लाइफ खत्म हो गई है
#काम की बात : क्या स्त्रियों की यौन इच्छा का संबंध उनके मासिक चक्र से भी है ?
#काम की बात: मुझे ऑर्गज्म नहीं होता, दिक्कत कहां है, शरीर में या दिमाग में?
#काम की बात : पोर्न की आदत पोर्नोग्राफी की लत में बदल सकती है?
#काम की बात: अगर एक से ज्‍यादा लोगों से यौन संबंध हों तो एसटीडी हो जाता है?
#काम की बात: क्‍या पीरियड्स के समय सेक्‍स करने से भी प्रेगनेंसी हो सकती है?
#काम की बात: क्या सेक्स के समय लड़कों को भी पीड़ा हो सकती है?
# काम की बात : क्‍या देसी वियाग्रा लेने से शरीर पर बुरा असर पड़ता है ? 
# काम की बात : क्‍या पीरियड्स के समय सेक्‍स करने से बीमारी हो जाती है?
#काम की बात: क्‍या पीरियड्स के समय सेक्‍स करना सुरक्षित है?
#कामकीबात: कौन सी बात अंतरंग क्षणों को ज्यादा यादगार बना सकती है?
#कामकीबात: सेक्स के दौरान महिला साथी भी क्लाइमेक्स तक पहुंची, ये कैसे समझा जा सकता है? 
#कामकीबात: सेक्स-संबंध नीरस हो गया है. कभी मेरा मन नहीं करता तो कभी उसका

अन्य लेख पढ़ने के लिए नीचे लिखे Sexologists पर क्लिक करें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज