होम /न्यूज /जीवन शैली /आयुष ला रहा नई रक्षा किट, सेनिटाइजर की जगह कर सकेंगे इस्‍तेमाल!

आयुष ला रहा नई रक्षा किट, सेनिटाइजर की जगह कर सकेंगे इस्‍तेमाल!

आयुष जल्‍द ही त्‍वचा और केश रक्षा किट लांच करने जा रहा है. क्‍या ये सेनिटाइजर का विकल्‍प हो सकती है?एआईआईए से जानें.

आयुष जल्‍द ही त्‍वचा और केश रक्षा किट लांच करने जा रहा है. क्‍या ये सेनिटाइजर का विकल्‍प हो सकती है?एआईआईए से जानें.

Ayush New raksha kit: अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्‍थान दिल्‍ली की मैन्‍यूफैक्‍चरिंग यूनिट इस किट का निर्माण शुरू कर चुकी ह ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

आयुष मंत्रालय एआईआईए के साथ मिलकर बाल, आयु और स्‍वास्‍थ्‍य रक्षा किटें लांच कर चुका है.
पहली बार आयुष त्‍वचा और बालों की देखभाल के लिए स्किन एंड हेयर केय‍र किट ला रहा है.
इम्‍यूनिटी बढ़ाने वाली रक्षा किटों के बाद अब संक्रमण को रोकने वाली किट तैयार की गई है.

नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) के खिलाफ अभियान में भारत का आयुष मंत्रालय इलाज और बचाव के लिए लगातार नई-नई चीजें इजाद कर रहा है. अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्‍थान (AIIA) दिल्‍ली के साथ मिलकर स्‍वास्‍थ्‍य और रोग प्रतिरोधक शक्ति (Immunity) को बढ़ाने के लिए तीन रक्षा किटें तैयार कर चुका आयुष अब एक नई और जबरदस्‍त रक्षा किट लेकर आ रहा है जो शरीर की त्‍वचा और बालों पर इस्‍तेमाल की जाएगी. यह कई प्रकार के बैक्‍टीरिया को त्‍वचा और बालों के माध्‍यम से शरीर में प्रवेश करने से रोकेगी और संक्रमण व त्‍वचा रोगों से भी रोकथाम करेगी. ऐसे में जानने वाली बात होगी कि क्‍या ये रक्षा किट (Raksha Kit) कोरोना वायरस के खिलाफ काम करेगी और सेनिटाइजर की जगह इस्‍तेमाल की जा सकेगी?

ये भी पढ़ें-आयुष ने दी सलाह, ऐसा खाना घटा सकता है इम्‍यूनिटी

अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्‍थान दिल्‍ली (Delhi AIIA) की मैन्‍यूफैक्‍चरिंग यूनिट इस किट का निर्माण शुरू कर चुकी है. इसका नाम त्‍वचा और केश रक्षा किट रखा गया है जो जल्‍द ही लांच होने जा रही है. आयुर्वेदिक औषधियों से बनी इस रक्षा किट के उत्‍पाद सेवन करने के बजाय सीधे त्‍वचा और बालों पर लगाए जाएंगे.

अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्‍थान की निदेशक डॉ. तनुजा नेसारी ने न्‍यूज18हिंदी से बातचीत में बताया कि सर्दी के मौसम में शरीर की त्‍वचा कई प्रकार की समस्‍याओं से जूझती है. जैसे त्‍वचा में खुश्‍की, रूखापन, चर्म रोग, दाद, खाज, खुजली, दाग, त्‍वचाशोथ आदि. वहीं बाल भी इस दौरान प्रभावित होते हैं. कई बार त्‍वचा के माध्‍यम से कई प्रकार के बैक्‍टीरिया भी शरीर में प्रवेश करते हैं. लिहाजा एआईआईए ने काफी शोध के बाद ऐसी रक्षा किट तैयार की है जो इन सभी समस्‍याओं का हल होगी.

नेसारी कहती हैं कि जिस प्रकार आयुष की अन्‍य बाल रक्षा, स्‍वास्‍थ्‍य रक्षा और आयुष रक्षा किटों में अणु तेल ने नाक में लगाए जाने के बाद कोरोना वायरस की रोकथाम का किया है, उसी प्रकार यह त्‍वचा के माध्‍यम से शरीर में प्रवेश करने वाले संक्रमण को रोकने में कारगर होगी.

क्‍या सेनिटाइजर की तरह करेगी काम?
डॉ. तनुजा कहती हैं कि इसे आयुवेर्दिक सेनिटाइजर या सेनिटाइजर का विकल्‍प कहना तो सही नहीं होगा, न ही ऐसा कोई दावा किया जा रहा है लेकिन यह ऐसी आयुर्वेदिक औषधियों से बनी है जो वास्‍तव में एंटीबैक्‍टीरियल, एंटीफंगल और एंटीवायरल (Anti-viral) हैं. ये उसी तरह काम करती है जैसे हल्‍दी एंटीसेप्टिक और एंटीबायोटिक के रूप में काम करती है. ऐसे में यह काफी उपयोगी होगी.

कोरोना वायरस से बचाव के लिए की जा सकती है इस्‍तेमाल?
डॉ. तनुजा कहती हैं कि जैसा कि अभी तक शोधों में सामने आया है कि कोरोना नाक और मुंह के माध्‍यम से प्रवेश करता है न कि त्‍वचा के माध्‍यम से, हालांकि त्‍वचा पर ड्रॉपलेट के माध्‍यम से नाक तक जा सकता है. अब चूंकि त्‍वचा रक्षा किट त्‍वचा के लिए है तो यह त्‍वचा को इन सब चीजों से बचाने का काम करेगी. संभव है कि यह वायरस के खिलाफ भी काम करे. इसका रोजाना इस्‍तेमाल निश्चित ही फायदेमंद होगा.

Tags: Ayushman Bharat, Ayushman Bharat scheme, Sanitizer

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें