प्रेग्‍नेंसी में लहसुन खाएं या नहीं इस बात से हैं परेशान? हमारे पास है आपके हर सवाल का जवाब

प्रेग्‍नेंसी में लहसुन खाएं या नहीं इस बात से हैं परेशान? हमारे पास है आपके हर सवाल का जवाब
डॉक्टर भी रोजाना खाली पेट लहसुन खाने की सलाह देते हैं.

लहसुन (Garlic) खाना सेहत (health) के लिए अच्छा माना जाता है, लेकिन प्रेग्‍नेंसी (Pregnancy) में महिलाओं को इसे खाना चाहिए या नहीं? इस बात को लेकर कई तरह के कंफ्यूजन हैं, जिसके बारे में आज हम एक्‍सपर्ट से जानेंगे.

  • Share this:
लहसुन (Garlic) का प्रयोग आज लगभग सभी सब्जियों में किया जाता है. लहसुन और अदरक जैसी चीजों को औषधि माना गया है. हमारे वेद पुराणों में भी इनका उल्लेख किया गया है और इनको पोषक तत्वों से भरपूर बताया गया है. डॉक्टरों को कहना है कि लहसुन खाने से खाने से पेट में गैस और जोड़ों में दर्द की समस्‍या नहीं होती. इसके साथ ही हाई ब्लड प्रेशर और कोलेस्‍ट्रॉल भी कंट्रोल होता है और ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाने में मदद यह करता है.

डॉक्टर भी रोजाना खाली पेट लहसुन खाने की सलाह देते हैं, लेकिन प्रेग्‍नेंसी में लहसुन खाना चाहिए या नहीं? क्या लहसुन के औषधीय गुण प्रेग्‍नेंसी में रोगों से लड़ने में मदद कर सकते हैं? य़ा फिर महिला को नुकसान पहुंचा सकते हैं.? प्रेग्‍नेंट महिलाओं के मन में अक्सर ये सवाल आता है कि प्रेग्‍नेंसी में लहसुन आएं या नहीं. आज हम इस आर्टिकल में इस सवाल के जवाब के साथ ही कई नई जानकारी आपसे साझा करेंगे...

डॉक्टर सिमरन सैनी का कहना है कि 'अपनी डाइट में आप थोड़ी मात्रा लहसुन खा सकती हैं. प्रेग्‍नेंसी के दौरान सिर्फ एक लहसुन की कली रोज खाने से कोई नुकसान नहीं होता. ऐसे में प्रेग्नेंसी के दौरान लहसुन खाना पूरी तरह से सुरक्षित है और यह स्वास्थ्य के लिए भी सही होता है. डॉ. सैनी का कहना है कि लहसुन में मौजूद एलिसिन नामक तत्‍व कोलेस्‍ट्रॉल के लेवल को बैलेंस करने में मदद करता है. साथ ही यह प्रेग्‍नेंसी में फंगल और बैक्‍टीरियल इन्‍फेक्‍शन, कोल्‍ड और हाई ब्‍लड प्रेशर जैसी समस्‍याओं को होने की संभावना को भी रोकता है. लेकिन उन्होंने चेताया कि ज्यादा मात्रा में लहसुन का सेवन नुक्सान भी पहुंचा सकता है.



प्रेग्‍नेंसी में लहसुन खाने के फायदे


  1. प्री-एक्लेम्पसिया
    महिलाओं का ब्‍लड प्रेशर हाई होने पर यह समस्‍या होती है, जो कुछ प्रेग्‍नेंट महिलाओं को प्रभावित करती है. लहसुन को ब्‍लड प्रेशर को कम करने के लिए जात है.

  2. इन्‍फेक्‍शन का खतरा कम होता है
    प्रेग्‍नेंसी के दौरान इम्‍यूनिटी सिस्टम कमजोर होता है और इन्‍फेक्‍शन होने की अधिक संभावना होती है और सर्दी और फ्लू होने का खतरा भी होता है. ऐसे में लहसुन हानिकारक बैक्टीरिया से लड़ता है और इसे शरीर में बढ़ने से रोकता है. लहसुन इम्‍यूनिटी बढ़ाने में मददगार है.

  3. लहसुन बाल झड़ना रोकता है
    प्रेग्‍नेंसी के दौरान कई महिलाओं में बालों के झड़ने की समस्‍या होती है, लेकिन लहसुन के सेवन से इस समस्‍या को रोका जा सकता है. इसमें एलिसिन होता है जो बालों को झड़ने से रोकने के लिए बहुत मददगार होता है.

  4. थकान कम करता है
    प्रेग्‍नेंसी के दौरान महिलाओं में थकान होना एक आम समस्या है, लेकिन लहसुन के सेवन से इसे दूर किया जा सकता है. इसके अलावा लहसुन खाने से प्रेग्‍नेंसी के दौरान चक्कर और उल्टी आने की समस्या से भी राहत मिलती है.


प्रेग्‍नेंसी में ज्‍यादा लहसुन खाने पर नुकसान
1. लहसुन ब्‍लड को पतला करने के लिए जाना जाता है. अगर आप इसका सेवन ज्‍यादा मात्रा में करती हैं तो यह डिलीवरी के दौरान नॉर्मल से अधिक ब्‍लीडिंग का कारण बन सकता है. फिर चाहे डिलीवरी नॉर्मल हो या सि‍जेरियन.

2. ब्‍लड क्‍लॉटिंग दवाओं को लेने पर लहसुन सप्‍लीमेंट नहीं लेने की सिफारिश की जाती है. यह इंसुलिन को प्रभावित करता है जो ब्‍लड शुगर के लिए अच्छा नहीं होता है.

3. ज्‍यादा मात्रा में लहसुन खाने से डाइजेस्टिव सिस्‍टम से जुड़ी समस्‍याएं हो सकती है, लेकिन हर किसी का शरीर इसके प्रति अलग तरीके से प्रतिक्रिया करता है.

इस आर्टिकल को पढ़कर आपको समझ आ गया होगा कि प्रेग्‍नेंसी में सीमित मात्रा में लहसुन खाने से कोई नुकसान नहीं है, बल्कि इसके फायदे ही हैं. फिर भी इसे खाने से पहले एक बार अपने डॉक्‍टर से संपर्क कर लें. क्‍योंकि हर किसी के शरीर में इसका प्रभाव अलग-अलग पड़ता है.

ये भी पढ़ें- Coronavirus: इम्युनिटी बूस्टर की तरह काम करता है ये जूस, सिर्फ तीन चीजें बीमारियों को रखती हैं दूर
Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज