समुद्री नमक खाने से मजबूत होती हैं हड्डियां, जानें चुटकी भर नमक के फायदे अनेक

समुद्री नमक खाने से मजबूत होती हैं हड्डियां, जानें चुटकी भर नमक के फायदे अनेक
समुद्री नमक (Sea Salt) के फायदे जानें

समुद्री नमक (Sea Salt) सोडियम और पोटेशियम का एक शानदार स्रोत है जो धड़कन को सामान्य बनाए रखने और हृदय स्वास्थ्य को बढ़ाने में एक महत्वपूर्ण घटक है.

  • Myupchar
  • Last Updated : November 27, 2020, 2:22 pm IST
  • Share this:

    समुद्री नमक, नमक का सबसे शुद्ध रूप है जो समुद्री जल से प्राकृतिक रूप से प्राप्त होता है. टेबल सॉल्ट के विपरीत यह नमक आयोडाइज्ड नहीं होता और समुद्रों तथा झीलों के नमकीन पानी को वाष्पित एवं फिल्टर करके तैयार किया जाता है. 'बे सॉल्ट' या 'सोलर सॉल्ट' नाम से पहचाने जाने वाले समुद्री नमक में खनिज पदार्थ भरपूर मात्रा में होता है. इसकी एक छोटी-सी चुटकी छिड़कने से न केवल पकवान का स्वाद बढ़ता है, बल्कि अनप्रोसेस्ड होने के कारण, इसमें सभी आवश्यक पोषक तत्व और खनिज मौजूद होते हैं जो इसे बेहद फायदेमंद बनाते हैं. सभी जानते हैं कि नमक सोडियम के सेवन को पूरा करता है जो शरीर में इलेक्ट्रोलाइट सामग्री को संतुलित करने, शरीर को हाइड्रेट रखने और मांसपेशियों के कार्य को नियंत्रित करने के लिए बेहद आवश्यक है. myUpchar के अनुसार, जब महासागर का नमकीन पानी सुखाया जाता है, तो समुद्री नमक बनता है. ये सेहत के लिए तो फायदेमंद है ही, साथ ही त्वचा और बालों के लिए भी गुणकारी है.

    हड्डियों को करे मजबूत

    समुद्री नमक में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो कि पीड़ित लोगों के लिए दर्द और सूजन को कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं. कई शोधों में पाया गया है कि आहार में समुद्री नमक का सेवन करने व इसे पानी में डालकर नहाने से गठिया और ऑस्टियोआर्थराइटिस के दौरान होने वाले दर्द और सूजन को कम करने में मदद मिलती है.



    बढ़ाये इम्यून सिस्टम

    myUpchar के अनुसार, इम्यूनिटी यानी प्रतिरक्षा किसी भी प्रकार के सूक्ष्मजीवों से शरीर को लड़ने की क्षमता देती है. समुद्री नमक के क्षारीय गुण बैक्टीरिया और वायरल संक्रमण दूर रखने में मदद करते हैं. साथ ही जिंक, आयरन, फास्फोरस, मैंगनीज, मैग्नीशियम, पोटेशियम और आयोडीन जैसे आवश्यक खनिजों की उपस्थिति शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाने में मदद करता है. समुद्री नमक में पोषक तत्वों और खनिज की उचित मात्रा एलर्जी, बुखार, सर्दी और फ्लू के लिए बेहद फायदेमंद है.

    हृदय के कार्यों में करे सुधार

    समुद्री नमक सोडियम और पोटेशियम का एक शानदार स्रोत है जो धड़कन को सामान्य बनाए रखने और हृदय स्वास्थ्य को बढ़ाने में एक महत्वपूर्ण घटक है. सामान्य नमक के विपरीत, समुद्री नमक ब्लड प्रेशर नहीं बढ़ाता है. कई शोध यह कहते हैं कि नियमित आहार में सामान्य नमक के बजाय समुद्री नमक की एक चुटकी हाई ब्लड प्रेशर को कम करती है और यही वजह है कि यह हृदय रोग के जोखिम को कम करने में असरदार है.

    पाचन शक्ति में असरदार

    समुद्री नमक पाचन को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. हाइड्रोक्लोरिक एसिड के उचित स्त्राव की कमी से अपच, पेट फूलना, पेट में ऐंठन, पेट में जलन, सूजन आदि सहित पेट की कई बीमारियां हो सकती हैं. समुद्री नमक का यहां बहुत महत्व है क्योंकि यह हाइड्रोक्लोराइड एसिड का उत्पादन करने के लिए पेट को उत्तेजित करता है जो बदले में भोजन को तोड़ने में मदद करता है और इस तरह पाचन में सुधार होता है.

    त्वचा और बालों के लिए फायदेमंद

    समुद्री नमक की मदद से त्वचा को चमकदार और खूबसूरत रखा जा सकता है. यह शरीर के सभी विषाक्त पदार्थों को बाहर निकाल सकता है, जिससे त्वचा नरम और स्वस्थ रहती है. त्वचा के अलावा, बालों के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है. रूसी से छुटकारा पाने के लिए भी यह नमक बड़े काम का है. (अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, समुद्री नमक के फायदे  पढ़ें।) (न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं। सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है। myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं।)