औषधीय गुणों के भरपूर है काला लहसुन, दिल के रोगी जरूर खाएं

काले लहसुन के फायदे जानें (फोटो साभार: wikipedia)
काले लहसुन के फायदे जानें (फोटो साभार: wikipedia)

लहसुन को खाली पेट खाने (Having Garling In Empty Stomach) से ज्यादा फायदा होता है. आइए जानते हैं कि काला लहसुन (Black Garlic) खाने से हमारे शरीर को क्या-क्या फायदे हो सकते हैं.

  • Last Updated: October 8, 2020, 6:40 AM IST
  • Share this:
सफेद लहसुन (White Garlic) तो हर किसी ने खाया ही होगा, साथ ही उसके औषधीय गुणों के बारे में भी जाना होगा, लेकिन सफेद लहसुन के अलावा काला लहसुन (Black Garlic) भी होता है, जो बहुत कम देखने को मिलता है. औषधीय गुणों में यह सफेद लहसुन की तरह ही गुणकारी है और कुछ बीमारियों में कारगर इलाज करता है. myUpchar से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला के अनुसार, लहसुन को खाली पेट खाने (Having Garling In Empty Stomach) से ज्यादा फायदा होता है. आइए जानते हैं कि काला लहसुन (Black Garlic) खाने से हमारे शरीर को क्या-क्या फायदे हो सकते हैं.

फर्मेंटेशन से तैयार होता है काला लहसुन

काला लहसुन सफेद लहसुन का ही रूप है, जिसे फर्मेंटेशन के द्वारा तैयार किया जाता है. यह खाने में कम तीखा होता है लेकिन इसमें पोषक तत्व काफी मात्रा में होते हैं. यही कारण है कि औषधीय रूप में काले लहसुन का प्रयोग ज्यादा किया जाता है. आयुर्वेदिक चिकित्सा में इसका विशेष महत्व है.



एलिसिन से भरपूर, बढ़ाता है रक्त संचार
आयुर्वेद के मुताबिक, लहसुन का सेवन करने से हार्ट संबंधी बीमारियों का खतरा कम हो जाता है. दरअसल सफेद लहसुन में एलिसिन नामक तत्व पाया जाता है, जो खून को पतला करने में अहम भूमिका निभाता है. वहीं काले लहसुन में एलिसिन ज्यादा मात्रा में पाया जाता है इसलिए दिल के रोगियों के लिए यह ज्यादा फायदेमंद होता है.

दिल के रोगियों के लिए इसलिए उपयोगी

दिल के रोगियों में ज्यादातर समस्या हार्ट ब्लॉकेज की होती है. धमनियों में ब्लॉकेज की समस्या के चलते दिल तक रक्त संचार में बाधा उत्पन्न होती है, जिससे मरीज को अक्सर खून पतला करने वाली दवाईयां दी जाती हैं. काले लहसुन में मौजूद एलिसिन खून पतला करने की एक प्राकृतिक औषधि है. यदि इसे रोज खाने में शामिल किया जाए तो हार्ट ब्लॉकेज से संबंधित परेशानी नहीं होगी. साथ ही शरीर के अन्य अंगों में भी रक्त संचार में बाधा नहीं होगी.

इम्युनिटी भी बढ़ाता है काला लहसुन

काला लहसुन रक्त संचार शरीर की इम्युनिटी को भी बढ़ाने का भी काम करता है. काले लहसुन में एंटीबैक्टीरियल और एंटीवायरल गुण ज्यादा होते हैं. यह डायबिटिक मरीजों के लिए भी फायदेमंद होती है.

कैंसर में भी गुणकारी

चूंकि सफेद लहसुन का फर्मेंटेशन करने के बाद ही काला लहसुन तैयार किया जाता है, इसलिए इसके औषधीय गुणों में भी गुणात्मक वृद्धि हो जाती है. इस प्रक्रिया के कारण काले लहसुन में एंटी ऑक्सीडेंट तत्व ज्यादा पाए जाते हैं. इसके अलावा काले लहसुन में पॉलीफेनॉल, अल्कलाइन और फ्लेवोनाइड तत्व भी काफी मात्रा में पाए जाते हैं जो स्वास्थ्य के लिए अच्छे होते हैं. ये सभी तत्व कैंसर रोधी होते हैं. ब्लड कैंसर, पेट के कैंसर और कोलन कैंसर से पीड़ित के लिए ब्लैक गार्लिक काफी फायदेमंद हो होता है.

दूर होती है एलर्जी की समस्या

myUpchar से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला के अनुसार, लहसुन का नियमित सेवन करने के शरीर का मेटाबॉलिज्म बढ़ता है. काली लहसुन से भी शरीर को एलर्जी संबंधित बीमारी से लड़ने की ताकत मिलती है. कई बार लोगों को मौसम, धूल, ठंड आदि से एलर्जी होती है और सर्दी, खांसी बुखार जैसी समस्या हो जाती है. काले लहसुन के सेवन से एलर्जी की समस्या दूर हो जाती है. इसके अलावा काला लहसुन चूंकि रक्त को पतला करने का काम करता है इसलिए ऐसे रोगियों के लिए भी काफी फायदेमंद है, जिनके शरीर में सूजन रहती है. आमतौर पर रक्त प्रवाह में बाधा के कारण ही शरीर में सूजन आती है, यदि प्रतिदिन के खानपान में काला लहसुन शामिल किया जाए तो सूजन सहित कई तरह की बीमारियों को दूर किया जा सकता है. (अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, खाली पेट लहसुन खाने का तरीका और फायदे पढ़ें।) (न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं। सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है। myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं।)

अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको होने वाले किसी भी तरह से संभावित नुकसान के लिए ना तो myUpchar और ना ही News18 जिम्मेदार होगा।

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज