होम /न्यूज /जीवन शैली /जानिए क्या है क्रॉनिक हाइपरटेंशन के कारण, लक्षण और बचाव के उपाय

जानिए क्या है क्रॉनिक हाइपरटेंशन के कारण, लक्षण और बचाव के उपाय

क्रॉनिक हाइपरटेंशन के लक्षण, कारण और बचाव के उपाय, image-canva

क्रॉनिक हाइपरटेंशन के लक्षण, कारण और बचाव के उपाय, image-canva

क्रॉनिक हाइपरटेंशन एक गंभीर स्थिति है, जो हार्ट अटैक, स्ट्रोक और किडनी संबंधी बीमारियों का कारण बनता है. इसके लक्षण और ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

क्रॉनिक हाइपरटेंशन एक गंभीर समस्या है जो जानलेवा भी हो सकती है.
मेडिकल प्रॉब्लम्स जैसे किडनी की बीमारियां और मोटापा हाइपरटेंशन का कारण बन सकते हैं.
पोटेशियम युक्त फूड्स से ब्लड प्रेशर काफी हद तक नियंत्रित किया जा सकता है.

Chronic Hypertension: लंबे समय तक हाई ब्लड प्रेशर की स्थिति बने रहना ही क्रॉनिक हाइपरटेंशन कहलाता है. ब्लड प्रेशर यानी शरीर की आर्टिरीज से बॉडी में होने वाले ब्लड सर्कुलेशन के दौरान हार्ट ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने का काम करता है. क्रॉनिक हाइपरटेंशन की स्थिति को साइलेंट किलर भी कहा जाता है, क्योंकि इसमें हाई ब्लड प्रेशर के कोई लक्षण आसानी से देखने को नहीं मिलते हैं और यह समस्या लंबे समय तक शरीर में रहकर हार्ट और दूसरे ऑर्गन को डैमेज कर देती है. क्रॉनिक हाइपरटेंशन की पहचान स्क्रीनिंग या चेकअप से ही की जा सकती है. ऐसे में हाई ब्लड प्रेशर की समस्या होने पर रेगुलर चेकअप का रूटीन बनाना जरूरी है. आइए क्रॉनिक हाइपरटेंशन के कारण कुछ सामान्य लक्षण और बचाव के उपाय जानते हैं.

ये भी पढ़ें: प्रेग्नेंसी में एलोवेरा जूस का सेवन हो सकता है नुकसानदायक, इस्तेमाल करने से पहले जान लें यह जरूरी बातें

क्रॉनिक हाइपरटेंशन के कारण :
वैरी वैल हेल्थ डॉट कॉम  के अनुसार 
क्रॉनिक हाइपरटेंशन के कई कारण हो सकते हैं. जिनमें से कुछ कारण जैसे एजिंग और जेनेटिक्स आदि पर नियंत्रण नहीं किया जा सकता है. क्रॉनिक हाइपरटेंशन के सामान्य कारण कुछ इस प्रकार है.

एजिंग, के कारण ब्लड वेसल्स में स्टिफनिंग होने के कारण
-जेनेटिक्स
-स्मोकिंग
-अल्कोहल का ज्यादा सेवन
-खराब डाइट
-क्रॉनिक स्ट्रेस या तनाव
-नींद की कमी
-पॉल्यूशन
-मेडिकल प्रॉब्लम्स जैसे किडनी की बिमारियां और मोटापा आदि 

क्रॉनिक हाइपरटेंशन के लक्षण :
हाइपरटेंशन यानी हाई ब्लड प्रेशर को साइलेंट किलर कहा जाता है क्योंकि अधिकतर इसके कोई लक्षण आसानी से देखने को नहीं मिलते हैं. हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार कुछ स्थितियों में क्रॉनिक हाइपरटेंशन के लक्षण सिर दर्द, नाक से खून आना आदि हो सकते हैं.
कोई लक्षण ना होने के बावजूद भी क्रॉनिक हाई ब्लड प्रेशर एक गंभीर समस्या है, जो हार्ट संबंधित बीमारियां स्ट्रोक और किडनी की बीमारियों का कारण बनता है. हाइपरटेंशन की समस्या में रेगुलर चेकअप जरूरी है.

ये भी पढ़ें: दिल के मरीजों के लिए सर्दियों का मौसम हो सकता है नुकसानदायक, इन बातों का रखें विशेष ध्यान

क्रॉनिक हाइपरटेंशन से बचाव के उपाय :
क्रॉनिक हाइपरटेंशन एक गंभीर समस्या है, जिसे समय रहते पहचानकर लाइफस्टाइल में कुछ बदलाव करना बेहद जरूरी है. क्योंकि, क्रॉनिक हाइपरटेंशन हार्टअटैक, स्ट्रोक जैसी गंभीर समस्याओं का कारण बनता है. इससे बचने के कुछ उपाय जानते हैं –
– खाने पीने में कोई लापरवाही ना करें और हेल्दी डाइट मेंटेन करें, जिसमें ज्यादा से ज्यादा फल और सब्जियां शामिल हों.
– नियमित योग और फिजिकल एक्सरसाइज करें.
– नमक का सेवन कम से कम करें और प्रोसैस्ड फूड से परहेज करें.
– अपनी डाइट में पोटेशियम की मात्रा को बढ़ाएं, पोटेशियम युक्त फूड्स से ब्लड प्रेशर काफी हद तक नियंत्रित किया जा सकता है.
– धूम्रपान और शराब का सेवन ना करें.

Tags: Health, Lifestyle

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें