होम /न्यूज /जीवन शैली /ठंडे पानी में तैराकी करना क्या सच में फायदेमंद है? कहीं आप भ्रम में तो नहीं हैं, जानें क्या कहती है रिसर्च

ठंडे पानी में तैराकी करना क्या सच में फायदेमंद है? कहीं आप भ्रम में तो नहीं हैं, जानें क्या कहती है रिसर्च

ठंडे पानी में तैराकी को लेकर शोधकर्ताओं में काफी मतभेद हैं.

ठंडे पानी में तैराकी को लेकर शोधकर्ताओं में काफी मतभेद हैं.

Cold Water Swimming Benefits: पिछले कुछ वक्त में ठंडे पानी में तैराकी के फायदे-नुकसान पर शोधकर्ताओं की तेजी से रुचि बढ़ ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

Cold Water Swimming Benefits: पुराने जमाने में लोग मनोरंजन के लिए तैराकी करना पसंद करते थे. हालांकि तैराकी सिर्फ मनोरंजन के लिए ही नहीं बल्कि स्वास्थ्य लाभ के लिए भी कई तरह से फायदेमंद है. ठंडे पानी में डुबकी लगाना या फिर तैराकी करने से हमे वजन कम करने में भी मदद मिलती है. इसके साथ ही तैराकी मधुमेह यानि डायबिटीज के रोगियों के लिए भी फायदेमंद है. तैराकी आपके मूड को भी रिफ्रेश करती है.

हालांकि तैराकी के कई स्वास्थ्य लाभ है लेकिन जरूरी नहीं है कि यह हमारे स्वास्थ्य के लिए पूरी तरह से ही लाभकारी है. हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के अनुसार ठंडे पानी में तैराकी को लेकर अभी तक लगभग जितने भी अध्ययन हुए हैं उनमें प्रतिभागियों की संख्या काफी कम थी और उनमें जेंडर डिफरेंस भी काफी ज्यादा था. इसके साथ ही यह भी नहीं स्पष्ट हो पाया है कि गर्मी की अपेक्षा जाड़े के मौसम तैराकी का हमारे स्वास्थ्य पर क्या असर पड़ता है.

पूरी तरह से नहीं हुआ आंकलन
यूआईटी द आर्कटिक यूनिवर्सिटी ऑफ नॉर्वे और उत्तरी नॉर्वे के यूनिवर्सिटी अस्पताल से समीक्षा लेखकों की वैज्ञानिक विशेषज्ञ टीम का कहना है कि कई अध्ययनों में ज्यादातर ठंडे पानी में तैराकी के फायदे को दर्शाया गया है लेकिन सवाल यह है कि अभी तक इसका पूरा आंकलन नहीं हुआ है कि यह स्वास्थ्य के लिए लाभकारी है या नहीं.

कहीं आप भी इन 7 बीमारियों के लक्षण को डिप्रेशन तो नहीं मान रहें, जरूर दें ध्यान

इन बातों पर दिया गया ध्यान
पिछले कुछ वक्त में ठंडे पानी में तैराकी के फायदे नुकसान इस पर शोधकर्ताओं की तेजी से रुचि बढ़ी है. शोधकर्ताओं ने अपनी शोध में यह जानने की कोशिश की कि जब कोई अचानक ठंडे पानी के संपर्क में आता है तो उसके शरीर में किस तरह के बदलाव देखने को मिलते हैं और यह लाभकारी हैं या फिर हानिकारक. शोध में अचानक तापमान के बदलाव का क्या है असर, शरीर में सूजन, ब्लड का संचरण, प्रतिरक्षा प्रणाली और ऑक्सीडेटिव तनाव पर विशेष ध्यान दिया गया.

सदमें की प्रक्रिया को ट्रिगर करता है
हालांकि इस शोध में भाग लेने वालों के प्रोफाइल अलग अलग थी. कुछ लोग तैराकी में एक्सपर्ट थे जबकि कुछ ऐसे लोग थे जिन्हें ठंडे पानी की आदत नहीं थी. शोधकर्ताओं का कहना है कि ठंडे पानी में डुबकी लगाने से शरीर पर एक बड़ा प्रभाव पड़ता है और हृदय गति में वृद्धि से यह हॉर्ट अटैक की प्रतिक्रिया को ट्रिगर करता है. हालांकि यह भी सामने आया कि जो लोग तैराकी में एक्सपर्ट और अनुभव वाले थे उनमें इसका पॉजिटिव असर दिखा.

बर्फीले पानी में डुबकी लगाने से जुड़े स्वास्थ्य जोखिमों पर भी शिक्षा की आवश्यकता है. इनमें हाइपोथर्मिया के परिणाम, और हृदय और फेफड़ों की समस्याएं शामिल हैं जो अक्सर ठंड की वजह से अचानक सदमें से संबंधित हैं.

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें