Home /News /lifestyle /

Coronavirus: क्या संक्रमित व्यक्ति फिर से हो सकता है कोरोना पॉजिटिव, जान लें जरूरी बातें

Coronavirus: क्या संक्रमित व्यक्ति फिर से हो सकता है कोरोना पॉजिटिव, जान लें जरूरी बातें

वैज्ञानिकों और शोधकर्तां ने अनुमान लगाया था कि जब एक क्षेत्र की 60-70 फीसदी आबादी वायरस के संपर्क में आकर ठीक होगी, तो महामारी तेजी से कम होने लगेगी. (सांकेतिक फोटो)

वैज्ञानिकों और शोधकर्तां ने अनुमान लगाया था कि जब एक क्षेत्र की 60-70 फीसदी आबादी वायरस के संपर्क में आकर ठीक होगी, तो महामारी तेजी से कम होने लगेगी. (सांकेतिक फोटो)

कुछ डॉक्टर्स का यह मानना है कि कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण से ठीक होने के बाद व्यक्ति जब दोबारा से संक्रमित होता है तो यह और अधिक गंभीर हो सकता है.

  • Myupchar
  • Last Updated :


    कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के आते ही दुनियाभर के वैज्ञानिक इस पर रिसर्च कर रहे हैं. इन रिसर्च में नई-नई बातें सामने आ रही हैं. कई लोग जो कोरोना वायरस से ठीक हो चुके हैं, उन लोगों के मन में यह सवाल है कि क्या वे दोबारा इस वायरस से संक्रमित हो सकते हैं? आइए जानते हैं कि इस बारे में डॉक्टर और वैज्ञानिक क्या कहते हैं और उनके द्वारा की गई किए गए शोध क्या बताती है.

    कोरोना कर सकता है दोबारा संक्रमित?

    myUpchar के अनुसार, ऐसे बहुत से लोग हैं, जो कोरोना वायरस से ठीक होने के बाद फिर से संक्रमित हो रहे हैं. कुछ डॉक्टर्स का यह मानना है कि कोरोना वायरस के संक्रमण से ठीक होने के बाद व्यक्ति जब दोबारा से संक्रमित होता है तो यह और अधिक गंभीर हो सकता है. वहीं, इसके विपरीत कुछ विशेषज्ञ कहते हैं कि कई लोगों में कोरोना वायरस होने पर हर्ड इम्युनिटी विकसित हो जाती है, जिससे उन्हें दोबारा कोरोना वायरस का खतरा पहले से काफी कम हो जाता है. हालांकि, कोरोना वायरस महामारी को आए हुए करीब एक साल के आसपास का समय हो चुका है, इसलिए अभी इस पर कई अध्ययन होना बाकी है. 8 महीने के अवधि में इस वायरस पर अब तक जो शोध हुए हैं, उसके मुताबिक कोरोना वायरस अन्य पुराने वायरस की तरह ही व्यवहार कर रहा है.

    दोबारा संक्रमित होने पर कम हो सकता है खतरा

    कई वैज्ञानिकों का यह मानना है कि कोरोना वायरस की वैक्सीन आने के बाद लोगों में हर्ड इम्युनिटी विकसित होती है. यदि यह वायरस किसी व्यक्ति पर दोबारा अटैक करता है तो इससे उनमें संक्रमित होने के बाद खतरा कम हो जाएगा, इसका कारण है कि किसी वायरस से संक्रमित होने के बाद व्यक्ति में T-सेल्स विकसित हो जाते हैं और यह लंबे समय तक काम करती है, जिससे दोबारा संक्रमित होने पर यह सेल्स उस वायरस से लड़ने में मदद करती है.

    कोरोना से ठीक होने के बाद की समस्याएं

    जो लोग कोरोना से ठीक हो गए हैं, उनमें से अधिकांश लोगों में इसके कई तरह के साइड इफेक्ट्स देखने को मिल रहे हैं. कुछ लोगों में कोरोना से ठीक होने के बाद भी थकान बनी रहती है. दरअसल, इसका कारण यह है कि वायरस के खिलाफ जब इम्युनिटी लड़ती है तो यह कमजोर हो जाती है, जिससे व्यक्ति को थकान होने लगती है. कई लोगों में फेफड़े खराब होने के मामले भी सामने आए हैं. वहीं, कुछ लोगों के फेफड़े पूरी तरह से खराब होने की वजह से फेफड़े इम्प्लांट करने की जरूरत पड़ती है.

    पहले से कमजोर इम्युनिटी वालों को है ज्यादा खतरा

    myUpchar के अनुसार, जो लोग पहले से किसी गंभीर बीमारी से ग्रसित हैं, उन्हें कोरोना से ठीक होने के बाद अन्य समस्याएं हो सकती हैं. शारीरिक समस्या वाले मरीजों की इम्युनिटी पहले से ही कमजोर होती है, इसलिए कोरोना वायरस इन पर गंभीर रूप से अटैक कर सकता है.अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, कोरोना वायरस संक्रमण के लक्षण, कारण, बचाव और इलाज  पढ़ें. न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं. सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है. myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं.

    undefined

    Tags: Corona Health and Fitness, Coronavirus, Health, Health tips

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर