यूरिक एसिड बढ़ने पर न खाएं गोभी और मशरूम, इन फूड आइटम्स में होता है प्यूरीन

राजमा, हरा मटर, पालक, दाल और अधिक फैट वाले पदार्थ जैसे दूध व दही आदि में भी प्यूरीन की मात्रा अधिक होती है.
राजमा, हरा मटर, पालक, दाल और अधिक फैट वाले पदार्थ जैसे दूध व दही आदि में भी प्यूरीन की मात्रा अधिक होती है.

मशरूम (Mushroom) और पत्तागोभी (Cabbage) में प्यूरीन (Purine) अधिक मात्रा में पाया जाता है, इसलिए डॉक्टर यूरिक एसिड (Uric Acid) बढ़ने पर गोभी और मशरूम न खाने की सलाह देते हैं.

  • Last Updated: November 6, 2020, 6:42 AM IST
  • Share this:


शरीर में यूरिक एसिड को बढ़ाने में शराब और नॉनवेज जैसी चीजें जिम्मेदार होती हैं. शरीर में यूरिक एसिड के बढ़ने से दूसरे अंगों पर बुरा असर पड़ता है. myUpchar के अनुसार, यूरिक एसिड की अधिकता की वजह से जोड़ों में दर्द, शरीर में सूजन, किडनी की बीमारी और मोटापा जैसी कई समस्याएं हो सकती है. यूरिक एसिड बढ़ने पर ब्लड प्रेशर, थायराइड और डायबिटीज जैसी घातक बीमारियों का खतरा भी होता है. हालांकि, शरीर में पहले से ही यूरिक एसिड की कुछ मात्रा होती है, जो 3.5 से 7.2 मिलीग्राम प्रति डेसीलीटर तक हो सकती है. यदि इससे ज्यादा यूरिक एसिड की मात्रा पाई गई, तो इसे हाई यूरिक एसिड की समस्या कहा जाता है. यूरिक एसिड शरीर में मौजूद प्यूरीन नामक प्रोटीन के टूटने से बनता है. शरीर में यूरिक एसिड ज्यादा ना बढ़े, इसके लिए उन चीजों के सेवन से बचना चाहिए, जिनमें प्यूरीन की मात्रा अधिक होती है.
मशरूम और पत्तागोभी से करें परहेज

मशरूम और पत्तागोभी में प्यूरीन अधिक मात्रा में पाया जाता है, इसलिए डॉक्टर यूरिक एसिड बढ़ने पर गोभी और मशरूम न खाने की सलाह देते हैं. इसके अतिरिक्त राजमा, हरा मटर, पालक, दाल और अधिक फैट वाले पदार्थ जैसे दूध व दही आदि में भी प्यूरीन की मात्रा अधिक होती है. इसलिए इन चीजों से भी परहेज करना चाहिए.


इन चीजों के सेवन से बचें



जिन लोगों के शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है, उन्हें चीनी के सेवन से बचना चाहिए. एक शोध में पाया गया कि जो लोग ऐसे आहार लेते हैं, जिसमें फ्रूक्टोज की मात्रा अधिक होती है, उन्हें गाउट की बीमारी हो सकती है. इसके अतिरिक्त नॉनवेज, सीफूड और शराब जैसी चीजों के सेवन से बचना चाहिए, क्योंकि इन सबमें प्यूरीन की मात्रा अधिक होती है, जिससे शरीर में यूरिक एसिड बढ़ने का खतरा होता है.


यूरिक एसिड को कम करने में सहायक होंगे यह उपाय


  • myUpchar के अनुसार, ब्लैक चेरी का जूस पीने से यूरिक एसिड कम होता है. यह गठिया या किडनी स्टोन की समस्या से ग्रसित मरीजों के काफी फायदेमंद नुस्खा है. ब्लैक चेरी में एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेंटरी गुण पाए जाते हैं, जो यूरिक एसिड को कम करने में मदद करते हैं.

  • यूरिक एसिड को नियंत्रित रखने का सबसे अच्छा तरीका ज्यादा से ज्यादा पानी पीना है. वास्तव में पानी यूरिक एसिड को पतला करता है, जिससे शरीर से यूरिक एसिड पेशाब के माध्यम से बाहर निकल जाता है.

  • सेब का सिरका शरीर से यूरिक एसिड को कम करने में मदद करता है. इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट और एंटीइंफ्लेमेंटरी गुणों के कारण यह शरीर में क्षारीय एसिड संतुलन को बनाए रखता है. सेब का सिरका खून के पीएच स्तर को बढ़ाकर, यूरिक एसिड को कम करने में मदद करता है.

  • जैतून के तेल से बना भोजन शरीर के लिए लाभदायक होता है. इसमें विटमिन ई की भरपूर मात्रा होती है, जो यूरिक एसिड को कम करता है.

  • मसूर की दाल, बींस, सोयाबीन और टोफू आदि के सेवन से भी यूरिक एसिड कम होता है.अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, यूरिक एसिड बढ़ना पढ़ें.न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं. सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है. myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं.


अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको होने वाले किसी भी तरह से संभावित नुकसान के लिए ना तो myUpchar और ना ही News18 जिम्मेदार होगा।

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज