आसान है पीलिया से बचाव, बस रखना होगा इन बातों का ध्यान

आसान है पीलिया से बचाव, बस रखना होगा इन बातों का ध्यान
पीलिया (Jaundice) में अंग पीले पड़ने लगते हैं. दरअसल, यह हेपेटाइटिस ए (Hepatitis A) का संक्रमण होता है. यह संक्रमण अपने आसपास के वातावरण में फैले प्रदूषण या गंदगी के कारण होता है.

पीलिया (Jaundice) में अंग पीले पड़ने लगते हैं. दरअसल, यह हेपेटाइटिस ए (Hepatitis A) का संक्रमण होता है. यह संक्रमण अपने आसपास के वातावरण में फैले प्रदूषण या गंदगी के कारण होता है.

  • Myupchar
  • Last Updated : November 26, 2020, 10:16 am IST
  • Share this:



    बारिश और सर्दी के मौसम में अक्सर संक्रामक बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है. बारिश के मौसम में पेयजल गंदा होने के कारण पीलिया (Jaundice) भी अपने चरम पर पहुंच जाता है. पीलिया कोई बीमारी नहीं है, बल्कि यह बीमार होने का लक्षण है. पीलिया में शरीर के अंग, नाखून, आखें आदि पीले हो जाते हैं. पीलिया हेपेटाइटिस संक्रमण है, जिसे कुछ सावधानियां बरतने से रोका जा सकता है. आइए जानते हैं किन बातों का ध्यान रखकर पीलिया से बचा जा सकता है.

    हेपेटाइटिस ए का संक्रमण है पीलिया



    myUpchar के अनुसार, पीलिया में अंग पीले पड़ने लगते हैं. दरअसल, यह हेपेटाइटिस ए का संक्रमण होता है. यह संक्रमण अपने आसपास के वातावरण में फैले प्रदूषण या गंदगी के कारण होता है. विशेषकर गंदे पानी का सेवन करने से यह जल्दी प्रभावित करता है. ब्ल्ड टेस्ट, मल की जांच और लिवर टेस्ट के जरिए पीलिया के बारे में पता लगाया जा सकता है.

    पीलिया से बचने के लिए जरूर कराएं टीकाकरण

    हाल ही में कई शोध में इस बात का पता चला है कि पीलिया से बचने के लिए टीकाकरण का इस्तेमाल किया जा सकता है. देशभर में पीलिया के टीकाकरण को लेकर जागरूकता भी फैलाई जा रही है.

    शराब के सेवन से बचें

    पीलिया से बचने के लिए शराब के सेवन से जरूर बचना चाहिए, क्योंकि शराब सीधे लिवर पर असर करती है. यदि शराब का नियमित रूप से सेवन किया जाए, तो लिवर कमजोर होने लगता है. शराब के अत्यधिक सेवन से लिवर की कोशिकाएं धीरे-धीरे मरने लगती है. यही कमजोरी बाद में हेपेटाइटिस ए या लिवर सिरोसिस के रूप में सामने आती है.

    शरीर का कोलेस्ट्रॉल लेवल रखें संतुलित

    जिन लोगों के शरीर में कोलेस्ट्रॉल लेवल असंतुलित रहता है और एलडीएल का स्तर बढ़ा होता है, उनमें पीलिया के संक्रमण का खतरा ज्यादा रहता है क्योंकि ऐसे लोगों का लिवर जल्दी कमजोर होता है. ऐसे में मौसमी बीमारियों का खतरा बढ़ने से संक्रमण का जोखिम भी बना रहता है.

    खानपान में इन बातों की रखें सावधानी

    पीलिया से बचने के लिए खानपान का विशेष ध्यान रखना होता है. लिवर कमजोर होने पर पीलिया का खतरा ज्यादा रहता है और इससे पाचन क्रिया भी प्रभावित होती है. ऐसे में हमेशा सुपाच्य भोजन का ही सेवन करना चाहिए. इसके अलावा आहार में फाइबर और प्रोटीन युक्त आहार की मात्रा बढ़ाना भी फायदेमंद हो सकता है. दूसरी तरफ, वसायुक्त भोजन के सेवन से बचें क्योंकि यह लिवर की कार्यक्षमता को प्रभावित कर सकता है.

    धूप सेवन करने के साथ इन बातों की रखें सावधानी

    myUpchar के अनुसार, पीलिया से बचने के लिए रोज धूप का सेवन जरूर करना चाहिए. धूप का सेवन करने से शरीर में विटामिन डी की आपूर्ति होती है. पीलिया के रोगियों को डॉक्टर धूप के सेवन करने की सलाह देते हैं. इसके अलावा छोटी मोटी शारीरिक परेशानी होने पर केमिकल युक्त दवाओं का सेवन नहीं करना चाहिए, क्योंकि ऐसी दवाओं में एस्टेराइड की मात्रा बहुत ज्यादा होती है, जिनका सेवन करना लिवर के लिए हानिकारक साबित हो सकता है. पीलिया से बचने के लिए कॉफी, लाल मिर्च, तंबाकू, बहुत अत्यधिक गरम मसाले या चाय आदि का असंतुलित सेवन भी नहीं करना चाहिए.अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, पीलिया पढ़ें. न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं. सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है. myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं.