नाश्ते में रोजाना करें ओट्स का सेवन, जान लें ये 5 बड़े फायदे

नाश्ते में रोजाना करें ओट्स का सेवन, जान लें ये 5 बड़े फायदे
ओट्स खाने के फायदे

ओट्स (Oats) में घुलनशील फाइबर (Fiber) की काफी मात्रा होती है जो कि पेट की समस्याओं के साथ-साथ हाई कोलेस्ट्रॉल (cholesterol)की समस्या को भी कम करने में मदद करता है.

  • Last Updated: June 30, 2020, 3:36 PM IST
  • Share this:


ओट्स यानी जई एक स्वस्थ साबुत अनाज का आदर्श उदाहरण है. यह संतुलित पोषण देने के साथ फाइबर और एंटीऑक्सिडेंट प्रदान करते हैं और इनमें अन्य अनाज की तुलना में अधिक प्रोटीन व स्वस्थ वसा होती है. myUpchar के डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला का कहना है कि सुबह नाश्ते में ओटमील खाना दिन शुरू करने का एक स्वस्थ और बढ़िया तरीका है. इसमें कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन का सही मिश्रण है जो ऊर्जा देता है. ओट्स फाइबर का अच्छा स्रोत है और साथ ही एक कप ओट्स में 10 ग्राम प्रोटीन भी होता है. ओट्स आखिर किस तरह से स्वास्थ्य के लिए लाभकारी हो सकता है, ये जानना जरूरी है.

कोलेस्ट्रॉल कम करने में



ओट्स में घुलनशील फाइबर की काफी मात्रा होती है जो कि पेट की समस्याओं के साथ-साथ हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या को भी कम करने में मदद करता है. हाई कोलेस्ट्रॉल दिल की बीमारियों का बड़ा संकेत है और दुनियाभर में वयस्कों की मौत की एक बड़ी वजह भी है. ओट्स में मौजूद बीटा-ग्लूकॉन बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करता है. यह एक अकेला ऐसा फाइबर है, जिसे शरीर अवशोषित कर सकता है. यह फाइबर प्राकृतिक रूप से खून में पहुंच रहे कोलेस्ट्रॉल को आगे बढ़ाता है. नियमित रूप से इसे खाने से बैड कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित किया जा सकता है. एक दिन में 5 ग्राम घुलनशील फाइबर का सेवन 5 प्रतिशत कोलेस्ट्रॉल घटा सकता है.



हाई बीपी कम करने में करता है मदद

myUpchar से जुड़े एम्स के डॉ. नबी वली का कहना है कि हाई ब्लड प्रेशर खतरनाक हो सकता है, क्योंकि इससे दिल का दौरा, दिल का रुक जाना और गुर्दे का रोग जैसी बीमारियां हो सकती हैं. रोजाना ओट्स का सेवन करने से हाई ब्लड प्रेशर के स्तर को नियंत्रित करने में मदद मिलती है. कुछ मामलों में तो हाई बीपी वाली दवाओं की जरूरत को कम करने में भी मदद करता है.

वजन कम करने के लिए

जब वजन कम करने की कोशिश कर रहे हैं तो खाने को लेकर तीव्र इच्छा चीजों को कठिन कर देती है, इसलिए जहां तक संभव हो खाने के बाद पेट भरा हुआ महसूस होना चाहिए है. एक बार फिर बीटा-ग्लूकॉन यहां मदद करता है, क्योंकि यह पेप्टाइड वायवाय (पीवायवाय) की रिलीज को बढ़ावा देता है. पीवायवाय एक हार्मोन है जिसे भोजन करने पर आंत रिलीज करती है. यह तृप्ति से जुड़ा एक हार्मोन है और अध्ययनों से पता चलता है कि यह कैलोरी की मात्रा को कम करता है और मोटापे का जोखिम कम करता है.

डायबिटीज में

ब्लड शुगर कम करने की कोशिश कर रहे हैं तो नियमित रूप से ओट्स का सेवन करें. घुलनशील फाइबर के रूप में बीटा-ग्लूकॉन ब्लड शुगर के स्तर के साथ-साथ ग्लूकोज के लिए इंसुलिन की प्रतिक्रिया में भी सुधार करता है. ऐसा इसलिए है क्योंकि बीटा-ग्लूकॉन द्वारा बनाया गया जेल पेट को आंतों में खाली कर देता है.

कब्ज से राहत

ओट्स का रोजाना सेवन आंतों के कार्यों को नियमित रखने में मदद करता है. इसमें बहुत अच्छी मात्रा में घुलनशील और अघुलनशील फाइबर होतं हैं. अघुलनशील फाइबर पाचन को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं. अघुलनशील पानी में नहीं घुलते हैं, जिससे यह मल को भारी बनाता है. इससे मल के बाहर निकलने की प्रक्रिया आसान होती है और कब्ज की शिकायत दूर होती है.

अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, शेफ विकास खन्ना से जानें ओट्स बनाने का तरीका पढ़ें.

न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं. सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है. myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं.

अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको होने वाले किसी भी तरह से संभावित नुकसान के लिए ना तो myUpchar और ना ही News18 जिम्मेदार होगा।

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading