अपना शहर चुनें

States

विटामिन-सी है बहुत फायदेमंद, लेकिन ज्यादा सेवन से हो सकते हैं नुकसान भी

विटामिन-सी (Vitamin-C) शरीर के लिए अच्छा होता है, लेकिन इसे अधिक लेने से नुकसान भी हो सकता है.
विटामिन-सी (Vitamin-C) शरीर के लिए अच्छा होता है, लेकिन इसे अधिक लेने से नुकसान भी हो सकता है.

विटामिन सी(Vitamin C) एक ऐसा विटामिन है जिसे अधिक लिया जा सकता है, लेकिन अधिक सेवन से सेहत पर माइल्ड साइड इफेक्ट्स (mild side effects) भी हो सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 22, 2021, 11:01 AM IST
  • Share this:
विटामिन -सी (Vitamin C) एक ऐसा विटामिन है जिसे आप अधिक ले सकतें हैं , लेकिन कहते हैं न कि अति किसी चीज की अच्छी नहीं होती फिर चाहे वो विटामिन्स ही क्यों न हो और शरीर के लिए जरूरी ही क्यों न हों. यह विटामिन -सी पर भी लागू होता है. यह एक एंटीऑक्सिडेंट है. ब्लड प्रेशर कम करने, इन्फ्लमेशन(Inflammation) से लड़ने और कोलेजन बनाने जैसे कई अहम कामों में मदद करता है. लेकिन इसे जरूरत से ज्यादा लेने पर सेहत पर इसके बुरा प्रभाव भी पड़ता है फिर चाहे वो हल्के ही क्यों न हों. ऐसे ही कुछ साइड इफेक्ट्स के बारे में हम यहां आपको बता रहे हैं.

कितना हो विटामिन-सी का डोजः

एडल्ट में आरडीए (RDA) के मुताबिक,पुरुषों को 90 मिलीग्राम  और महिलाओं को 75 मिलीग्राम विटामिन सी लेना चाहिए. एडल्ट अगर रोजाना 2,000 मिलीग्राम से अधिक विटामिन सी लेते हैं. उन्हें साइड इफेक्ट्स का सामना करना पड़ सकता है. इससे हल्की पाचन संबंधी समस्या आ सकती है.  उदाहरण के लिए, यदि कोई रोजाना  30-180 मिलीग्राम विटामिन सी लेता है, तो बॉडी इस विटामिन का लगभग 70-90 फीसदी ही सोख पाती है. कोई रोज 1 ग्राम से अधिकल विटामिन सी लेता है तो बॉडी उसका केवल 50 फीसदी से भी कम सोख पाती है. इससे बुरे प्रभावों का खतरा कम हो जाता है और बाकी बचा विटामिन यूरिन के रास्ते निकाल जाता है.



इसे भी पढ़ेंःठीक होने के बावजूद खराब हो जाता है कोरोना संक्रमित का फेफड़ा, डॉक्टर्स ने किया सनसनीखेज दावा
 माइल्ड साइड इफेक्ट्सः
सेप्लीमेंट्स से मिले विटामिन सी को बॉडी पूरी तरह से सोख नहीं पाती हैं. इस वजह से दस्त, जी मचलाना, पेट में ऐंठन,सूजन पेट की सामान्य परेशानी हो जाती हैं.

गंभीर साइड इफेक्ट्सः

डॉक्टरों का मानना ​​है कि विटामिन सी की अधिक डोज लेने से किडनी में स्टोन,न्यूट्रीएंट इसबैलेंस (Nutrient imbalances) जैसी समस्याएं आती हैं.

कितनी हो उम्र के अनुसार डोजः

1-3 साल की उम्र के शिशुओं के लिए 400 मिलीग्राम
4-8 साल के बच्चों के लिए 650 मि.ग्रा
9–13 साल के बच्चों के लिए 1,200 मिलीग्राम
14-18 साल के किशोरों के लिए 1,800 मिलीग्राम
14 से 18 साल की प्रेग्नेंट या ब्रेस्ट फीडिंग कराने वाली औरतों और किशोरो के लिए 1,800 मिलीग्राम  इसके अपवाद भी हो सकते हैं. कुछ लोगों मेडिकल ट्रीटमेंट के लिए डॉक्टर विटामिन सी की अधिक डोज लेने को भी कह सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज