होम /न्यूज /जीवन शैली /

दिल और दिमाग का 'दुश्मन' है जंक फूड, इन खतरनाक बीमारियों की बन सकता है वजह

दिल और दिमाग का 'दुश्मन' है जंक फूड, इन खतरनाक बीमारियों की बन सकता है वजह

बीमारियों से जूझ रहे लोगों को जंक फूड बिल्कुल नहीं खाना चाहिए.

बीमारियों से जूझ रहे लोगों को जंक फूड बिल्कुल नहीं खाना चाहिए.

अधिकतर लोग बड़े स्वाद के साथ पिज्जा और बर्गर खाते हैं. इससे सेहत बिगड़ने का खतरा रहता है. अत्यधिक फास्ट फूड का सेवन डायबिटीज और हार्ट डिजीज का रिस्क बढ़ा देता है. फास्ट फूड को जंक फूड भी कहा जाता है.

हाइलाइट्स

फास्ट फूड में पाया जाने वाला ट्रांस फैट ब्लड में बैड कोलेस्ट्रॉल का लेवल बढ़ा देता है
प्रोसेस्ड फूड में मौजूद रसायन शरीर में हार्मोन की फंक्शनिंग को प्रभावित करते हैं.

Fast Food Side Effects: आज के दौर में हर उम्र के लोगों को रेस्टोरेंट या फास्ट फूड कॉर्नर पर देखा जा सकता है. फास्ट फूड को जंक फूड भी कह सकते हैं. इसकी लोकप्रियता लगातार बढ़ती जा रही है. पिज्जा, बर्गर, पैटीज, पेस्ट्री, कुकीज, मोमोस, चाऊमीन समेत कई चीजें फास्ट फूड में शुमार की जाती हैं. सोडा, कोल्ड ड्रिंक, एनर्जी ड्रिंक को फास्ट फूड ड्रिंक माना जाता है. इन सभी चीजों को अगर कभी कभार खाया जाए तो इससे सेहत को नुकसान नहीं होता. अगर आप फास्ट फूड खाने के आदी हो चुके हैं और हर दिन इसे खाते हैं तो सेहत के लिए बड़ा खतरा हो सकता है.

यह भी पढ़ेंः डिनर में भूलकर भी न खाएं ये 5 फूड्स वरना हो जाएंगे बीमार

फास्ट फूड सेहत के लिए क्यों खतरनाक?
हेल्थलाइन की रिपोर्ट के मुताबिक फास्ट फूड में कैलोरी और एडेड शुगर की मात्रा ज्यादा होती है, जबकि पोषक तत्व बेहद कम होते हैं. फास्ट फूड में ट्रांस फैट होता है, जो शरीर के लिए नुकसानदायक माना जाता है. ज्यादा फैट, शुगर और नमक का कॉन्बिनेशन फास्ट फूड को स्वादिष्ट तो बना देता है लेकिन इससे हमारी बॉडी की फंक्शनिंग बुरी तरह प्रभावित होती है. यह तीनों चीजें कार्डियोवैस्कुलर सिस्टम पर दबाव बना देती हैं और लोग बीमार हो जाते हैं. बारिश के मौसम में अगर साफ सफाई का ध्यान रखा जाए तो फास्ट फूड टाइफाइड, हैजा और पीलिया जैसी बीमारियां भी फैला सकता है.

इन बीमारियों का बढ़ जाता है खतरा
कई स्टडी में यह बात सामने आ चुकी है कि फास्ट फूड में पाया जाने वाला ट्रांस फैट ब्लड में बैड कोलेस्ट्रॉल का लेवल बढ़ा देता है और गुड कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम कर देता है. इससे टाइप 2 डायबिटीज और हार्ट डिजीज का खतरा बढ़ा देता है. नमक की ज्यादा मात्रा बढ़ने से हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हो सकती है. फास्ट फूड में कैलोरी की मात्रा ज्यादा होती है जिसकी वजह से लोगों का वजन बढ़ जाता है और मोटापे का शिकार हो जाते हैं. इससे अस्थमा और अन्य श्वसन संबंधी बीमारियां होने का रिस्क बढ़ जाता है.

यह भी पढ़ेंः ब्रेन से जुड़ी हुई है ‘टाइप 3 डायबिटीज’ ! मेंटल हेल्थ के लिए बेहद खतरनाक

ब्रेन को बुरी तरह करता है प्रभावित
फास्ट फूड खाने से कुछ देर के लिए आपकी भूख शांत हो सकती है, लेकिन लंबे समय के लिए ऐसा करना खतरनाक होता है. जो लोग फास्ट फूड और प्रोसेस्ड पेस्ट्री खाते हैं, उनमें डिप्रेशन होने की संभावना अन्य लोगों की अपेक्षा 51% ज्यादा होती है. जंक फूड और फास्ट फूड में मौजूद तत्व आपकी प्रजनन क्षमता पर असर डाल सकते हैं. एक अध्ययन में पाया गया कि प्रोसेस्ड फूड में मौजूद रसायन शरीर में हार्मोन की फंक्शनिंग को प्रभावित करते हैं और रिप्रोडक्टिव कैपेसिटी कम हो जाती है.

Tags: Food, Health, Lifestyle, Trending news

अगली ख़बर