प्रसव के बाद बालों को झड़ने से रोकने में मदद करती है मेथी, जानें कैसे

गर्भावस्था (Pregnancy) के दौरान एस्ट्रोजन (Estrogen) का स्तर बढ़ा हुआ होता है और इसके कारण बालों के झड़ने की प्रक्रिया रुक जाती ही. उस समय महिला के बाल घने हो जाते हैं.
गर्भावस्था (Pregnancy) के दौरान एस्ट्रोजन (Estrogen) का स्तर बढ़ा हुआ होता है और इसके कारण बालों के झड़ने की प्रक्रिया रुक जाती ही. उस समय महिला के बाल घने हो जाते हैं.

गर्भावस्था (Pregnancy) के दौरान एस्ट्रोजन (Estrogen) का स्तर बढ़ा हुआ होता है और इसके कारण बालों के झड़ने की प्रक्रिया रुक जाती ही. उस समय महिला के बाल घने हो जाते हैं.

  • Last Updated: October 27, 2020, 1:12 PM IST
  • Share this:


किसी भी महिला के लिए मां बनना सबसे सुखद अहसास है. होने वाली मां का बच्चे को सुरक्षित रखने के लिए गर्भावस्था (Pregnancy) के दौरान पेट बढ़ता है. गर्भावस्था के दौरान एस्ट्रोजन (Estrogen) का स्तर अधिक होता है और यह मतली, थकान, कब्ज और अन्य गर्भावस्था से जुड़ी समस्या का कारण होता है. एस्ट्रोजन का बढ़ना भी एक कारण है जो गर्भावस्था के दौरान बालों के झड़ने को रोकता है. यही कारण है कि बाल गर्भावस्था के दौरान चमकते और मजबूत बने रहते हैं. एस्ट्रोजन के स्तर में गिरावट होने के साथ बालों का झड़ना शुरू हो जाता है.

myUpchar से जुड़े डॉ. अप्रतिम गोयल का कहना है कि आमतौर पर लोगों के प्रतिदिन कम से कम 70-100 बाल गिरते या झड़ते हैं, लेकिन चूंकि गर्भावस्था के दौरान एस्ट्रोजन का स्तर बढ़ा हुआ होता है और इसके कारण बालों के झड़ने की प्रक्रिया रुक जाती ही. उस समय महिला के बाल घने हो जाते हैं. जब महिला अपने बच्चे को जन्म देती हैं और एस्ट्रोजन का स्तर कम हो जाता है, तो बालों का गिरना शुरू हो जाता है. कई महिलाओं के डिलीवरी के बाद पहले महीने में ही बाल झड़ना शुरू हो जाते हैं जबकि अन्य महिलाओं की यह प्रक्रिया लगभग 3 महीने बाद शुरू होती है.



हालांकि, यह कोई ऐसी चीज नहीं है जिसके बारे में चिंता करनी चाहिए, लेकिन अगर लगता है कि अतिरिक्त बाल खो रहे हैं और यह बालों को रूखा बना रहा है, तो इस घरेलू उपाय को आजमाएं. अत्यधिक बालों के झड़ने को रोकने के लिए मेथी या मेथी के बीज का उपयोग करें. myUpchar से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला का कहना है कि मेथी एक लोकप्रिय जड़ी बूटी है. अधिक मात्रा में प्रोटीन होने के कारण मेथी बालों के विकास के लिए बहुत अच्छी है. प्रोटीन बालों को घना करने के साथ मजबूत और स्वस्थ भी बनाता है. यह बालों के रोम बनते हैं.
प्रसव के बाद यह बालों के झड़ने की परेशानी दूर करने का आजमाया और परखा हुआ तरीका है, लेकिन कुछ वैज्ञानिक व्याख्या भी है कि मेथी के बीज एक एंटी हेयर फॉल एजेंट के रूप में क्यों काम करते हैं. प्रसव के बाद बालों का झड़ना एस्ट्रोजन के स्तर में गिरावट का एक नतीजा है. मेथी में प्राकृतिक घटक होते हैं जो एस्ट्रोजन की भरपाई कर सकते हैं. फाइटोएस्ट्रोजन जिसमें कि एस्ट्रोजन के गुण होते हैं, मेथी जैसे पौधों में पाए जाते हैं.

मेथी के अर्क वाले तेल का इस्तेमाल करने से बालों के विकास में सुधार होता है और झड़ना रुकता है. अध्ययन से यह भी पता चलता है कि मेथी का अर्क बालों में  10 प्रतिशत वृद्धि में मदद करता है. हालांकि, मेथी के बीज और बालों के झड़ने की एक विशेष भूमिका स्थापित करने के लिए अधिक वैज्ञानिक डेटा की आवश्यकता होगी लेकिन अगर प्रसव के बाद बालों के झड़ने से परेशान है तो मेथी के बीज को जरूर अपनाएं.

ऐसे करें इस्तेमाल

एक छोटी कटोरी में थोड़ा तेल लें. नारियल तेल ज्यादा अच्छा रहेगा और इसमें कुछ मेथी के बीज भिगो दें. कुछ मिनट के लिए तेल गर्म करें और उसके बाद गुनगुना रखते हुए स्कल्प पर मसाज करें. नियमित रूप से ऐसा करने से बालों की ग्रोथ बढ़ेगी और झड़ना कम होगा.अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, बाल झड़ने से रोकने के घरेलू उपाय पढ़ें.न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं.सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है. myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं.

अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको होने वाले किसी भी तरह से संभावित नुकसान के लिए ना तो myUpchar और ना ही News18 जिम्मेदार होगा।

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज