होम /न्यूज /जीवन शैली /मोटापा कम करने और लेग टोनिंग के लिए फिटनेस ट्रेनर ने शेयर की 3 एक्सरसाइज

मोटापा कम करने और लेग टोनिंग के लिए फिटनेस ट्रेनर ने शेयर की 3 एक्सरसाइज

अगर आप सही एक्सरसाइज करते हैं, तो आपकी जांघें टोन्ड दिख सकती हैं. (फोटो-canva)

अगर आप सही एक्सरसाइज करते हैं, तो आपकी जांघें टोन्ड दिख सकती हैं. (फोटो-canva)

योगा ट्रेनर और फिटनेस इंफ्लूएंसर जूही कपूर ने हाल ही में अपनी नई इंस्टाग्राम पोस्ट पर फैट कम करने और लेग टोनिंग के लिए ...अधिक पढ़ें

जानकारों का मानना है कि बॉडीवेट एक्सरसाइज और कम कैलोरी वाली डाइट आपके वेट को करने वाले टारगेट तक पहुंचने में आपकी मदद कर सकते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि बॉडीवेट एक्सरसाइज एक अलग मसल्स को भी टारगेट कर सकती है और उन्हें टोंड करने में भी मदद कर सकती है. योगा ट्रेनर और फिटनेस इंफ्लूएंसर जूही कपूर ने हाल ही में अपनी नई इंस्टाग्राम पोस्ट पर फैट कम करने और लेग टोनिंग के लिए कुछ एक्सरसाइज शेयर की हैं. आप सोच रहे होंगे कि ये लेग्स टोनिंग क्या है? दरअसल, आपकी जांघों में फैट और मसल्स का सही बैलेंस आपको किसी भी ड्रेस में आकर्षक बना सकता है. चाहे वह ए-लाइन स्कर्ट हो या जींस, लेकिन आपको उसके लिए पतली जांघें नहीं रखनी चाहिए. अगर आप सही एक्सरसाइज करते हैं, तो आपकी जांघें टोन्ड दिख सकती हैं. कई लोग जानना चाहते हैं कि पैरों को टोंड कैसे करें? जांघों को टोंड करने की एक्सरसाइज कौन सी है?

योगा ट्रेनर जूही कपूर ने अपनी इंस्टाग्राम पोस्ट में लिखा, “तीन एक्सरसाइज आपके फैट कम करने के और टोंड लेग्स पाने के लक्ष्य में आपकी मदद करती है. ये एक्सरसाइज बिगिनर्स के लिए एकदम सही हैं, क्योंकि वे इसके लिए दीवार का सपोर्ट लेते हैं. जिससे आपको बेहतर बैलेंस बनाने और सही तरीके से करने में आसानी होती है.”

उन्होंने अपनी पोस्ट में इन एक्सरसाइज को कैसे करना है ये भी बताया है.

वॉल सिट-अप्स (मॉडिफाइड स्क्वॉट)
इसके तीन सेट्स की प्रैक्टिस करें. एक सेट एक मिनट का होना चाहिए. इसमें आपको अपने कूल्हों और कमर को दीवार के साथ सटाकर, कुर्सी पर बैठने की मुद्रा में ठहरना है. दोनों हाथ सामने होने चाहिए और दोनों को मिलाकर मुट्ठी बंद होनी चाहिए.

वॉल सपोर्टेड लंज्स
इस एक्सरसाइज में दीवार के सामने हाथ लगाकर उसे ढकेलने की मुद्रा में खड़ा होना है. दोनों घुटने एक दूसरे से 90 डिग्री पर होने चाहिए. एक पैर दीवार की तरफ होना चाहिए और दूसरी उसे धकेलने की मुद्रा में पीछे की तरफ, अब दीवार को धकेलना नहीं है, उसका सपोर्ट लेकर घुटने को नीचे लाना है. इसके तीन सेट करने है, हर सेट में 20 रैप होने चाहिए.

यह भी पढ़ें-
फिटनेस के लिए डेली लाइफ में शामिल करें ये 5 सस्‍ती चीजें, न्यूट्रिशनिस्ट लवनीत बत्रा ने खोला राज

वन लेग डेडलिफ्ट (वॉल सपोर्टेड)
इस एक्सरसाइज में दीवार के साथ खड़े होकर एक हाथ दीवार पर रखें और दूसरा हाथ थाई के पास रखें. और सामने की तरफ एक घुटने को उठकर पीछे की तरफ ले जाएं. जितनी बार पांव पीछे जाएगा उतनी बार सिर आगे आएगा. कूल्हों को चौकोर रखें. किसी भी तरफ झुकने से बचें. तीन सेट करने हैं, 20-20 रैप के.

ये कौन कर सकता है?
योग ट्रेनर जूही कपूर के अनुसार, “कोई भी इन एक्सरसाइज को कर सकता है. विशेष रूप से उन लोगों के लिए ये बहुत सूटेबल है जो जो बहुत मोटे हैं, क्योंकि आपको लो इम्पैक्ट वर्कआउट की आवश्यकता होती है. एक्सरसाइज की शुरुआत करने वाले भी इसे कर सकते हैं,  लेकिन प्रेग्नेंट महिलाओं को सावधानी बरतनी चाहिए और लास्ट वाली एक्सरसाइज से बचना चाहिए क्योंकि इसके लिए एक पैर पर बैलेंस बनाने की जरूरत होती है.

यह भी पढ़ें-
गर्मी में आंखों की हेल्थ बेहतर रखने के लिए ऐसे रखें इनका ख्याल

वहीं सीनियर सिटीजन सावधानी के साथ धीरे-धीरे प्रैक्टिस कर सकते हैं, और जिन लोगों को घुटने में दर्द होता है, उन्हें सलाह दी जाती है कि वे घुटनों और टखनों को एक लाइन में रखें; किसी भी एक्सरसाइज के दौरान किसी भी दर्द के मामले में इसे करने से बचें,”

किन्हें नहीं करना है
योग ट्रेनर का कहना है कि क्योंकि ये काफी सरल एक्सरसाइज है, इसलिए इसे करने से किसी को कोई नुकसान नहीं होगा, लेकिन फिर भी सलाह दी जाती है कि गंभीर जोड़ों के दर्द या गठिया, टखने या एड़ी में दर्द वाले मरीजों को इसे करने से बचना चाहिए.

Tags: Health, Health News, Lifestyle

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें