फ्रेंच किस करने से हो सकती है मौत, रिसर्च में हुआ खुलासा!

रिसर्च में यह बात सामने आई है कि गॉनोरिया साथी को किस करने से भी फैलता है. किस करने पर यह साथी के गले को बुरी तरह से प्रभावित कर सकता है.

News18Hindi
Updated: May 13, 2019, 11:55 AM IST
फ्रेंच किस करने से हो सकती है मौत, रिसर्च में हुआ खुलासा!
french kiss and deep kiss cause sexual transmitted disease gonorrhea
News18Hindi
Updated: May 13, 2019, 11:55 AM IST
साथी के बेहद करीब जाने पर प्रेम का एहसास हो गहरा हो ही जाता है लेकिन ऐसी कई गंभीर बीमारियों का खतरा रहता है जिन्हें सेक्शुअली ट्रांसमिटेड डिजीज std या सेक्शुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन sti कहा जाता है. यह बीमारी असुरक्षित यौन संबंध बनाने के कारण होती हैं. गॉनोरिया भी एक ऐसी ही बीमारी है जो साथी से असुरक्षित यौन संबंध बनाने की वजह से होती है. दुनिया भर में ये बीमारी काफी आम है जो ज्यादातर लोगों को होती है. हालांकि अधिकतर यह बीमारी जेनिटल्स से फैलती है. लेकिन हाल ही में हुई एक रिसर्च में जो बात सामने आई है वो होश उड़ाने वाली है.

Happy Birthday Sunny Leone: सनी के बर्थडे पर जानिए उनकी फिटनेस का राज और Secret Food मंत्रा!



रिसर्च में यह बात सामने आई है कि गॉनोरिया साथी को किस करने से भी फैलता है. किस करने पर यह साथी के गले को बुरी तरह से प्रभावित कर सकता है. दरअसल, इस सिलसिले में सेक्शुअली ट्रांसमिटेड इन्फेक्शन नामक एक पत्रिका में छपे शोध के अनुसार, फ्रेंच किस करने के दौरान बहुत देर तक साथी को चूमने और इस चुंबन के समय जीभ का इस्तेमाल करने से गॉनोरिया हो सकता है. यह बीमारी गे या बाइसेक्शुअल पुरुषों में भी फैलती है. यह बीमारी रेक्टम, गले और आंखों को भी प्रभावित कर सकती है. इस बीमारी को असाध्य माना जाता है जिसकी वजह है कि इसमें दवाएं बेअसर साबित होती हैं.



तुलसी के पास भूलकर भी न रखें ये सामान, हो जाएंगे गरीब!

जन स्वास्थ्य कैम्पेन में लोगों को सलाह दी गई कि गॉनोरिया को रोकने के लिए साथी के करीब जाने पर कॉन्डम का इस्तेमाल करना बेहतर रहता है. हालांकि शोध के परिणाम में ये बात सामने आई कि इस मामले में केवल परामर्श ही काफी नहीं है. बहुत देर तक साथी को चूमने या फ्रेंच किस करने पर गॉनोरिया के संक्रमण की संभावना बनी रहती है. इस सिलसिले में साल 2016-17 के बीच ऑस्ट्रेलिया के मेलर्बन में पब्लिक हेल्थ सर्विस ने करीब 3100 गे या बाइसेक्शुअल मर्दों के ब्लड सैंपल की जांच की और उसका निष्कर्ष एकत्र किए. दरअसल, गॉनोरिया हेट्रोसेक्शुअल्स की अपेक्षा बाइसेक्शुअल लोगों में फैलने वाली बीमारी है.

लाइफस्टाइल, खानपान, रिश्ते और धर्म से जुड़ी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करेंएक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

News18 चुनाव टूलबार

चुनाव टूलबार