• Home
  • »
  • News
  • »
  • lifestyle
  • »
  • HEALTH FROM PILES AND ITCHING TO DIABETES DODDERS OR CUSCUTA IS VERY BENEFICIAL KNOW HOW TO USE MYUPCHAR PUR

पाइल्स और खुजली से लेकर डायबिटीज के लिए भी फायदेमंद है आकाशबेल, जानें कैसे करें इस्तेमाल

खुजली की समस्या ठीक करने के लिए अमरबेल काफी उपयोगी होती है. खुजली वाले स्थान पर अमरबेल का लेप लगाने से खुजली ठीक होती है.

गंजेपन (Baldness) की समस्या दूर करने के लिए आकाशबेल (Cuscuta) को तिल के तेल में पीसकर सिर में अच्छी तरह से मालिश करनी चाहिए. इससे बालों की जड़ें मजबूत होती हैं और बाल टूटते भी नहीं हैं.

  • Myupchar
  • Last Updated :
  • Share this:


    आकाशबेल (Cuscuta) सिर के गंजेपन को दूर करने में एक बेहद ही कारगर औषधि (Medicine) मानी जाती है. बढ़ते प्रदूषण (Pollution) के कारण कई लोग गंजेपन की समस्या से पीड़ित हैं. लोग तरह-तरह के नुस्खे आजमाकर नए बाल (Hairs) उगाना चाहते हैं, लेकिन कोई भी नुस्खा असरदार नहीं हो पाता है. आज बाल लगाने की नई तकनीक भी उपलब्ध है. इसके भी कई साइड इफेक्ट होते हैं. यह तकनीक महंगी भी होती है, लेकिन हमारे आस पास ऐसी जड़ी-बूटियां मौजूद हैं, जिनसे कई शारीरिक समस्याओं का इलाज संभव है. ऐस ही एक जड़ी-बुटी है आकाशबेल, जानिए इसके बारे में.

    बहुत कोमल होती है आकाशबेल

    आकाशबेल में पत्ते नहीं होते हैं, यह काफी कोमल होती है. इसके फूल सफेद और फल छोटे होते हैं. myUpchar से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला के अनुसार, गंजेपन की समस्या दूर करने के लिए आकाशबेल को तिल के तेल में पीसकर सिर में अच्छी तरह से मालिश करनी चाहिए. इससे बालों की जड़ें मजबूत होती हैं और बाल टूटते भी नहीं हैं. आकाशबेल को अमरबेल भी कहा जाता है. 50 ग्राम आकाशबेल को पीसकर 1 लीटर पानी में उबालकर इस पानी से बालों को धोने पर भी बाल मजबूत और चमकदार बनते हैं. साथ ही रूसी भी दूर होती है.

    बबासीर के रोगी ऐसे बनाएं दवाई

    बवासीर के रोगियों के लिए आकाशबेल रामबाण औषधि है. 10 ग्राम आकाशबेल का रस और काली मिर्च का चूर्ण मिलाकर रोज सुबह-शाम खाने से बवासीर रोग ठीक हो जाता है और शरीर की सूजन भी दूर होती है. आकाशबेल की औषधि का प्रयोग केवल यहीं तक सीमित नहीं है, बल्कि इससे और भी कई शारीरिक समस्याओं का निदान किया जा सकता है.

    रक्त को शुद्ध करती है आकाशबेल

    खून को साफ करने में आकाश बेल का प्रयोग काफी गुणकारी होता है. 4 ग्राम आकाश बेल को पानी में डालकर इसका काढ़ा तैयार करें. इस काढ़े के नियमित रूप से सेवन करने से खून साफ होता है. खून साफ होने से अन्य त्वचा संबंधित बीमारियां ठीक हो जाती हैं और चेहरे पर मुंहासे भी नहीं आते हैं.

    लीवर ठीक करने में सहायक

    myUpchar से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला के अनुसार, अमरबेल का काढ़ा पीने से लीवर ठीक होता है. इसके अलावा आकाशबेल का 5 से 10 मिलीग्राम रस के सेवन से लीवर की समस्या दूर होती है. साथ ही कब्ज की समस्या में भी लाभ होता है.

    मधुमेह के रोगियों के लिए लाभदायक

    मधुमेह के रोगियों के लिए यह काफी गुणकारी औषधि है. आकाशबेल के बीजों का 5 ग्राम चूर्ण नियमित रूप से लेने पर मधुमेह रोग ठीक होता है. इससे खून में शुगर की मात्रा कम होती है.

    खुजली की समस्या दूर करें

    खुजली की समस्या को दूर करने में आकाश बेल का प्रयोग फायदेमंद होता है. बेल को पीसकर इसका लेप खुजली वाले स्थान पर लगाने से खुजली दूर होती है, साथ ही स्किन भी चमकदार हो जाती है.

    गठिया रोग में फायदेमंद

    बुजुर्गों में अक्सर गठिया रोग की समस्या देखी जाती है. आकाशबेल को गर्म करके गठिया के दर्द वाले स्थान पर सेंकने से दर्द दूर होता है और सूजन भी ठीक होती है. दरअसल इसकी सिकाई से मांसपेशियां में खिंचाव की समस्या कम होती है और रक्त संचालन भी सुचारू रूप से काम करने लगता है, जिससे बुजुर्गों को इससे तत्काल आराम मिलता है.अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, अमरबेल के फायदे और नुकसान पढ़ें. न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं. सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है. myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं.

    First published: