#काम की बात : गर्लफ्रेंड के साथ रिश्‍ते अच्‍छे हैं, लेकिन वो सेक्‍स के लिए राजी नहीं

सेक्‍स सलाह
सेक्‍स सलाह

अगर गर्लफ्रेंड सेक्‍स के लिए सहमत न हो तो उसकी असहमति का सम्‍मान करें. संबंध जबर्दस्‍ती या दबाव में नहीं, बल्कि आपसी रजामंदी और खुशी से होने चाहिए

  • Last Updated: August 21, 2018, 5:23 PM IST
  • Share this:
प्रश्‍न – मेरी उम्र 27 साल है. मेरी एक गर्लफ्रेंड है, जिसके साथ मैं पिछले दो साल से रिलेशनशिप में हूं. हमारे बीच बाकी सब ठीक है, लेकिन जब भी शारीरिक नजदीकी की बात आती है तो वह हमेशा पीछे हट जाती है. दो साल हो चुके हैं, लेकिन वह सेक्‍स के लिए बिलकुल तैयार नहीं. मैं क्‍या करूं?

 

भारतीय परिवेश मे पली-बढ़ी लड़कियां अकसर इन मामलों में थोड़ी संकोची होती हैं. उनको बचपन से ही यह सिखाया जाता है कि लड़कों से दूर रहना चाहिए और जो भी करना है, वो सिर्फ शादी के बाद और अपने पति के साथ ही करना है.



घरों में तो लड़कियों को आज भी यही संस्‍कार मिल रहे हैं, जबकि बाहर का माहौल और हमारा सिनेमा अब काफी हद तक बदल चुका है. अब लड़कियां कॉलेज जा रही हैं, कोएड में लड़कों के साथ पढ़ रही हैं और उनसे दोस्तियां और रिलेशनशिप भी हो रही हैं.
ऐसे में इस तरह की स्थितियां पैदा होना लाजिमी है. मुमकिन है, आपकी गर्लफ्रेंड को ऐसा लगता हो कि पता नहीं, ये रिलेशनशिप लंबे समय तक चल पाएगा या नहीं. पता नहीं, इस रिश्‍ते का अंत शादी में होगा या नहीं. इन्‍हीं सब वजहों से उनके मन में शारीरिक नजदीकी न बनाने का ख्‍याल हो सकता है.

मेरी आपको सलाह यही होगा कि अगर आपकी गर्लफ्रेंड नहीं चाहती है तो अभी आप इस मामले में थोड़ा संयम ही बरतें. वैसे भी अगर पार्टनर मानसिक और शारीरिक रूप से सेक्‍स के लिए तैयार नहीं है तो उस पर साथ शारीरिक या भावनात्‍मक, किसी प्रकार का दबाव नहीं बनाना चाहिए. उन्‍हें स्‍पेस दें, सोचने का मौका दें और उस वक्‍त तक इंतजार करें, जब वह खुद इस बात के लिए तैयार न हों और पहल न करें. बेहतर यही होता है कि महिला पार्टनर पर खुद को थोपने के बजाय उसकी हां और पहल का इंतजार किया जाए.

(डॉ. पारस शाह सानिध्‍य मल्‍टी स्‍पेशिएलिटी हॉस्पिटल, अहमदाबाद, गुजरात में चीफ कंसल्‍टेंट सेक्‍सोलॉजिस्‍ट हैं.) 

अगर आपके मन में भी कोई सवाल या जिज्ञासा है तो आप इस पते पर हमें ईमेल भेज सकते हैं. डॉ. शाह आपके सभी सवालों का जवाब देंगे.
ईमेल – Ask.life@nw18.com

ये भी पढ़ें-

#काम की बात : जब से मेरे पार्टनर का वजन बढ़ा है, हमारी सेक्स लाइफ खत्म हो गई है
#काम की बात : क्या स्त्रियों की यौन इच्छा का संबंध उनके मासिक चक्र से भी है ?
#काम की बात: मुझे ऑर्गज्म नहीं होता, दिक्कत कहां है, शरीर में या दिमाग में?
#काम की बात : पोर्न की आदत पोर्नोग्राफी की लत में बदल सकती है?
#काम की बात: अगर एक से ज्‍यादा लोगों से यौन संबंध हों तो एसटीडी हो जाता है?
#काम की बात: क्‍या पीरियड्स के समय सेक्‍स करने से भी प्रेगनेंसी हो सकती है?
#काम की बात: क्या सेक्स के समय लड़कों को भी पीड़ा हो सकती है?
# काम की बात : क्‍या देसी वियाग्रा लेने से शरीर पर बुरा असर पड़ता है ? 
# काम की बात : क्‍या पीरियड्स के समय सेक्‍स करने से बीमारी हो जाती है?
#काम की बात: क्‍या पीरियड्स के समय सेक्‍स करना सुरक्षित है?
#कामकीबात: कौन सी बात अंतरंग क्षणों को ज्यादा यादगार बना सकती है?
#कामकीबात: सेक्स के दौरान महिला साथी भी क्लाइमेक्स तक पहुंची, ये कैसे समझा जा सकता है? 
#कामकीबात: सेक्स-संबंध नीरस हो गया है. कभी मेरा मन नहीं करता तो कभी उसका

अन्य लेख पढ़ने के लिए नीचे लिखे Sexologists पर क्लिक करें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज