वजन घटाने वाले ग्रीन टी के हैं कुछ बड़े नुकसान, हो सकती हैं ये गंभीर बीमारियां!

ग्रीन टी ज्यादा पीने से भूख न लगना जैसी बीमारी भी हो सकती है. इसकी वजह से आप अंदर से कमजोर हो सकते हैं

News18Hindi
Updated: August 5, 2019, 2:02 PM IST
वजन घटाने वाले ग्रीन टी के हैं कुछ बड़े नुकसान, हो सकती हैं ये गंभीर बीमारियां!
ग्रीन टी ज्यादा पीने से भूख न लगना जैसी बीमारी भी हो सकती है. इसकी वजह से आप अंदर से कमजोर हो सकते हैं
News18Hindi
Updated: August 5, 2019, 2:02 PM IST
एक वक्त था जब लोग सुबह उठकर चाय खोजते थे, दूध वाली गाढ़ी चाय. लेकिन अब कुछ लोग ग्रीन टी खोजते हैं. सुबह बिस्तर से उठते ही उन्हें ग्रीन टी पीना होता है. वैसे ग्रीन टी वजन घटाने में काफी मददगार है और यही इसके तेजी से लोकप्रिय होने की वजह भी है. ग्रीन टी में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट वजन घटाने में मददगार होते हैं.

लेकिन क्या आप जानते हैं कि ग्रीन टी पीना, आपके स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक भी हो सकता है. अगर आप दो कप या इससे ज्यादा ग्रीन टी पीते हैं तो ये आपके लिए नुकसानदायक है. आइये जानते हैं कि ज्यादा ग्रीन टी पीने से आपको क्य –क्या नुकसान हो सकते हैं.

पेट की समस्या, अनिद्रा, उल्टी, दस्त –

ग्रीन में टी में कैफीन मौजूद होती है. अगर आप एक दो कप दिनभर में पी रहे हैं तो यह नुकसानदायक नहीं है लेकिन अगर आप ज्यादा पी रहे हैं तो आपको खतरनाक बीमारियां हो सकती है. इससे आपको पेट की समस्या और अनिद्रा जैसी गंभीर बीमारी हो सकती है. उल्टी, दस्त जैसी शिकायत भी हो सकती है.

भूख न लगना –

ग्रीन टी ज्यादा पीने से भूख न लगना जैसी बीमारी भी हो सकती है. इसकी वजह से आप अंदर से कमजोर हो सकते हैं.

पथरी होने की आशंका –
Loading...

ग्रीन टी में ऑक्जेलिक एसिड पाया जाता है जो गुर्दे में पथरी बनने का कारण हो सकता है. इसमें कैल्शियम, यूरिक एसिड, अमीनो एसिड और फास्फेट पाया जाता है जो ऑक्जेलिक एसिड के साथ मिलकर गुर्दे की पथरी के लिए जिम्मेदार होते हैं.

गर्भपात होने की आशंका –

ग्रीन टी के ज्यादा सेवन से गर्भपात की संभावनाएं बढ़ जाती है. गर्भवस्था में या फिर शि‍शु के जन्म के बाद भी ज्यादा ग्रीन टी पीना आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है.

आयरन की कमी -

ग्रीन टी का अत्यधि‍क सेवन करने से आपके शरीर में आयरन की कमी हो सकती है. ग्रीन टी में मौजूद टैनिन, खाद्य पदार्थों और पोषक तत्वों से होने वाले आयरन के अवशोषण में अवरोध उत्पन्न करता है.

टेस्टोस्टेरॉन की कमी –

एक शोध के मुताबिक ग्रीन टी के अधिक सेवन से शरीर में टेस्टोस्टेरॉन के स्तर में कमी होती है. शोध में यह बात भी सामने आई की इसकी मात्रा कम करने पर टेस्टोस्टेरॉन का स्तर सामान्य होता है. यानी ग्रीन टी पीजिए, लेकिन जरूरत से ज्यादा मत पीजिए, दिन में एक दो कप पीना ही ठीक है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए वेलनेस से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 5, 2019, 2:02 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...