लाइव टीवी

मधुमेह से बचना है तो आहार व कसरत दोनों है जरूरी

अफसर अहमद | आईएएनएस
Updated: May 9, 2015, 12:17 PM IST
मधुमेह से बचना है तो आहार व कसरत दोनों है जरूरी
टाइप-2 मधुमेह के जोखिम को कम करने को लेकर कुछ लोग सोचते हैं कि केवल रोजाना कसरत उनके लिए लाभकारी होगा, जबकि कुछ लोगों के मुताबिक कम कैलोरी लेने और वजन नियंत्रित रखने से यह रोग उन्हें नहीं होगा।

टाइप-2 मधुमेह के जोखिम को कम करने को लेकर कुछ लोग सोचते हैं कि केवल रोजाना कसरत उनके लिए लाभकारी होगा, जबकि कुछ लोगों के मुताबिक कम कैलोरी लेने और वजन नियंत्रित रखने से यह रोग उन्हें नहीं होगा।

  • Share this:
न्यूयॉर्क। टाइप-2 मधुमेह के जोखिम को कम करने को लेकर कुछ लोग सोचते हैं कि केवल रोजाना कसरत उनके लिए लाभकारी होगा, जबकि कुछ लोगों के मुताबिक कम कैलोरी लेने और वजन नियंत्रित रखने से यह रोग उन्हें नहीं होगा। लेकिन एक नए शोध के मुताबिक, इन सबको एक साथ अपनाने पर ही आप इस रोग से दूर रह पाएंगे। अमेरिका के सेंट लुइस युनिवर्सिटी में एसोसिएट प्रोफेसर एडवर्ड वीस ने कहा कि अभी भी लोगों का मानना है कि बस उनका वजन नियंत्रण में रहे, उन्हें इससे फर्क नहीं पड़ता कि उनका आहार क्या है।

वहीं, दूसरी तरफ कुछ लोग उपर्युक्त आहार लेते हैं, लेकिन कसरत से खुद को दूर रखते हैं। वीस ने उल्लेख किया कि अध्ययन के मुताबिक, आप तभी स्वस्थ रह सकते हैं, जब सही आहार लेते हैं और साथ में रोजाना कसरत करते हैं।

अध्ययन के दौरान शोधकर्ताओं ने पाया कि कसरत और उचित मात्रा में कैलोरी दोनों से ही मधुमेह का जोखिम कम होता है। अध्ययन में इस बात का खुलासा हुआ कि कसरत व सही मात्रा में आहार का ग्लूकोरेग्युलेशन (शरीर में शर्करा की नियंत्रण प्रक्रिया) पर लाभकारी प्रभाव पड़ता है।

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए हेल्थ & फिटनेस से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 9, 2015, 12:15 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading