होम /न्यूज /जीवन शैली /

एक्सरसाइज के दौरान कैसे पहचानें हार्ट अटैक के लक्षण? एक्सपर्ट से जान लीजिए

एक्सरसाइज के दौरान कैसे पहचानें हार्ट अटैक के लक्षण? एक्सपर्ट से जान लीजिए

जिम हमेशा क्वालिफाइड ट्रेनर के अंडर ही करनी चाहिए.

जिम हमेशा क्वालिफाइड ट्रेनर के अंडर ही करनी चाहिए.

हार्ट अटैक आने पर तुरंत पीड़ित व्यक्ति की मदद न की जाए तो उसकी जान जा सकती है. जिम जॉइन करने से पहले सभी लोगों को अपना हेल्थ चेकअप जरूर कराना चाहिए ताकि हार्ट अटैक जैसी घटनाओं से बचा जा सके.

हाइलाइट्स

कई बार जिम की वजह से हार्ट की ईसीजी में बदलाव आ जाते हैं.
स्वस्थ व्यक्तियों को भी हेल्थ चेकअप के बाद ही जिम जाना चाहिए.

Heart Attack Symptoms in Gym: हेल्दी और फिट रहने के लिए लोग जिम में जाकर एक्सरसाइज करना पसंद करते हैं. हर दिन एक्सरसाइज करने से हमारे शरीर को कई फायदे होते हैं, लेकिन इस दौरान गलतियां करने से बचना चाहिए. जिम शुरू करने से पहले सभी उम्र के लोगों को हेल्थ से जुड़ी जरूरी बातें जान लेनी चाहिए. कुछ गलतियों की वजह से लोग जिम करते वक्त हार्ट अटैक और कार्डियक अरेस्ट का शिकार हो जाते हैं. इसके अलावा भी कई परेशानियां हो सकती हैं. आज कार्डियोलॉजिस्ट से जानेंगे कि जिम करते वक्त हार्ट अटैक के क्या लक्षण हो सकते हैं और ऐसी कंडीशन में क्या कदम उठाने चाहिए.

जिम के दौरान हार्ट अटैक की ऐसे करें पहचान
नई दिल्ली के अपोलो हॉस्पिटल की कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. वनीता अरोरा के मुताबिक एक्सरसाइज करने के दौरान सीने में दर्द, भारीपन, बेचैनी, सांस लेने में ज्यादा दिक्कत, अचानक हांफना और चेस्ट पर बहुत ज्यादा प्रेशर महसूस होना हार्ट अटैक के लक्षण हो सकते हैं. कई बार व्यक्ति इस वजह से अचानक बेहोश होकर गिर जाता है. अगर आप हार्ट डिजीज से जूझ रहे हैं तो जिम जॉइन करने से पहले कार्डियोलॉजिस्ट से जरूर कंसल्ट करें. ऐसा न करना जानलेवा हो सकता है. स्वस्थ व्यक्तियों को भी हेल्थ चेकअप के बाद ही जिम जाना चाहिए.

हार्ट अटैक के लक्षण दिखने पर क्या करें?
डॉ. वनीता अरोरा कहती हैं कि एक्सरसाइज के दौरान सीने में दर्द और हार्ट अटैक के लक्षण दिखने शुरू हो जाए तो उसी वक्त जिम बंद कर दें और अपने आसपास मौजूद लोगों से मदद मांगें और जल्द से जल्द नजदीकी अस्पताल पहुंचकर इलाज शुरू करवाएं. हार्ट अटैक या कार्डियक अरेस्ट के बाद शुरुआती कुछ मिनट में मदद मिल जाए तो जान बचाई जा सकती है. अगर कोई व्यक्ति बेहोश हो गया है, तो उसे सीपीआर देना चाहिए और एंबुलेंस को कॉल करना चाहिए.

यह भी पढ़ेंः हार्ट की बीमारियों से बचने के लिए इन 5 बातों का रखें ख्याल, टेंशन फ्री रहेगी जिंदगी

हार्ट अटैक से बचने के लिए बरतें ये सावधानियां
कार्डियोलॉजिस्ट के मुताबिक जिन लोगों की उम्र 30 या 40 साल से ज्यादा है, उन्हें वेट लिफ्टिंग, कार्डियो, वेट ट्रेनिंग, ट्रेडमिल करने से पहले कार्डियक कंसल्टेंट जरूर करना चाहिए. कई बार जिम की वजह से हमारे हार्ट की ईसीजी में बदलाव आते हैं, लेकिन लोग उन्हें नजरअंदाज कर देते हैं. ऐसा करने से हार्ट अटैक आ जाता है. आज के दौर में यंग लोगों में भी कोरोनरी आर्टरी डिजीज हो जाती है, इसलिए हार्ट को लेकर किसी भी उम्र में लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए. यंग लोगों को भी हार्ट स्पेशलिस्ट से मिलने के बाद ही जिम करनी चाहिए. इसके अलावा बॉडी बनाने के लिए किसी भी तरह का सप्लीमेंट लेने से भी बचना चाहिए. इसका हार्ट पर बुरा असर होता है.

यह भी पढ़ेंः इस उम्र के लोगों को कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का खतरा सबसे ज्यादा, जानें रिस्क फैक्टर

Tags: Gym, Health, Heart attack, Lifestyle, Trending news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर