होम /न्यूज /जीवन शैली /बिना दवाओं के भी ठीक हो सकती है हाई ब्लड प्रेशर की समस्या, डेली रूटीन में करने पड़ें ये काम

बिना दवाओं के भी ठीक हो सकती है हाई ब्लड प्रेशर की समस्या, डेली रूटीन में करने पड़ें ये काम

बीपी की समस्या में डेली रूटीन में कई तरह के बदलाव करने पड़ते हैं.

बीपी की समस्या में डेली रूटीन में कई तरह के बदलाव करने पड़ते हैं.

Home Remedies for High BP: शरीर के सभी अंग ठीक से काम करते रहे इसलिए एक निश्चित प्रेशर के साथ खून का बहाव जरूरी है लेकि ...अधिक पढ़ें

Home Remedies for High BP: हाई बीपी की समस्या को पहले बुजुर्गों की बीमारी के तौर पर जाना जाता था लेकिन, अब यह एक आम शारीरिक समस्या हो गई है. बदलती जीवनशैली और खान पान की वजह से बच्चे से लेकर बुजुर्ग तक अब हाई बीपी की समस्या से पीड़ित रहते हैं. शारीरिक स्वास्थ्य के लिए हाई बीपी के खतरनाक बीमारी हो सकती है क्योंकि इससे हार्ट अटैक और स्ट्रोक जैसी स्थिति पैदा हो सकती है इसलिए हाई बीपी को कंट्रोल करना बहुत जरूरी है.

क्या है हाई बीपी की समस्या
हमारा हृदय धमनियों के माध्यम से पूरे शरीर में खून को भेजता है. शरीर के सभी अंग ठीक से काम करते रहे इसलिए एक निश्चित प्रेशर के साथ खून का बहाव जरूरी है लेकिन जब धमनियों में दबाव बढ़ जाता है को इससे ब्लड सर्कुलेशन प्रभावित होने लगता है. धमनियों में दबाव बढ़ने पर हाई ब्लड प्रेशर की समस्या होती है और अगर यही दबाव कम होता है तो बीपी लो हो जाता है.

प्रिवेंशन डॉट काम की खबर के अनुसार पूरे शारीरिक स्वास्थ्य के लिए ब्लड प्रेशर को कंट्रोल रखना बहुत जरूरी है. वैसे तो हेल्थ एक्सपर्ट हाई बीपी को कम करने के लिए दवाइयां देते हैं लेकिन कुछ ऐसे आयुर्वेदिक और घरेलू उपाय है जिनसे हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल किया जा सकता है…आइए जानते हैं इनके बारे में…

– हाई बीपी की समस्या में नमक का सेवन बेहद कम मात्रा में करे. अगर संभव हो तो नमक को पूरी तरह से ही छोड़ दें.

– हाई बीपी में काफी और चाय का सेवन भी नुकसानदायक है.

कई बीमारियों की वजह बन सकता है आर्टिफिशियल स्वीटनर, सावधानी से करें इसका इस्तेमाल

– अगर आप लो बीपी से पीड़ित हैं तो एक दिन में 2000 से 4,000 मिली ग्राम पोटेशियम का सेवन करें. अगर हाई बीपी है तो पोटेशियम की मात्रा कम लें.

– हाई बीपी को कंट्रोल करने में डार्क चाकलेट भी मददगार होती है. डार्क चाकलेट में फ्लेवनोल्स होता है जो धमनियों को आराम देता है. कई अध्ययन में यह पता चला है कि अगर आप नियमित रूप से डार्क चाकलेट खाते हैं तो इससे बीपी कंट्रोल में रहता है. हालांकि यह हाईबीपी को कंट्रोल करने की मुख्य रणनीति नहीं हो सकती.

– शराब बीपी को बढ़ाता है इसलिए अगर आप ब्लड प्रेशर के मरीज हैं तो आपको अल्कोहल से दूरी बनानी होगी.

ज्यादा गुड़ खाने से आपकी सेहत हो सकती है खराब, सर्दियों में संभलकर करें सेवन, जानें इसके नुकसान

– बीपी की समस्या से बचने के लिए संतुलित पौष्टिक आहार का सेवन करना होगा. साबुत अनाज , ताजे फल और सब्जियां, कम फैट वाले भोजन से बीपी डाउन होता है.

– लगातार देर तक एक ही जगह पर बैठन से भी बीपी की समस्या बढ़ती है. इसलिए जरूरी है कि आपको ऐसा कुछ भी काम नहीं करना है जिसमे लगातार बैठना पड़े. अगर आप ऐसा काम करते हैं तो ध्यान रहे कि हर 30 मिनट में एक दो मिनट का ब्रेक लें और शारीरिक गतिविधि करें.

– हाई बीपी की समस्या में प्रोटीन रिच फूड्स का इस्तेमाल करना चाहिए. शोध बताते हैं कि रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट्स की जगह सोया या दूध रक्तचाप को कम करता है.

– हाई ब्लड प्रेशर से बचने के लिए हर दिन कम से कम 25-30 मिनट तक का व्यायाम करना बेहद जरूरी है.

– शरीर को हाइड्रेट रखने के लिए रोजाना अधिक मात्रा में पानी पिएं. प्रतिदिन 8-10 गिलास पानी पीकर ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में रखा जा सकता है.

Tags: Health, Home Remedies, Lifestyle

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें