कलाई और कंधे में है दर्द तो रोज करें ये 7 एक्सरसाइज, मिलेगा फायदा

मांसपेशियों में दर्द और तनाव को कम करने के लिए कंधे का व्यायाम जरूरी है, इससे कंधे में लचीलापन आता है.
मांसपेशियों में दर्द और तनाव को कम करने के लिए कंधे का व्यायाम जरूरी है, इससे कंधे में लचीलापन आता है.

कभी-कभी कलाई (Wrist), कंधे (Shoulder) या बांह में दर्द होने लगता है. कई बार एक ही अवस्था में ज्यादा समय तक मोबाइल (Mobile) इस्तेमाल करने से भी कलाई में दर्द होने लगता है.

  • Last Updated: November 10, 2020, 5:49 AM IST
  • Share this:

दिनचर्या के लगभग सभी कार्यों में हाथों का इस्तेमाल होता है. हर छोटे से बड़े कामों को करने के लिए हाथ (Hands) के सहारे की जरूरत होती है. यही कारण है कि कभी-कभी कलाई (Wrist), कंधे (Shoulder) या बांह में दर्द होने लगता है. कई बार एक ही अवस्था में ज्यादा समय तक मोबाइल (Mobile) इस्तेमाल करने से भी कलाई में दर्द होने लगता है. हाथों के दर्द से छुटकारा पाने के लिए कुछ एक्सरसाइज जरूरी है. आइए जानते हैं इन व्यायामों के बारे में.


कलाई की एक्सरसाइज


  • सबसे पहले बाजू को एक मेज पर रखें. अब अपने हाथ को मेज के किनारे से लटकाए. फिर अपनी कलाई ऊपर नीचे करते रहे. यह एक्सरसाइज बारी-बारी से दोनों हाथों से करें.

  • दूसरी एक्सरसाइज में अपने बाजू को मेज पर रखें और अपने हाथ को मेज के किनारे से लटकाएं, अब अपनी कलाई को दाएं ओर (घड़ी की दिशा में) थोड़ी देर घुमाएं. फिर कुछ देर बाईं ओर (घड़ी की विपरीत दिशा) घुमाएं.



  • तीसरी एक्सरसाइज में दोनों हाथों और बाजू को मेज पर रखें. हथेली नीचे की ओर होनी चाहिए. इसके बाद अपने हाथ को बाएं से दाएं ले जाएं फिर दाएं से बाएं ले जाएं. ध्यान रहे, इस दौरान कोहनी या बाजू हिलना नहीं चाहिए. यह प्रक्रिया 8 से 10 बार दोहराएं.


बाजू के लिए एक्सरसाइज (पुशअप)


  • पुशअप सिर्फ छाती ही नहीं बल्कि हाथ के लिए भी असरदार है. इसमें शरीर की अधिकांश मांसपेशियों का उपयोग होता है. यदि इसे बेहतर तरीके से किया जाए तो यह मांसपेशियों की टोनिंग करता है, कैलोरी बर्न करता है और बाजू मजबूत होती है.

  • करने का तरीका : आप बेंच, टेबल या बेड के किनारे के सामने खड़े हो जाएं. बेंच के किनारों पर अपने दोनों हाथों को हल्का सा फैलाकर रखें, इनकी चौड़ाई कंधों से थोड़ी ज्यादा होनी चाहिए. इसमें आपकी कोहनी जकड़ी (कसी) हुई नहीं होनी चाहिए. अपने पैरों को इस तरह रखें, जिससे आपका शरीर पूरी तरह एक सीधी रेखा में हो.
    धीरे-धीरे अपनी कोहनियों को मोड़िए और छाती को बेंच के पास लेकर जाइये. ऐसा करते वक्त आपका शरीर एकदम स्थिर और सीधा होना चाहिए.
    इसके बाद अपने शरीर को बेंच से पीछे की तरफ करिए. ऐसा आपको तब तक करना है तब तक कि आपकी कोहनियां एकदम सीधी न हो जाएं. ध्यान रहे इन्हें सीधा करते वक्त आपको इन्हें लॉक (जकड़ना) नहीं करना है.


कोहनी की एक्सरसाइज (रिस्ट कर्ल्स)

सबसे पहले आप किसी बेंच या सीट के किनारे बैठें. अब दोनों हाथों से वजन को उठाएं. इस दौरान तीन बातों का ख्याल रखना जरूरी है - पहला आपके दोनों को​हनियां दोनों घुटनों के ऊपर होनी चाहिए, दूसरा आपको हल्का सा आगे झुककर यह एक्सरसाइज करनी है और तीसरा नीचे की ओर देखना है. कोशिश करें कि धीरे धीरे कम से कम 10 सेट करें.
कंधों की एक्सरसाइज

myUpchar के अनुसार, मांसपेशियों में दर्द और तनाव को कम करने के लिए कंधे का व्यायाम जरूरी है, इससे कंधे में लचीलापन आता है.

  • एंटीरियर शोल्डर स्ट्रेच - सबसे पहले सीधे खड़े हो जाएं. अब आप अपने दोनों हाथ को कमर के पीछे बांध लें. अब दोनों हाथों को अपने शरीर से दूर रखते हुए कोहनी को सीधा करें. यदि आपको यह करना कठिन लग रहा हो, तो आप कमर के पीछे एक रोल किए हुए तौलिए को दोनों सिरे से पकड़ सकते हैं. अपनी पीठ को सीधी रखते हुए हाथ को जितना हो सके दूर करें, इससे स्ट्रेच आएगा.

  • काऊ फेस पोज के लिए अपने दाहिने हाथ को दांए कंधे के ऊपर से होते हुए पीठ की तरफ ले जाएं. अब अपने दूसरे हाथ को कमर की तरफ तरफ से होते हुए पीठ पर लाएं और दाएं हाथ को पकड़ लें. अब यह प्रक्रिया दूसरे हाथ से करें. यदि आप दोनों हाथों की उंगलियों को नहीं पकड़ पा रहे हैं तो तौलिया की दोनों सिरे को पीठ के पीछे पकड़ लें.अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, कलाई में दर्द पढ़ें. न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं. सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है. myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं.


अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको होने वाले किसी भी तरह से संभावित नुकसान के लिए ना तो myUpchar और ना ही News18 जिम्मेदार होगा।

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज