आईवीएफ के जरिए बनना चाहते हैं पेरेंट्स, तो जरूर बरतें ये सावधानियां

आईवीएफ तकनीक को पहली बार में बनाएं सफल, जरूर बरतें यह सावधानियां

आईवीएफ तकनीक को पहली बार में बनाएं सफल, जरूर बरतें यह सावधानियां

पहली बार में आईवीएफ (IVF) प्रक्रिया सफल हो जाती है तो उसे आसान लक्षणों के साथ पहचाना जा सकता है. गर्भधारण करते ही महिला में कई शारीरिक परिवर्तन देखने को मिलते हैं.

  • Last Updated: November 23, 2020, 8:36 AM IST
  • Share this:
संतान के बगैर जिंदगी अधूरी हो सकती है, लेकिन दुनियाभर में कई ऐसे दंपत्ति हैं तो खुद की संतान से वंचित है. ऐसे लोगों के लिए आईवीएफ तकनीक वरदान के समान है. जब भी कोई निसंतान दंपत्ति डॉक्टर के पास जाता है तो सबसे पहले उन्हें आईयूआई ट्रीटमेंट की सलाह दी जाती है. आमतौर पर यह देखने में आता है कि पहली बार आईयूआई ट्रीटमेंट के जरिए सफलता की दर कम है, लेकिन जब समस्या ज्यादा हो तो आईवीएफ तकनीक के उपयोग की सलाह दी जाती है क्योंकि आईयूआई की तुलना में आईवीएफ की सफलता का प्रतिशत बहुत ज्यादा है.

संतुलित मात्रा में लें आहार

संतुलित आहार पूरी तरह से आईवीएफ प्रक्रिया को सफल बनाने में मदद करता है. भ्रूण स्थानांतरण से कम से कम 3 महीने पहले से पौष्टिक आहार लेना शुरू कर देना चाहिए. वसायुक्त आहार का सेवन नहीं करना चाहिए या कम से कम करना चाहिए, इसकी जगह प्रोटीन व फाइबर डाइट का सेवन करना चाहिए. फर्टिलिटी एक्सपर्ट के अनुसार, गर्भधारण से पहले महिला के शरीर का बॉडी मास इंडेक्स (BMI) 18 से 24 के बीच होना चाहिए. यदि इससे ज्यादा महिला का बॉडी मास इंडेक्स रहता है तो शरीर के हार्मोन स्तर पर असर पड़ सकता है.

नियमित व्यायाम से सफल होती है आईवीएफ
आईवीएफ प्रक्रिया के दौरान व्यायाम करना बेहद जरूरी है. इससे महिला के शरीर का वजन संतुलित रहता है और तनाव दूर करने में भी मदद मिलती है. स्वस्थ रहने के लिए गर्भधारण के दौरान महिला का तनाव रहित रहना बेहद जरूरी है.

धूम्रपान और शराब का सेवन बिल्कुल न करें

धूम्रपान स्वास्थ्य पर कई तरह से बुरा असर डाल सकता है. पुरुषों में नशे की लत के कारण न सिर्फ शुक्राणुओं की संख्या कम होती है, बल्कि इसकी गुणवत्ता में भी कमी आती है. इसका गर्भधारण और गर्भपात दोनों पर बड़ा प्रभाव पड़ता है. वहीं, महिलाओं के धूम्रपान करने से उनके अंडाणुओं की गुणवत्ता पर असर पड़ता है और यह गर्भ को प्रभावित कर सकता है.



एक अच्छे आईवीएफ सेंटर का करें चयन

आईवीएफ ट्रीटमेंट की सफलता दर कई बार आईवीएफ सेंटर में मौजूद विशेषज्ञों पर भी निर्भर करती है. ऐसे में यदि पहली बार आईवीएफ प्रक्रिया से दौरान ही काबिल डॉक्टर मिल जाए, तो सफलता की दर बढ़ जाती है. आईवीएफ प्रक्रिया से गुजरने से पहले डॉक्टर को अपने स्वास्थ्य के बारे में हर छोटी-बड़ी बात बता देनी चाहिए. इसके अलावा यदि आपको किसी भी प्रकार के नशे की लत है तो उसकी जानकारी भी डॉक्टर को देनी चाहिए. आईवीएफ प्रक्रिया के दौरान महिला को कुछ दवाएं दी जाती है. ऐसे में यदि वे पहले से किसी दवा का सेवन कर रही हैं, तो उसके बारे में डॉक्टर को जरूर बता देना चाहिए, क्योंकि कई बार दवाओं के साइड इफेक्ट भी हो सकते हैं.

आईवीएफ प्रक्रिया के सफल होने के लक्षण

यदि पहली बार में आईवीएफ प्रक्रिया सफल हो जाती है तो उसे आसान लक्षणों के साथ पहचाना जा सकता है. गर्भधारण करते ही महिला में कई शारीरिक परिवर्तन देखने को मिलते हैं. स्तनों में अत्यधिक संवेदनशीलता होना, मतली, थकान या शरीर में ऐंठन महसूस करना इसके प्रमुख लक्षण हैं. हालांकि कुछ महिलाओं में ये लक्षण दिखाई नहीं देते हैं, इसलिए संदेह होने पर भी मेडिकल टेस्ट करवा लेना चाहिए. (अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, टेस्ट ट्यूब बेबी क्या है, खर्च और फायदे पढ़ें।) (न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं। सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है। myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं।)

अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको होने वाले किसी भी तरह से संभावित नुकसान के लिए ना तो myUpchar और ना ही News18 जिम्मेदार होगा।

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज