आप भी पैकेट वाले दूध को उबाल कर करते हैं इस्तेमाल तो पढ़ें ये

पैकेट बंद यह दूध पॉइश्चराइज्ड (pasteurized) होता है. इसका मतलब होता है कि पहले ही दूध को boiling point पर उबाल कर ठंडा करने के बाद पैकेट में भर दिया जाता है.

News18Hindi
Updated: July 24, 2019, 2:14 PM IST
आप भी पैकेट वाले दूध को उबाल कर करते हैं इस्तेमाल तो पढ़ें ये
आप भी पैकेट वाले दूध को उबाल कर करते हैं इस्तेमाल तो पढ़ें ये
News18Hindi
Updated: July 24, 2019, 2:14 PM IST
बढ़ते शहरीकरण की वजह से कम होती जगहों के कारण न केवल जंगल प्रभावित हुए हैं बल्कि घरों ने भी अपार्टमेंट का रूप ले लिया है. सिमटती जमीन के कारण अब शहर में रहने वाले ज़्यादातर लोग दूध के लिए गोशाला पर निर्भर नहीं करते हैं. दूध के लिए लोग बाजार के पैकेट बंद दूध पर ज्यादा भरोसा करते हैं. पैकेट बंद यह दूध पॉइश्चराइज्ड (pasteurized) होता है. इसका मतलब होता है कि पहले ही दूध को boiling point पर उबाल कर ठंडा करने के बाद पैकेट में भर दिया जाता है. इसके बाद यही दूध पैकेट में भरकर मार्केट में सप्लाई किया जाता है. इसे पॉइश्चराइजेशन कहा जाता है. ऐसा इसलिए किया जाता है कि दूध ज्यादा समय तक खराब न हों और इसमें बैक्टीरिया न पनप पाए. लेकिन जब हम मार्केट से दूध खरीदते हैं तो उसे उबालने के बाद ही इस्तेमाल करते हैं ताकि दूध खराब न हो जाए. लेकिन क्या ऐसा करना सही है? आइए जानते हैं पैकेट बंद दूध इस्तेमाल करने का सही तरीका क्या है...

इसे भी पढ़ें: अंक भी करते हैं चमत्कार! क्या बदल कर रख देते हैं भाग्य?

जानकारों के मुताबिक़, पैकेटबंद पॉइश्चराइज्ड दूध को उबालने की कोई जरूरत नहीं होती है. दरअसल, इस दूध की पैकेजिंग से पहले ही इसे पाश्चराइज्ड करके बैक्टीरिया फ्री कर दिया जाता है ताकि दूध लंबे समय तक चले. इस दूध को जब आप दुबारा उबालते हैं तो इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं और दूध उतना फायदेमंद नहीं रहता है जितना पहले था.

इसे भी पढ़ें: पेट की चर्बी छुपाने में मदद करेंगे ये कपड़े

पैकेटबंद दूध को लंबे समय तक इस्तेमाल योग्य बनाये रखने के लिए अगर आप इसे 4 डिग्री तापमान में रखें तो एक सप्ताह तक इसे इस्तेमाल योग्य रखा जा सकता है. पैकेटबंद दूध खरीदने से पहले ध्यान से इसके पैकेट पर एक्सपायरी डेट देखना न भूलें. एक्सपायरी डेट के बाद का पैकेट न लें. यह आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है.

Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए वेलनेस से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 24, 2019, 2:11 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...