Home /News /lifestyle /

is severe chest pain a sign of heart disease know expert opinion and health tips amu

Heart Health: क्या सीने में तेज दर्द होना हार्ट की बीमारी का संकेत? जानें क्या कहते हैं एक्सपर्ट

सीने में दर्द होना हार्ट डिजीज का एक लक्षण हो सकता है.

सीने में दर्द होना हार्ट डिजीज का एक लक्षण हो सकता है.

सीने में दर्द होने पर कुछ लोग टेंशन में आ जाते हैं और उन्हें लगता है कि यह हार्ट से जुड़ा मामला हो सकता है. इससे जुड़े कई जरूरी सवालों के जवाब एक्सपर्ट से जान लेते हैं. 

Heart Disease Prevention: जब भी लोगों को सीने (Chest) के दर्द का सामना करना पड़ता है, तब उनके दिमाग में हार्ट (Heart) से संबंधित परेशानियों का सवाल घूमने लगता है. कई बार सीने में तेज दर्द होने पर लोग घबरा जाते हैं. वर्तमान समय में यह समस्या तेजी से बढ़ रही है. खासतौर से युवाओं को चेस्ट पेन की परेशानी हो रही है. इसे लेकर अधिकतर लोग कन्फ्यूजन में रहते हैं कि क्या यह हार्ट से संबंधित डिजीज का कोई लक्षण है. आज एक्सपर्ट से जानेंगे कि सीने में अचानक दर्द होने की क्या वजह हो सकती हैं. साथ ही यह भी जानेंगे कि क्या यह हार्ट डिजीज का कोई संकेत होता है.

क्या कहते हैं एक्सपर्ट?

अपोलो हॉस्पिटल (नई दिल्ली) के कार्डियक पेसिंग और इलेक्ट्रोफिजियोलॉजी डिपार्टमेंट की डॉ. वनीता अरोरा के मुताबिक सीने में दर्द हार्ट अटैक, माइक्रोवैस्कुलर एनजाइना, गैस्ट्राइटिस और रिफ्लक्स का एक सामान्य लक्षण है. अगर आप नॉर्मल फिजिकल एक्टिविटी के दौरान सीने में दर्द महसूस कर रहे हैं, तो यह हार्ट डिजीज का एक संकेत हो सकता है. कुछ मामलों में चेस्ट के राइट और लेफ्ट साइड में दर्द होता है, तो कई बार सेंटर में दर्द की समस्या देखी जाती है. अगर इस तरह की कोई भी समस्या आए, तो बिना देर किए कार्डियोलॉजिस्ट से संपर्क करना चाहिए. कुछ मामलों में टेस्ट के बाद ही दर्द की असली वजह का पता चलता है.

Cigarette Effects: सिगरेट की लत हो सकती है जानलेवा, एक्सपर्ट से जानें स्मोकिंग छोड़ने के तरीके

ये हो सकते हैं रिस्क फैक्टर 

डॉ. वनीता अरोरा कहती हैं कि स्मोकिंग, डायबिटीज, डिस्लिपिडेमिया, हाइपरटेंशन, ओवरवेट और स्ट्रेस हार्ट डिजीज के लिए सबसे ज्यादा खतरनाक हो सकते हैं. जिन लोगों को इस तरह की समस्या है और उनकी उम्र 30 साल से ज्यादा है, तो उन्हें तुरंत कार्डियोलॉजिस्ट से संपर्क करना चाहिए. वे कहती हैं कि कुछ लोग सीने में दर्द होने पर खुद ही इंटरनेट पर देखकर टेस्ट कराने पहुंच जाते हैं, लेकिन ऐसा करने से समस्या ज्यादा बढ़ सकती है. एक्सपर्ट हमेशा मरीज की कंडीशन का एनालिसिस करने के बाद ही जरूरी टेस्ट कराते हैं. इंटरनेट पर देख कर कभी भी खुद इलाज नहीं करना चाहिए.

कैसे कर सकते हैं बचाव?

डॉ. वनीता अरोरा के अनुसार कुछ बातों का ध्यान रखकर हार्ट डिजीज का खतरा काफी हद तक कम किया जा सकता है. अगर आप स्मोकिंग करते हैं, तो इसे छोड़ दें, वजन को कंट्रोल रखें, हेल्दी डाइट लें, रेगुलर एक्सरसाइज करें, ब्लड प्रेशर और ब्लड शुगर को कंट्रोल रखें और हर दिन मेडिटेशन करें. हर साल हार्ट का चेकअप कराना चाहिए. अगर आप इन बातों का ध्यान रखेंगे, तो हार्ट डिजीज से बच सकते हैं. इसके अलावा अगर आपको हार्ट से संबंधित कोई भी परेशानी महसूस हो, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए. हार्ट के मामले में लापरवाही से स्थिति गंभीर हो सकती है.

यह भी पढ़ेंः Hypothermia Causes: हाइपोथर्मिया की चपेट में आ रहे ठंडे इलाकों में जाने वाले लोग, एक्सपर्ट से जानें बचाव के तरीके

Tags: Health, Heart attack, Heart Disease, Lifestyle, \

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर