होम /न्यूज /जीवन शैली /क्या हाई ब्लड प्रेशर से किडनी हो सकती है डैमेज? इन टिप्स से करें बचाव

क्या हाई ब्लड प्रेशर से किडनी हो सकती है डैमेज? इन टिप्स से करें बचाव

हाई ब्‍लड प्रेशर से किडनी डैमेज का खतरा होता है. (Image-Canva)

हाई ब्‍लड प्रेशर से किडनी डैमेज का खतरा होता है. (Image-Canva)

हाइपरटेंशन से किडनी के आसपास की ब्‍लड वेसल्‍स कठोर या सिकुड़ जाती हैं. ऐसे में ब्‍लड वेसल्‍स किडनी तक पर्याप्‍त मात्रा ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

लंबे समय तक हाई ब्‍लड प्रेशर से ब्‍लड वेसल्‍स कमजोर हो जाती हैं.
ब्‍लड वेसल्‍स सिकुड़ने से किडनी की फंक्शनिंग बिगड़ जाती है.

How To Treat Blood Pressure: किडनी की बीमारी या किडनी फेल होने का एक प्रमुख कारण हाई ब्‍लड प्रेशर हो सकता है. हाई ब्‍लड प्रेशर से ब्‍लड वेसल्‍स और किडनी के फिल्‍टर्स डैमेज हो सकते हैं. इससे शरीर से मौजूद टॉक्सिन को बाहर निकालने में कठिनाई हो सकती है. हाइपरटेंशन से किडनी के आसपास की ब्‍लड वेसल्‍स कठोर या सिकुड़ जाती हैं. ऐसे में ब्‍लड वेसल्‍स किडनी तक पर्याप्‍त मात्रा में ब्‍लड नहीं पहुंचा पाती जिस वजह से किडनी फेल हो सकती है. हाइपरटेंशन या हाई ब्‍लड प्रेशर की समस्‍या तब होती है जब ब्‍लड वेसल्‍स के माध्‍यम से ब्‍लड को पुश करने में अधिक प्रेशर लगता है. हाई ब्‍लड प्रेशर को कंट्रोल करना बेहद जरूरी है. ब्‍लड प्रेशर को कंट्रोल करने के लिए हेल्‍दी डाइट के साथ लाइफस्‍टाइल में बदलाव किया जा सकता है. इसमें योगाभ्‍यास भी फायदेमंद हो सकता है.

हाई ब्‍लड प्रेशर से किडनी होती है प्रभावित
हाई ब्‍लड प्रेशर से किडनी खराब हो सकती है. डायबिटीज के बाद किडनी फेल होने का दूसरा सबसे बड़ा कारण हाई ब्‍लड प्रेशर को ही माना गया है. वेब एमडी के अनुसार हाई ब्‍लड प्रेशर ब्‍लड वेसल्‍स को कमजोर और डैमेज कर देता है और इससे अन्‍य ऑर्गन्‍स भी प्रभावित हो जाते हैं. अगर किडनी में ब्‍लड वेसल्‍स डैमेज हो जाती हैं तब किडनी पूरी प्रेशर के साथ काम नहीं कर पाती. ऐसे में बॉडी से फ्लूइड और वेस्‍ट को बाहर निकलने में परेशानी आ सकती है. ब्‍लड में एक्‍स्‍ट्रा फ्लूइड ब्‍लड प्रेशर को और बढ़ा सकता है. जिस वजह से किडनी फेल भी हो सकती है.

ब्‍लड प्रेशर को कम करने के तरीके

स्‍ट्रेस को करें कम: स्‍ट्रेस कम करने के लिए काम के घंटों, एक्टिविटी और यहां तक कि रिलेशनशिप में भी बदलाव करें.
स्‍लो, डीप और रिदमिक ब्रीदिंग: मेडिटेशन, योगा का सहारा लेकर ब्रीदिंग पर फोकस करें और उसे शांत करने की कोशिश करें.
एक्‍सरसाइज: फ्रेंड्स या ग्रुप के साथ वर्कआउट करें. इससे एक्‍सरसाइज करने में मन लगेगा और एकाउंटबिलिटी भी बढ़ेगी.

यह भी पढ़ेंः हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के लिए अपनाएं ये 5 बेहतरीन तरीके

किडनी डिजीज के लक्षण
– सूजन
– मसल्‍स क्रैम्‍पिंग
– भूख न लगना
– फोकस करने में परेशानी

इन बातों पर भी करें गौर
– हार्ट के लिए हेल्‍दी डाइट लें
– फ्रूट्स, वेजीटेबल्‍स और अनाजों का अधिक सेवन करें
– फिजिकल एक्टिविटी बढ़ाएं
– वजन को कंट्रोल में रखें
– स्‍मोकिंग से दूरी बनाएं
– शराब का सेवन बंद कर दें
– लो-सॉल्‍ट डाइट की शुरुआत करें

यह भी पढ़ेंः फिजिकल और मेंटल हेल्थ के लिए बेहद फायदेमंद होती है मॉर्निंग वॉक

हाई ब्‍लड प्रेशर को कम करने के लिए योगासन
– वक्रासन
– गोमुखासन
– पवनमुक्‍तासन
-उत्‍तानपादासन
– नौकासन
– सेतुबंधासन
– उष्‍ट्रासन
-भुजंगासन
– मर्कटासन
-पश्चिमोत्‍तासन
– शलभासन
– सूर्य नमस्‍कार
– शशंकासन

Tags: Health, Heart Disease, Lifestyle

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें