खसरे से जा सकती है जान, हो सकता है अंधापन, जानें बीमारी के लक्षण और इलाज

WHO के अनुसार, खसरे की बीमारी पीड़ित व्यक्ति के खांसी और छींक के दौरान निकली सलाइवा की ड्रॉप्स में इसका वायरस हवा के संपर्क में आता है और दूसरे लोगों को भी प्रभावित करता है.

News18Hindi
Updated: July 11, 2019, 9:14 AM IST
खसरे से जा सकती है जान, हो सकता है अंधापन, जानें बीमारी के लक्षण और इलाज
खसरे से जा सकती है जान, हो सकता है अंधापन, जानें लक्षण और इलाज
News18Hindi
Updated: July 11, 2019, 9:14 AM IST
मीजल्स यानि कि खसरा एक ऐसी बीमारी है जो एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलती है. पूरी दुनिया में इसकी वजह से अब तक कई मासूम मौत का शिकार बन चुके हैं. हालांकि इस बीमारी के प्रभावी वैक्सीन मौजूद हैं, वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाईजेशन (WHO) के अनुसार, खसरे की बीमारी पीड़ित व्यक्ति के खांसी और छींक के दौरान निकली सलाइवा की ड्रॉप्स में इसका वायरस हवा के संपर्क में आता है और दूसरे लोगों को भी प्रभावित करता है. शुरुआत में इस बीमारी का पता नहीं चलता है. संक्रमित होने के 10 से 12 दिन के बाद ही इसके लक्षण दिखाई देने शुरू होते हैं. आइए जानते हैं खसरे के लक्षण और इसका उपचार:

खसरे का लक्षण:


संक्रमित होने के शुरूआती दिनों में तेज ठंडक के साथ तेज बुखार, नाक से पानी आना, आंखें लाल होना, मुंह के अंदर छोटे छाले और सफेद धब्बे हो जाते हैं. कुछ दिनों बाद रोगी की बॉडी और चेहरे पर हल्के लाल रंग के चक्कते हो जाते हैं और चेहरे और बॉडी पर सूजन भी आ जाती है.

वार्डरोब में शामिल करें फ्लोरल प्रिंट, भारत के प्रमोशन में कटरीना ने भी कैरी किया ये लुक

उपचार:
अगर शुरुआत में इस तरह के लक्षण दिखें तो बिना देर किए तत्काल डॉक्टर से संपर्क करें. खून की जांच के बाद ये स्पष्ट तौर पर पता चल पाएगा कि आपको क्या बीमारी है. इसके बाद ही डॉक्टर आपको खसरे की वैक्सीन देगा. इसके लिए कोई ख़ास दवाई नहीं है. इसके बचने का सबसे प्रभावी तरीका है खसरे का टीका लगवाना. इसलिए बेहतर है कि शुरुआत में ही टीकाकरण करवा लें.

जब 45°C के ऊपर जाता है पारा, तो शरीर में ये होते हैं बदलाव?
Loading...

इन्हें होता है खतरा:
खसरे से सबसे ज्यादा प्रभावित वो लोग होते हैं जिनकी बॉडी की इम्युनिटी पॉवर कमजोर होती है. बॉडी में जरूरी पोषक तत्वों और विटामिन A की कमी भी इसका एक कारण होती है. कई बार जब खसरा बहुत ज्यादा बढ़ जाता है तो इससे अंधापन, एन्सेफलाइटिस, डायरिया, शरीर में पानी की कमी, निमोनिया जैसी गंभीर शिकायतें भी हो सकती हैं.

लाइफस्टाइल, खानपान, रिश्ते और धर्म से जुड़ी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...