Home /News /lifestyle /

know how eating potatoes will keep weight under control

आलू को मोटापे से जोड़ना कितना सही? इस तरह खाएंगे तो कंट्रोल रहेगा वजन

आलू को माना जाता है पोटैशियम का सबसे अच्छा सोर्स .

आलू को माना जाता है पोटैशियम का सबसे अच्छा सोर्स .

आलू में फैट, सोडियम या कोलेस्ट्रॉल नहीं होता. वहीं विटामिन बी 6, फाइबर, मैग्नीशियम और एंटीऑक्सीडेंट की अच्छी मात्रा होती है. उबले हुए आलू यदि ठंडे करके काली मिर्च- नमक के साथ खाएं जाएं तो बहुत सी शारीरिक बीमारियों में फायदेमंद साबित हो सकते हैं.

अधिक पढ़ें ...

Potato For Weight Control: हमारे देश में आलू वो सब्जी है जिसका प्रयोग किसी भी सब्जी के साथ किया जा सकता है. तभी तो सब्जियों का राजा आलू को कहा जाता है. आलू मतलब ढेर सारे स्वादिष्ट व्यंजन. बात चाहे आलू टिक्की जैसे देसी स्वाद की हो या आलू टिक्की बर्गर का विदेशी स्वाद. हर फूड आयटम में तड़का लगाने का काम करता है आलू, लेकिन फिर भी लोग आलू को बीमारी की जड़ भी कहते हैं, विशेषकर शुगर के मरीजों के लिए.  हेल्थलाइन के अनुसार आलू में पोटैशियम पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है. इसके अलावा इसमें फाइबर भी होता है. ये ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में रखता है. डाइजेशन के लिए भी आलू का सेवन फायदेमंद है. ये कोलेस्ट्रॉल लेवल को भी कम करता है. आलू में विटामिन ए, सी, बी-कॉम्पलेक्स और कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है. ये हाइपोग्लाइसेमिक इंडेक्स को घटाता है.

आलू खाने का हेल्दी तरीका
उबले हुए आलू को डाइट में शामिल कर सकते हैं. आलू को उबालने के बाद पूरी तरह ठंडा होने दें. इसके बाद इसे टुकड़ों में काटें. उबले आलू का स्वाद बढ़ाने के लिए इसमें काली मिर्च मिला सकते हैं. आलू को दही या छाछ में मिलाकर नाश्ते या लंच में खाना भी फायदा ​पहुंचाएगा. उबले हुए आलू का सेवन वजन कंट्रोल करने में मददगार होता है.

यहां भी पढ़ें: दलिया सिर्फ वजन ही कम नहीं करता, त्वचा के लिए भी है बेहतर ऑप्शन

उबला आलू बचाता है ओवर ईटिंग से
उबले हुए आलू के सेवन से आप ओवर ईटिंग से बचेंगे. इससे खाने से बार-बार भूख नहीं लगती. उबले हुए ठंडे आलू में अधिक मात्रा में रेसिस्टेंस स्टार्च बनता है. ये मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने में मदद करता है और शरीर की अतिरिक्त चर्बी को घटाता है. उबले हुए आलू में स्वीट पोटैटो के बराबर ही कैलोरी होती है.

पोषक तत्वों की मात्रा
आलू में पोषक तत्वों की भरपूर मात्रा होती है. इसमें फैट, सोडियम या कोलेस्ट्रॉल नहीं होता. वहीं विटामिन बी 6, फाइबर, मैग्नीशियम और एंटीऑक्सीडेंट की अच्छी मात्रा होती है. आलू में पोटैशियम की मात्रा केले के तुलना में ज्यादा होती है. वहीं इसमें रोजाना की जरूरत का लगभग आधा विटामिन सी होता है. आलू फ्री रेडिकल्स से लड़ता है जिससे हृदय रोगों, डायबिटीज और कैंसर जैसी बीमारियों का खतरा कम होता है.

यहां भी पढ़ें: चिप्स और बर्गर बच्चों की सेहत को कैसे पहुंचा रहे हैं नुकसान, जानिए

आलू को छिलके के साथ पकाएं
छिलके वाले साबुत और पके हुए आलू में पोषक तत्वों की अच्छी मात्रा होती है. इसे खाना आपके लिए फायदेमंद होगा. आलू को हमेशा छिलके के साथ उबालें​ बिना छिलके के नहीं. अगर आप आलू को बिना छिलके के उबालते हैं तो इससे आलू में विटामिन सी और बी जैसे पोषक तत्व कम हो जाते हैं. आलू को उबालने के लिए कम पानी का इस्तेमाल करें.

इन चीजों के साथ खाने से बचें
आलू के साथ अधिक मात्रा में घी, तेल, मक्खन, क्रीम, पनीर और आर्टिफिशियल फ्लेवर का इस्तेमाल न करें. आलू को पकाने के लिए जैतून के तेल जैसे हेल्दी तेल का इस्तेमाल करें.

Tags: Eat healthy, Health, Healthy food, Lifestyle

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर