जानें सेहतमंद रहने के लिए पीरियड्स के दौरान क्या करें और क्या नहीं

जानें सेहतमंद रहने के लिए पीरियड्स के दौरान क्या करें और क्या नहीं
पीरियड्स में अधिक दर्द होने पर पेट पर गर्म पानी की थैली से सिकाई करते रहना चाहिए, जिससे राहत मिलेगी.

महिलाओं में पीरियड्स (Menstruation) के दौरान कई हार्मोनल (Hormonal) बदलाव होते हैं, जिसके कारण उन्हें अनेक समस्याओं और पीड़ा सहन करनी पड़ती है. हार्मोनल परिवर्तन के कारण उनके व्यवहार में भी कई तरह के बदलाव देखने को मिलते हैं

  • Myupchar
  • Last Updated : November 27, 2020, 7:46 am IST
  • Share this:



    पीरियड्स (Menstruation) का समय अधिकतर महिलाओं के लिए पीड़ादायक होता है. कुछ महिलाओं को भारी ब्लीडिंग (Bleeding) होती है, तो कुछ महिलाओं को बहुत ही कम होती है. ये दोनों स्थितियां शरीर के लिए नुकसानदायक है. शरीर से ज्यादा मात्रा में खून निकल जाने से एनेमिया (Anemia) हो जाता है. वहीं पीरियड्स के दौरान ब्लीडिंग बहुत ही कम होने से दूसरी समस्याएं खड़ी हो सकती हैं. आइए जानते हैं इस दौरान क्या करें क्या नहीं, जिससे पीड़ा कम हो.

    पीरियड्स में हार्मोनल परिवर्तन



    myUpchar के अनुसार, महिलाओं में पीरियड्स के दौरान कई हार्मोनल बदलाव होते हैं, जिसके कारण उन्हें अनेक समस्याओं और पीड़ा सहन करनी पड़ती है. हार्मोनल परिवर्तन के कारण उनके व्यवहार में भी कई तरह के बदलाव देखने को मिलते हैं, जिसे क्लिनिकल भाषा में मूड स्विंग कहा जाता है. हालांकि हार्मोनल परिवर्तनों को कम तो नहीं किया जा सकता, लेकिन कुछ चीजों को ध्यान रखकर जैसे कि आहार और दिनचर्या में परिवर्तन कर पीरियड्स के दौरान होने वाली पीड़ा को कम किया जा सकता है.

    पीरियड्स में इन चीजों का करें सेवन

    पीरियड्स के समय दर्द होने पर गर्म चीजें खानी चाहिए. यदि पीड़ा अत्यधिक हो रही है तो काढ़े का सेवन करने से आराम मिल सकता है. दिनभर गर्म पानी का सेवन करना भी फायदेमंद हो सकता है. पीरियड्स में ब्लीडिंग होने के कारण महिलाओं में कमजोरी हो जाती है, इसलिए ऐसे समय में हरी सब्जियों का ज्यादा से ज्यादा सेवन करना चाहिए. इसके अतिरिक्त आयरन युक्त आहार लेते रहना चाहिए, जिससे खून की कमी न होने पाए. पोषणयुक्त आहार लेने से भी कमजोरी नहीं होती है.

    पीरियड्स में ये चीजें बिल्कुल न खाएं

    myUpchar के अनुसार, पीरियड्स के समय महिलाओं को ऐसे पदार्थों का सेवन करना चाहिए, जिनमें बहुत अधिक वसा ना हो. इस समय वसायुक्त पदार्थ का सेवन करने से पेट में सूजन और दर्द बढ़ सकता है. पीरियड्स में महिलाओं को पैक्ड फूड का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. इसके अतिरिक्त जंक फूड जैसे पिज्जा, बर्गर, केक और पेस्ट्री आदि खाने से परहेज करना चाहिए. इन चीजों में ट्रांसफैट बहुत अधिक होता है, जिससे महिलाओं में एस्ट्रोजन का लेवल बढ़ सकता है और इस स्थिति में गर्भाशय में दर्द हो सकता है.

    पीरियड्स के समय में चाय और कॉफी जैसे पेय भी नहीं लेना चाहिए, क्योंकि इनमें कैफीन की मात्रा बहुत अधिक होती है. दरअसल, कैफीन माहवारी के दौरान होने वाले दर्द और मूड स्विंग को बढ़ाता है. इससे अच्छी नींद आने में दिक्कत होती है.

    पीरियड्स में क्या करें और क्या नहीं

    जिन महिलाओं को पीरियड्स में बहुत अधिक ब्लीडिंग होती है, उन्हें इस समय ज्यादा काम या ज्यादा व्यायाम नहीं करना चाहिए.

    पीरियड्स में अधिक दर्द होने पर पेट पर गर्म पानी की थैली से सिकाई करते रहना चाहिए, जिससे राहत मिलेगी.

    पीरियड्स के समय अच्छे मूड के लिए मॉर्निंग वॉक पर जरूर जाना चाहिए. सुबह की ताजी हवा से हार्मोन्स में अच्छे बदलाव होते हैं. इसके अतिरिक्त अच्छी नींद से भी स्वास्थ्य में सुधार होता है. प्राणायाम और हल्का व्यायाम भी मूड स्विंग को ठीक करने में मदद करता है.अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, पीरियड्स में क्या खाएं और क्या ना खाएं पढ़ें.न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं. सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है. myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं.