होम /न्यूज /जीवन शैली /अल्सरेटिव कोलाइटिस से बचने के लिए कैसी होनी चाहिए डाइट, जानिए

अल्सरेटिव कोलाइटिस से बचने के लिए कैसी होनी चाहिए डाइट, जानिए

अल्सरेटिव कोलाइटिस में क्या खाएं.,image-canva

अल्सरेटिव कोलाइटिस में क्या खाएं.,image-canva

Ulcerative Colitis - खानपान पर थोड़ा सा ध्यान देकर पेट को अल्सरेटिव कोलाइटिस के लक्षणों से बचा जा सकता है. ज्यादा तला भ ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

अल्सरेटिव कोलाइटिस से बचने के लिए खाने की आदतों में सुधार फायदेमंद हो सकता है.
ओमेगा 3 फैटी एसिड्स से भरपूर एग्स और सैलमन फिश अल्सरेटिव कोलाइटिस में आराम दिलाते हैं.
ओटमील और दही जैसे लाइट फूड आइटम्स पेट को स्वस्थ बनाने में मदद करते हैं.

Healthy Diet for Ulcerative Colitis – खाना और उससे मिलने वाला पोषण बॉडी की पहली जरूरत है. खाना ही ये तय करता है की बॉडी कितनी हेल्दी और फिट है. खराब खानपान पेट की सेहत पर बुरा असर डाल सकता है. अल्सरेटिव कोलाइटिस ऐसी ही समस्या है जिसमें आंतें सूज जाती हैं और पेट में जलन या इनडाइजेशन जैसी दिक्कतें होने लगती हैं. डॉक्टर्स की मानें तो सेहतमंद न्यूट्रीशियंस फूड इस समस्या का समाधान हो सकता है. पेट की जलन से बचने के लिए अक्सर लोग स्पाइसी या अनहेल्दी फूड से दूरी बना लेते हैं, पर इसके साथ ही हेल्दी फूड का सेवन करना भी जरुरी हो जाता है, ऐसा करने से अल्सरेटिव कोलाइटिस के लक्षणों से बचने में मदद मिलती है. आइए जानते हैं अल्सरेटिव कोलाइटिस से बचाव में कौन-कौन से फूड आइटम्स मददगार साबित हो सकते हैं,

इसे भी पढ़ें: यात्रा करने के समय कब्ज से रहते हैं परेशान तो अपनाएं ये 6 टिप्स

अल्सरेटिव कोलाइटिस में फायदेमंद फूड्स :
सैलमन फिश :
एवेरी डे हेल्थ डॉट कॉम के मुताबिक अल्सरेटिव कोलाइटिस में पेट को दुरुस्त रखने के लिए सैलमन फिश में मौजूद ओमेगा 3 फैटी एसिड्स महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं. ये पेट और बॉडी को हील करने में मदद करते हैं.

दही :
पेट को स्वस्थ रखने वाले प्रोबायोटिक की मौजूदगी दही को डाइजेस्टिव और इम्यून सिस्टम के लिए फायदेमंद बनाती है. दही का सेवन कैल्शियम जैसे जरूरी मिनरल की कमी से भी बचाता है.

अंडे :
विटामिन बी, प्रोटीन, एंटीऑक्सीडेंट्स और ओमेगा 3 फैटी एसिड्स से भरपूर एग्स ना केवल हेल्दी होते हैं, साथ ही डाइजेस्ट करने में भी आसान होते हैं. यही कारण है की अल्सरेटिव कोलाइटिस में एग्स के सेवन की सलाह दी जाती है.

एवोकाडो :
पोषण से भरपूर एवोकाडो अल्सरेटिव कोलाइटिस में पेट को राहत पहुंचाने के साथ ही बॉडी की न्यूट्रीटिव आवश्यकताओं की पूर्ति में भी कारगर है. सैंडविच या ऑमलेट के साथ एवोकाडो का सेवन किया जा सकता है.

ऑलिव ऑयल :
पेट की जलन और सूजन से छुटकारा पाने के लिए ऑलिव ऑयल एक समझदार विकल्प हो सकता है. इसमें मौजूद मोनोअनसैचुरेटेड फैट अल्सरेटिव कोलाइटिस के लक्षणों से आराम दिलाते हैं.

इसे भी पढ़ें: मुंह में आता है ब्‍लड का टेस्‍ट कहीं एलर्जी तो नहीं, जानें इसके अन्‍य कारण

ओटमील :
जल्दी तैयार हो जाने वाले ओट्स में कम फाइबर होता है, साथ ही ये ज्यादा प्रोसेस्ड होते हैं और इन्हें डाइजेस्ट करना भी आसान होता है. अल्सरेटिव कोलाइटिस की शिकायत होने पर हल्के मसाले या फ्रूट प्यूरी से तैयार ओट्स का सेवन किया जा सकता है.

Tags: Health, Healthy Diet, Lifestyle

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें