Home /News /lifestyle /

मशरूम खाने से घटता है प्रोस्टेट कैंसर का खतरा: स्टडी

मशरूम खाने से घटता है प्रोस्टेट कैंसर का खतरा: स्टडी

अध्ययन में पाया गया कि मशरूम नहीं खाने वालों की तुलना में खाने वाले पुरुषों में 8 से 17 प्रतिशत प्रोस्टेट कैंसर के खतरे कम हुए थे

अध्ययन में पाया गया कि मशरूम नहीं खाने वालों की तुलना में खाने वाले पुरुषों में 8 से 17 प्रतिशत प्रोस्टेट कैंसर के खतरे कम हुए थे

अध्ययन में पाया गया कि मशरूम नहीं खाने वालों की तुलना में खाने वाले पुरुषों में 8 से 17 प्रतिशत प्रोस्टेट कैंसर के खतरे कम हुए थे

  • News18Hindi
  • Last Updated :
    एक नए अध्ययन में यह पाया गया है कि मशरूम खाने से मध्यम आयु वर्ग के और बुजुर्ग लोगों में प्रोस्टेट कैंसर का खतरा कम हो जाता है. इस अध्ययन में कुल 36,499 पुरुष शामिल हुए थे. इनकी आयु 40 से 79 वर्ष थी. इन्होंने 1990 में मियागी कोहर्ट स्टडी और 1994 में ओहसाकी कोहोर्ट स्टडी में भाग लिया था. बाद में यह अध्ययन 'इंटरनेशनल जर्नल ऑफ कैंसर' में प्रकाशित किया गया.

    अध्ययन में पाया गया कि मशरूम नहीं खाने वालों की तुलना में खाने वाले पुरुषों में 8 से 17 प्रतिशत प्रोस्टेट कैंसर के खतरे कम हुए थे.

    जापान के तोहोकु यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के प्रमुख लेखक शू झांग ने कहा, चूंकि मशरूम की प्रजातियों के बारे में जानकारी एकत्र नहीं की गई थी, इसलिए यह जानना मुश्किल है कि हमारे निष्कर्षों में किस विशिष्ट मशरूम का योगदान था. इसके अलावा, प्रोस्टेट कैंसर पर मशरूम के लाभकारी प्रभावों का तंत्र अनिश्चित बना हुआ है.

    क्या होता है प्रोस्टेट कैंसर

    प्रोस्टेट पुरूष के प्रजनन अंग का एक बाहरी ग्लैंड है. प्रोस्टेट ग्लैंड स्पर्म को सुरक्षित रखने वाले फ़्ल्यूइड बनाने के अलावा यूरीन को कंट्रोल करने का काम करता है. प्रोस्टेट होने के असली कारणों का पता अभी तक नहीं चल पाया है लेकिन कुछ कारण हैं जो कैंसर के इस प्रकार के लिए जोखिम कारक हैं. जैसे- धूम्रपान, मोटापा, सेक्स के दौरान फैला वायरस या फिर शारीरिक शिथिलता यानी की व्यायाम न करना प्रोस्टेट कैंसर का कारण हो सकता है.

    Tags: Eat healthy, Lifestyle, Protect from cancer

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर