होम /न्यूज /जीवन शैली /कच्चा शहद खाने से ब्लड शुगर और कोलेस्ट्रॉल को किया जा सकता है कंट्रोल ! नई स्टडी ने किया हैरान

कच्चा शहद खाने से ब्लड शुगर और कोलेस्ट्रॉल को किया जा सकता है कंट्रोल ! नई स्टडी ने किया हैरान

शहद में कई ऐसे गुण होते है, जो कार्डियोवैस्कुलर हेल्थ को इंप्रूव करते हैं.

शहद में कई ऐसे गुण होते है, जो कार्डियोवैस्कुलर हेल्थ को इंप्रूव करते हैं.

Raw Honey Reduce Blood Sugar- अक्सर डायबिटीज और हाई कोलेस्ट्रॉल के मरीजों को शहद का सेवन न करने की सलाह दी जाती है. अब ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

कच्चा शहद और मोनोफ्लोरल शहद ज्यादा फायदेमंद होता है.
लोग अपनी डाइट में शुगर को शहद से रिप्लेस कर सकते हैं.

Raw Honey Health Benefits: शहद के हेल्थ बेनिफिट्स के बारे में आपने खूब सुना होगा. सर्दियों में शहद का सेवन करने से सर्दी-जुकाम समेत कई इंफेक्शन से राहत मिलती है. साथ ही इम्यूनिटी मजबूत होती है. अधिकतर लोग मानते हैं कि डायबिटीज के मरीजों को शहद नहीं खाना चाहिए, क्योंकि यह बहुत मीठा होता है और इससे ब्लड शुगर बढ़ने का खतरा रहता है. हालांकि एक नई स्टडी में शहद को लेकर चौंकाने वाली बातें सामने आई हैं. इसमें बताया गया है कि कच्चा शहद (Raw Honey) डायबिटीज और हाई कोलेस्ट्रॉल के मरीजों के लिए भी फायदेमंद साबित हो सकता है. इस रिसर्च के बारे में विस्तार से जान लेते हैं.

कच्चा शहद शुगर और कोलेस्ट्रॉल घटाने में कारगर?

मेडिकल न्यूज़ टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक कनाडा के यूनिवर्सिटी ऑफ टोरंटो के शोधकर्ताओं की स्टडी में पता चला है कि शहद कार्डियोमेटाबॉलिक हेल्थ के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है. कच्चा शहद (Raw Honey) फास्टिंग ग्लूकोस (खाली पेट के ब्लड शुगर लेवल) और हाई कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद कर सकता है. इतना ही नहीं फैटी लिवर डिजीज से बचाने में भी शहद कारगर साबित हो सकता है. इस रिसर्च के शोधकर्ताओं का कहना है कि शहद को अगर चीनी या अन्य स्वीटनर्स की जगह डाइट में शामिल कर लिया जाए, तो इससे हेल्थ को कई फायदे होंगे. खासतौर से जिन लोगों की डाइट में 10% तक शुगर होती है, उनके लिए कच्चा शहद बेहद फायदेमंद हो सकता है.

यह भी पढ़ें- सर्दियों में खूब पीएं नींबू पानी ! इम्यूनिटी होगी मजबूत और वजन रहेगा कंट्रोल

हेल्दी फूड माना जा सकता है शहद

शोधकर्ताओं का कहना है कि कच्चा शहद और मोनोफ्लोरल शहद सबसे ज्यादा कार्डियोमेटाबॉलिक फायदे देता है. शहद में करीब 80% शुगर होती है, इसके बावजूद यह हेल्दी फूड माना जा सकता है. इस रिसर्च के को-ऑथर डॉ. तौसीफ अहमद खान के मुताबिक करीब 15% शहद कई दर्जन रेयर शुगर से बना होता है. यही कारण है कि शहद के कई साइक्लोजिकल और मेटाबॉलिक फायदे होते हैं. यह ग्लूकोस रिस्पांस को इंप्रूव करता है और इन्सुलिन रेजिस्टेंस को घटाता है. यह हेल्दी गट के बैक्टीरिया की ग्रोथ को प्रमोट करता है.

डाइट में कितनी शुगर होनी चाहिए?

एंडोक्राइनोलॉजिस्ट डॉ. एना मारिया कौशेल के मुताबिक लोगों को हेल्दी रहने के लिए अपनी डाइट में कम से कम शुगर एड करनी चाहिए. अगर आप लगातार 8 सप्ताह तक हर दिन औसतन 40 ग्राम शुगर का सेवन करेंगे, तो इससे हेल्थ पर कई पॉजिटिव इफेक्ट देखने को मिलेंगे. यह शुगर की उतनी मात्रा है, जितना हमारा शरीर लिवर को इंवॉल्व किए बिना प्रोसेस कर सकता है. ऐसा करने से कार्डियोवैस्कुलर डिजीज और मेटाबॉलिक रिस्क काफी कम हो जाएगा.

यह भी पढ़ें- क्या मूंगफली खाना डायबिटीज और कोलेस्ट्रॉल के मरीजों के लिए फायदेमंद?

Tags: Blood Sugar, Diabetes, Health, Lifestyle

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें