ये हैं उल्‍टी रोकने के 11 कारगर उपाय, जो तुरंत देंगे आराम

घरेलू उपाय उल्‍टी की समस्‍या करेंगे दूर. Image Credit/Shutterstock

घरेलू उपाय उल्‍टी की समस्‍या करेंगे दूर. Image Credit/Shutterstock

Home Remedies For Vomiting: अगर आप ट्रैवल में या कहीं बाहर हैं और उसी वक़्त आपको उल्‍टी आने लगे तो इससे बुरा कुछ और हो नहीं सकता. ऐसे में आप तुरंत आराम के लिये आयुर्वेदिक उपायों का सहारा ले सकते हैं.

  • Share this:
Home Remedies For Vomiting: अनपच होना, मोशन सिकनेस, गर्भावस्‍था के दौरान मितली या उल्‍टी आना एक आम बात है. इसकी वजह से कई बार हम असहज महसूस करते हैं और कई कोशिशों के बाद भी आराम महसूस नहीं कर पाते. अगर आप ट्रैवल में हों या कहीं बाहर हों और उल्‍टी आने लगे तो परेशानी कहीं ज्‍यादा बढ़ जाती है. ऐसे में हम उल्‍टी रोकने के लिए दवा का प्रयोग करते हैं. लेकिन क्‍या आपको पता है कि आयुर्वेद में उल्टी को रोकने के लिए कई घरेलू उपाय (Home Remedies For Vomiting) दिये गए हैं जो आपको तुरंत इससे राहत पहुंचा सकते हैं? आइए जानते हैं कि हम आयुर्वेद के किन घरेलू उपायों को अपनाकर उल्‍टी की समस्‍या से बच सकते हैं.

ये हैं उल्‍टी रोकने के 11 घरेलू उपाय

1.अगर आप तुलसी का रस निकालकर पानी में डालकर पिएं तो उल्टी में आराम मिलेगा. तुलसी की पत्तियों के रस में शहद मिलाकर भी पिया जा सकता है. अगर बार-बार उल्टी आ रही हो तो प्याज के रस में शहद मिलाकर पिएं.



2. उल्‍टी जैसा लगने पर दो चार दाने काली मिर्च लेकर चूसें. इसके अलावा कुछ काली मिर्च लेकर करेले के पत्ते के रस में मिला लें और इसे पिएं.
3. लौंग भी उल्टी रोकने में बहुत मदद करता है. आप अगर मुंह में लौंग रखेंगे या इसे दालचीनी के साथ उबालकर इसे पीएंगे तो उल्‍टी रुक सकती है.

4. अदरक और नींबू के रस बराबर मात्रा में लें और पानी के साथ पिएं. अदरक में एंटी-एमिटिक गुण होता है, जो पाचन-तंत्र को स्वस्थ बनाने में मदद करता है.



इसे भी पढ़ें : सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस के दर्द से हैं परेशान, तो करें ये उपाय, तुरंत दिखेगा असर


5.नीम की छाल का रस निकालकर शहद के साथ डालकर पिएं. उल्टी में बहुत आराम मिलेगा.

6.आधा चम्मच कलौंजी का तेल, आधा चम्मच अदरक का रस मिलाकर इसका प्रयोग सुबह-शाम करें.

7.अजवाइन, कपूर और पुदीना के फूल के 10-10 ग्राम की मात्रा को अच्छी तरह मिलाकर एक कांच की बोतल में रखें. इसे धूप में रख दें. थोड़ी देर में वह पिघलकर रस बन जाएगा. इसकी 3-4 बूंदें पिएं. दिन में एक या दो बार इसका प्रयोग करें.

8.हरी धनिया का रस निकालें. इसमें थोड़ा-सा सेंधा नमक, एक नींबू डालकर एक ग्‍लास पानी में डालकर पिएं.

9.आधा चम्मच धनिया का पाउडर, आधा चम्मच सौंफ का पाउडर एक ग्‍लास पानी में डालें और इसमें थोड़ी-सी चीनी या मिश्री घोल कर पीएं.

10. गिलोय के रस में मिश्री मिलाकर दो चम्मच रस पिएं. इसका प्रयोग दिन में तीन बार कर सकते हैं. इससे उल्टी आनी बंद हो जाएगी. गिलोय का काढ़ा बनाकर भी पी सकते हैं.



इसे भी पढें : आयुर्वेदिक गुणों से भरपूर हैं सहजन की पत्तियां, कई बीमारियों को रखती हैं दूर



11.पुदीना का रस, नींबू का रस और शहद बराबर मात्रा में लेकर मिला लें. इसका दिन में दो-तीन बार सेवन करें. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज