आपकी जिंदगी से स्ट्रेस को दूर भगाएंगे ये 6 पौधे, कोरोना काल में शारीरिक परेशानी भी होगी दूर

घर का वातावरण ऐसा बनाना चाहिए, जिससे सोच सकारात्मक रहे और उसे पॉजिटिव एनर्जी मिले. Image-shutterstock.com

घर का वातावरण ऐसा बनाना चाहिए, जिससे सोच सकारात्मक रहे और उसे पॉजिटिव एनर्जी मिले. Image-shutterstock.com

कुछ औषधीय पौधें (Herbs) और फूल (Flowers) हैं जिन्हें घर में रखने से आपको पॉजिटिव एनर्जी मिलेगी और कोरोना काल में आपका स्ट्रेस छूमंतर होगा.

  • Share this:
कोरोना के बढ़ते मामलों के देखते हुए लोगों से घर में रहने के लिए कहा जा रहा है. वहीं कई इलाकों में संपूर्ण लॉकडाउन लगा दिया गया है. लोगों को साबुन और हैंडवॉश से बार-बार हाथ धोने, अनिवार्य रूप से मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग को अपनाने के लिए कहा जा रहा है. ऐसे में लंबे समय से घर में रहने की वजह से कई लोग डिप्रेशन (Depression) का शिकार भी होने लगे हैं. कई लोगों की तो सहनशीलता कम होने लगी है तो वहीं कई लोग सब्र खोने लगे. कुछ घरों में तो बहस और लड़ाई-झगड़े तक शुरू हो गए हैं. ऐसे में मानसिक स्थिति को ठीक रखने के लिए और घर में शांति बनाए रखना के लिए खुद को किसी न किसी काम में व्यस्त रखना बहुत जरूरी होता है ताकि ध्यान बंटा रहे और सोच भी पॉजिटिव रहे.

इसके लिए सबसे पहले यह कोशिश करनी चाहिए कि किसी भी तरह की नकारात्मक सोच से खुद को दूर रखा जा सके. घर का वातावरण भी ऐसा बनाना चाहिए, जिससे सोच सकारात्मक रहे और उसे पॉजिटिव एनर्जी मिले. ऐसे में कुछ पौधे सकारात्मक ऊर्जा का सबसे महत्वपूर्ण साधन हो सकते हैं. आइए आपको बताते हैं कुछ ऐसे ही औषधीय पौधों (Herbs) और फूलों (Flowers) के बारे में जिन्हें घर में रखने से आपको सकारात्मक ऊर्जा मिलेगी और कोरोना काल में आपका स्ट्रेस छूमंतर होगा.

इसे भी पढ़ेंः कोरोना काल में इन चीजों को छूने के बाद जरूर धोएं हाथ, नहीं तो हो सकती है गंभीर समस्या

तुलसी
हमारे देश में तुलसी के पौधे को पूज्य माना जाता है और इसे औषधि के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है. घर में तुलसी का पौधा लगाने से सुख और शांति बनी रहती है. साथ ही यह पौधा सकारात्मक ऊर्जा का भी अच्छा स्रोत है. तुलसी के पत्तों का सेवन करने से कई प्रकार की बीमारियों में मिलती है. वहीं यह स्ट्रेस को भी भगाता है.

गुलाब

वैसे तो गुलाब के अलग-अलग किस्म के पौधे होते हैं, लेकिन अगर आप अपने घर में गुलाब का पौधा लगाना चाहते हैं, तो देसी गुलाब ही लगाना चाहिए. गुलाब की खुशबू आपका मन मोह लेती है और इसे महिलाएं अपने बालों में भी लगाना पसंद करती हैं. गुलाब का फूल शांति, प्रेम और सकारात्मक वातावरण का प्रतीक होता है. यह पवित्र फूल आपके आसपास से नकारात्मक ऊर्जा को दूर करता है और आपकी जिंदगी से स्ट्रेस को भगाता है. यही कारण है कि शुभ कार्यों में गुलाब के फूल का इस्तेमाल किया जाता है.



मनी प्लांट

मनी प्लांट एक ऐसा पौधा है, जो कहीं भी फिट हो जाता है. इसे आप अपने बेडरूम, बालकनी, बाथरूम, ड्रॉइंग रूम या बगीचे कहीं पर भी लगा सकते हैं. कुछ लोग तो इसे अपने किचन में भी लगा लेते हैं ताकि हरियाली दिखे. यह पौधा घर में सकारात्मक ऊर्जा पैदा करता है और इस पौधे को बहुत कम देखरेख की जरूरत होती है.

जैस्मीन

जैस्मीन के फूल की खुशबू किसी का भी मन मोह लेती है. लोग इसकी खुशबू को बहुत पसंद करते हैं. विश्व के कई देशों में तो जैस्मीन के पौधे को बहुत पवित्र और पूज्य माना जाता है. जैस्मीन के फूलों को आत्मविश्वास को बढ़ाने, आपस में प्रेम और मित्रता को बढ़ाने, रिश्तों को मजबूत बनाने वाला माना जाता है. इसके अलावा इसके फूलों से कई तरह के ऑयल और बॉडीवॉश, साबुन भी बनाए जाते हैं. इसके अलावा इसके फूलों की खुशबू को अगरबत्तियों और मोमबत्तियों में खुशबू के लिए इस्तेमाल किया जाता है. लोगों का मानना है कि घर में इसे लगाने से रात को अच्छे सपने आते हैं.

रोजमैरी

रोजमैरी के पौधे को घर में लगाने से पवित्रता का एहसास होता है. कहते हैं कि इससे गुस्सा कम आता है, डिप्रेशन की समस्या से मुक्ति मिलेगी और न ही अकेलेपन का एहसास होगा. रोजमैरी का पौधा अंतर्मन में शांति पैदा करता है. लोगों का कहना है कि इस पौधे को अपने घर के मुख्य द्वार पर लगाना चाहिए. इसके अलावा आप इसे अपने खाने में भी इस्तेमाल कर सकते हैं.

इसे भी पढ़ेंः क्या आपको पता है एलोवेरा का जूस पीने से बढ़ती है इम्यूनिटी और स्ट्रेस होता है कम, जानें कैसे

लिली

लिली को भी पवित्र माना जाता है. इस फूल को खुशियों का प्रतीक माना जाता है. यह घर में खुशियां लाता है और घर से सभी नकारात्मक चीजों को दूर करता है. लिली के पौधे को घर के बेडरूम में जरूर लगाएं, कहते हैं कि इससे रात के समय अच्छी नींद आती है. साथ ही सुबह भी खुशियों और एनर्जी से भरी होती है.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज