Home /News /lifestyle /

सर्दी में अडूसा के पत्ते सांस की दिक्कतों को ठीक करते हैं, जानिए इसके फायदे

सर्दी में अडूसा के पत्ते सांस की दिक्कतों को ठीक करते हैं, जानिए इसके फायदे

अडूसा (adusa) से सर्दी-खांसी, दिल की बीमारी, रक्त संबंधी बीमारी, प्यास, सांस संबंधी बीमारी, बुखार, कोढ़, टीवी जैसी बीमारियों का इलाज किया जा सकता है.  (Image: Shutterstock)

अडूसा (adusa) से सर्दी-खांसी, दिल की बीमारी, रक्त संबंधी बीमारी, प्यास, सांस संबंधी बीमारी, बुखार, कोढ़, टीवी जैसी बीमारियों का इलाज किया जा सकता है. (Image: Shutterstock)

Health benefits of Adusa in winter: गांवों में अडूसा (Adusa) के पत्ते से सांस संबंधी दिक्कतों (respiratory problems) का इलाज सदियों से किया जाता है. सर्दी (winter) में इसका इस्तेमाल बढ़ जाता है. सामान्य सर्दी-खांसी में अडूसा के पत्ते का काढ़ा बहुत जबर्दस्त काम करता है. यह सांस की नली को चौड़ा करने में मदद करता है जिससे सांस संबंधी दिक्कतों से छुटकारा मिलता है. यह बलगम को पतला कर बाहर निकालता है. अडूसा का इस्तेमाल छाती में भारीपन या कंजेशन को कम करने के लिए भी किया जाता है.

अधिक पढ़ें ...

    Health benefits of Adusa in winter: भारतीय आयुर्वेद में एक से बढ़कर एक घरेलू नुस्खे हैं जिनसे कई तरह की बीमारियों का इलाज किया जा सकता है. दिलचस्प बात यह है कि इन नुस्खों को खोजने के लिए ज्यादा मेहनत की भी जरूरत नहीं होती बल्कि आस-पास ही मिल जाते हैं. इन्ही घरेलू नुस्खों में से एक है अडूसा (adusa) के पत्ते. सर्दी में अडूसा के पत्ते के कई फायदे हैं. अडूसा को देश में कई नामों से जाना जाता है. इसे अडुस्, अरुस, बाकस, बिर्सोटा, रूसा, अरुशा भी कहा जाता है. संस्कृत में इसका नाम वासक या वासा है. अंग्रेजी में अडूसा को Malabar Nut कहा जाता है. अडूसा (adusa) से सर्दी-खांसी, दिल की बीमारी, रक्त संबंधी बीमारी, प्यास, सांस संबंधी बीमारी, बुखार, कोढ़, टीवी जैसी बीमारियों का इलाज किया जा सकता है. सर्दी में कुछ लोगों सांस लेने में विभिन्न वजहों से तकलीफ होने लगती है. ऐसे में अडूस के पत्ते का काढ़ा बनाकर पीने से बहुत राहत मिलती है. यह बलगम को पतला कर बाहर निकालता है. अडूसा सांस-नलिकाओं को फैलाकर चौड़ा करता है जिससे एयर की आवाजाही आसानी से होने लगती है. सांस नलिकाओं के फैल जाने से दमे के रोगी का सांस फूलना कम हो जाता है. वेबएमडी की खबर के मुताबिक अडूसा का इस्तेमाल छाती में भारीपन या कंजेशन को कम करने के लिए किया जाता है. यह सांस की नली में सूजन को कम करता है.

    सर्दी में अडूसा के पत्ते के फायदे

    सांसों को दिक्कतों से छुटकारा दिलाता है- अडूसा के पत्ते में वेसिन नाम का तत्व पाया जाता है. इसके कारण यह सांसों की नली को चौड़ा करता है. इसके अलावा अडूसा में एंटी-इंफ्लामेटरी (Anti-Inflammatory)गुण भी पाया जाता है, जो सांस की नली में सूजन को कम करता है. इससे सांस की नली साफ होती है जिससे सांस लेने में हो रही दिक्कतों से छुटकारा मिलता है. इसके अलावा गले में खराश (Throat Infection), अस्थमा (Asthma), ब्रोंकाइटिस (Bronchitis) आदि परेशानियों को दूर करने में भी अडूसा मदद करता है.

    सर्दी-जुकाम से राहत- गांवों में अडूसा के पत्ते का इस्तेमाल हर कोई जानता है. सर्दी के मौसम में सर्दी-जुकाम की समस्याओं के लिए लोग अडूसा के पत्ते का काढ़ा बनाकर इस्तेमाल करते हैं. इसका सेवन करने से बंद नाक तुरंत खुल जाती है. अडूसा छाती के कंजेशन को दूर करता है. आमतौर पर इसके पत्ते को पानी के साथ उबाल कर इसका काढ़ा बनाया जाता है और इसका सेवन किया जाता है.

    सूजन को कम करता- अडूसा में एंटी इंफ्लामेटरी गुण होता है. यही कारण है यह सांस की नली में हुई सूजन को कम कर सांस की नली को साफ करता है. इससे सांस संबंधी परेशानी दूर हो जाती है.
    ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करता है- अडूसा ब्लड प्रेशर को संतुलित करने में मदद कर सकता है. अडूसा खून को साफ करने के लिए भी जाना जाता है. इसमें एंटी-फाइब्रिनलिटिक गुण पाए जाते हैं जो हार्ट ब्लॉकेज को दूर करने में मदद करता है.

    घुटनों के दर्द से राहत- घुटनों के दर्द और सूजन को कम करने के लिए भी लोग अडूसा का सेवन करते हैं. इसे जड़ी-बूटी की तरह इस्तेमाल किया जाता है. इसमें पाए जाने वाले एंटी-इंफ्लामेटरी गुण ऑर्थराइटिस की सूजन को कम करता है.

    सिर दर्द से छुटकारा- अडूसा के फूल सिर दर्द से राहत दिलाता है. इसके लिए अडूसा के फूल को गुड़ में मिलाकर खाया जाता है. इससे सिरदर्द से आराम मिलता है.

    Tags: Health, Lifestyle

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर