Home /News /lifestyle /

कोरोना संक्रमण के बाद वैक्‍सीन और प्रीकॉशन डोज लेने का बदला समय, इतने महीने बाद लगेगा टीका

कोरोना संक्रमण के बाद वैक्‍सीन और प्रीकॉशन डोज लेने का बदला समय, इतने महीने बाद लगेगा टीका

सार्स कोवि-2 से संक्रमित होने के कितने दिन बाद लगेगी प्रीकॉशन डोज, जानें.(सांकेतिक तस्वीर- AP)

सार्स कोवि-2 से संक्रमित होने के कितने दिन बाद लगेगी प्रीकॉशन डोज, जानें.(सांकेतिक तस्वीर- AP)

Health News: अगर किसी व्‍यक्ति को सार्स कोवि-2 का संक्रमण हो जाता है और लेबोरेटरी टेस्‍ट में यह साबित हो जाता है तो उसे न केवल प्रीकॉशन डोज बल्कि कोरोना वैक्‍सीनेशन प्रोग्राम की पहली और दूसरी डोज भी रिकवर होने के 3 महीने बाद लगाई जाएगी.

अधिक पढ़ें ...

Health News: भारत में 3 जनवरी से 15 से 18 साल के युवाओं के लिए वैक्‍सीनेशन की शुरुआत की गई है. इसके साथ ही नेशनल कोविड वैक्‍सीनेशन प्रोग्राम के तहत 10 जनवरी से हेल्‍थकेयर वर्कर्स, फ्रंटलाइन वर्कर्स और 60 साल से ऊपर के कोमोरबिड लोगों के लिए प्रीकॉशन डोज भी शुरू की गई हैं. जिसके तहत इन लोगों को कोरोना वैक्‍सीन की तीसरी डोज दी जा रही है. इस डोज की शुरुआत फैलते कोरोना संक्रमण और नए वेरिएंट ओमिक्रोन को ध्‍यान में रखते हुए भी की गई हालांकि ये डोज दूसरी डोज लगने के 9 महीने या 39 सप्‍ताह के बाद लगाई जा रही है.

देश में फैल रहे कोरोना संक्रमण के चलते रोजाना लाखों की संख्‍या में कोविड के मामले सामने आ रहे हैं. ऐसे में सबसे बड़ा सवाल यह है कि अगर किसी ऐसे व्‍यक्ति को जो प्रीकॉशन डोज लेने के योग्‍य है, उसे अगर कोरोना संक्रमण भी हो जाता है तो क्‍या उसे प्रीकॉशन डोज लगाई जा सकती है. अगर हां तो इसके लिए कितने दिन का समय अंतराल तय किया गया है. स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्रालय भारत सरकार की ओर से इस‍के लिए हाल ही में गाइडलाइन जारी की गई है.

इसे भी पढ़ें: कोरोना की तीसरी लहर में 12% तक बढ़े ICU एडमिशन, 4.5% तक घटी मृत्‍युदर: Max Healthcare Study

इसमें बताया गया है कि अगर किसी व्‍यक्ति को सार्स कोवि-2 का संक्रमण हो जाता है और लेबोरेटरी टेस्‍ट में यह साबित हो जाता है तो उसे न केवल प्रीकॉशन डोज बल्कि कोरोना वैक्‍सीनेशन प्रोग्राम की पहली और दूसरी डोज भी रिकवर होने के 3 महीने बाद लगाई जाएगी.

इसे भी पढ़ें: तो क्या बच्चों पर ओमिक्रॉन का असर नहीं होता है! एक्सपर्ट से समझिए इसका क्या कारण है

बता दें कि भारत में अब तक 8 कोरोना टीकों को इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दी जा चुकी है इनमें कोवैक्‍सीन और कोविशील्‍ड के अलावा जायडस कैडिला की ZyCoVD, बायोलॉजिकल ई की कोर्बीवैक्‍स, कोवोवैक्‍स, स्‍पूतनिक वी, मॉडर्ना और जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन शामिल हैं.

Tags: Corona, Corona Virus, Health, Health News

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर