गर्मी में शरीर को हाइड्रेटेड रखने के लिए करें इंफ्यूज्ड वॉटर का सेवन, जानें इसके फायदे

तुलसी और नींबू से बना इंफ्यूज्ड वॉटर भी सेहत के लिए फायदेमंद है-Image credit/pexels-ryutaro-tsukata

तुलसी और नींबू से बना इंफ्यूज्ड वॉटर भी सेहत के लिए फायदेमंद है-Image credit/pexels-ryutaro-tsukata

इंफ्यूज्ड वॉटर (Infused Water) पीने से शरीर हाइड्रेटेड (Hydrated) भी रहता है और इसमें मौजूद पोषक तत्व (Nutrients) भी शरीर को मिलते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 24, 2021, 4:51 PM IST
  • Share this:
शरीर को स्वस्थ रखने के लिए वैसे तो हर मौसम में पानी पीना बहुत ज़रूरी है. लेकिन इसकी ज़रूरत गर्मी के दिनों में और भी ज्यादा बढ़ जाती है. डॉक्टर भी स्वस्थ व्यक्ति को दिन में आठ ग्लास पानी पीने की सलाह देते हैं. लेकिन कई लोग ऐसे होते हैं जो ये जानते हुए भी पर्याप्त मात्रा (Sufficient quantity) में पानी नहीं पी पाते हैं. जिससे उनको कई  तरह की दिक्कतें होने का खतरा बना रहता है. ऐसे लोग शरीर में पानी की कमी को पूरा करने और इसे डिटॉक्स करने के लिए इंफ्यूज्ड वॉटर (Infused water) का सहारा ले सकते हैं. ये शरीर में पानी की कमी को तो पूरा करेगा ही साथ ही पोषक तत्वों को भी शरीर तक पहुंचाने में मदद करेगा. इसको आप अपने टेस्ट और सुविधा (convenience) के अनुसार तैयार कर सकते हैं. अगर आप नहीं जानते हैं कि इंफ्यूज्ड वॉटर क्या है और ये कैसे बनाया जाता है. तो आइये, यहां हम आपको इंफ्यूज्ड वॉटर के बारे में बताते हैं. जिससे आप भी इसका सेवन करके गर्मी के इन दिनों में शरीर को हाइड्रेट रख सकें.

क्या होता है इंफ्यूज्ड वॉटर और कैसे बनाते हैं, जाने

इंफ्यूज्ड वॉटर को अलग-अलग तरह के फल, सब्ज़ी और जड़ी-बूटी के अर्क से तैयार किया जाता है. इसको बनाने के लिए आप अपनी पसंद और स्वाद के अनुसार चीज़ों का चुनाव भी कर सकते हैं. इसके लिए फल, सब्ज़ी और जड़ी-बूटी को कुछ घंटों के लिए पानी में भिगोया जाता है. फिर इनको छान कर पानी का इस्तेमाल किया जाता है. इस तरह से उन चीज़ों के पोषक तत्व पानी में आ जाते हैं जिससे पानी पौष्टिक और स्वादिष्ट (Nutritious and tasty) हो जाता है. इंफ्यूज्ड वॉटर बनाने के लिए जिन चीज़ों का इस्तेमाल सबसे ज्यादा होता है उनके बारे में यहां बता रहे हैं.

ये भी पढ़ें: गर्मी में ठंडक देगा बेल का शर्बत, कब्ज और गैस की समस्‍या होगी दूर
 तुलसी


तुलसी की बीस-पच्चीस पत्तियों को धोकर एक जग पानी में डालें. इस पानी को तीन-चार घंटे तक ऐसे ही रख दें. आप चाहें तो फ्रिज में भी रख सकते हैं.  इस पानी को छानकर इसका सेवन कर सकते हैं.

तुलसी और नींबू



तुलसी की लगभग बीस-पच्चीस पत्तियों को धोकर एक जग पानी में डालें. इसमें एक नींबू के पतले स्लाइस काट कर डालें. इस पानी को तीन-चार घंटे तक ऐसे ही रख दें. इसके बाद छान कर इसका सेवन करें.

खीरा, नींबू और पुदीने की पत्ती

एक खीरा, एक नींबू और लगभग बीस-पच्चीस पुदीने की पत्तियों को अच्छी तरह से धोकर साफ़ कर लें. खीरे और नींबू के पतले स्लाइस काट लें. इन सभी चीज़ों को तीन-चार घंटे के लिए एक जग पानी में डाल कर रख दें. इसको छान कर इसका सेवन करें.ये

ये भी पढ़ें: दूध के साथ शहद मिलाकर पीने से शारीरिक कमजोरी होती है दूर, आज ही डाइट में करें शामिल

 नींबू, खीरा, पुदीना और स्ट्रॉबेरी


नींबू, खीरा और स्ट्रॉबेरी को धोकर इसके पतले स्लाइस काट लें. साथ ही पुदीने की पंद्रह-बीस पत्तियां भी धोकर रख लें. इन सभी को एक जग पानी में डालकर तीन-चार घंटे के लिए रख दें. अगर आपको पुदीने का स्वाद अच्छा लगता है तो चार-पांच पत्तियों को पीसकर पानी में मिला सकते हैं. इस पानी को छानकर जब भी चाहें इसका सेवन कर सकते हैं.

अदरक, दालचीनी और नींबू

दो इंच अदरक का टुकड़ा, एक नींबू और दो इंच दालचीनी का टुकड़ा लें. अदरक और नींबू के पतले स्लाइस काट लें. इसको एक जग पानी में डालें साथ ही इसमें  दालचीनी भी डालें. तीन-चार घंटे बाद छानकर इस पानी का सेवन करें.

ऐसे भी तैयार कर सकते हैं इंफ्यूज्ड वॉटर

आप अपनी  पसंद और स्वाद के अनुसार सेब और दालचीनी का, तुलसी और खीरे का, संतरा, नींबू, खीरा और पुदीना का कॉम्बिनेशन भी इंफ्यूज्ड वॉटर के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज