वर्क फ्रॉम होम से शरीर में हो रही हैं दिक्कतें, तो ऐसे करें कंट्रोल

वर्क फ्रॉम होम में काम करते हुए जंक फ़ूड की जगह हेल्दी खाएं-Image credit/pexels-sam-lion

वर्क फ्रॉम होम में काम करते हुए जंक फ़ूड की जगह हेल्दी खाएं-Image credit/pexels-sam-lion

वर्क फ्रॉम होम (Work From Home) करते हुए लगभग एक वर्ष बीत गया. इससे शरीर में शुगर, एसेडिटी, बैक पेन और वजन बढ़ने जैसी दिक्कतें (Problems) आ रही हैं. इनको नियंत्रित (Control) करने के लिए आप इन टिप्स को फॉलो कर सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 16, 2021, 6:25 AM IST
  • Share this:
कोरोना (Covid-19) का दौर जारी है और इस वायरस की वजह से पिछले लगभग एक वर्ष से, ज्यादातर कंपनियां अपने कर्मचारियों से घर से काम यानी वर्क फॉर्म होम करवा रही हैं. ऑफिस न जाने की वजह से काफी हद तक लोग कोरोना से तो अपना बचाव कर पा रहे हैं, लेकिन वजन, शुगर, बैक पेन और एसिडिटी जैसी कई  दिक्कतों को बढ़ने से नहीं रोक पा रहे हैं. दरअसल वर्क फ्रॉम होम के तहत एक जगह काफी देर बैठ कर काम करने और कुछ न कुछ खाने की आदत की वजह से लोगों को ये दिक्कतें आ रही हैं. हालाँकि ये दिक्कत कोरोना जितनी भयावह (Terrible) तो बिल्कुल नहीं है लेकिन फिर भी लोगों को इससे कुछ परेशानियां तो होने ही लगी हैं. वैसे इन दिक्कतों को दूर करना बहुत मुश्किल (Difficult) भी नहीं है. इनको दूर करने के लिए आप यहाँ बताए जा रहे इन टिप्स को अपना सकते हैं. जो वर्क फ्रॉम होम करते हुए, बढ़ते वजन, शुगर, बैक पेन और एसिडिटी जैसी कई और दिक्कतों को कंट्रोल करने में आपकी मदद कर सकते हैं.

अपना रूटीन सेट करें

वर्क फ्रॉम होम से पहले जब आप ऑफिस जाने के लिए घर से निकलते थे, उससे पहले सभी दैनिक क्रियाओं को निपटा लेते थे लेकिन अब आप ऐसा नहीं करते हैं. क्योंकि आपको घर में रखकर ही काम करना है इसलिए आप आराम से जागते हैं और बेड पर ही लेपटॉप पर काम शुरू देते हैं. ये सोचकर कि जब ज़रूरत होगी या जब समय मिलेगा तब दैनिक क्रियाओं को निपटा लिया जायेगा. ये आदत आपकी सेहत के लिए ठीक नहीं है इसलिए आप ऑफिस जाने की सोचकर सबसे पहले अपना रुटीन सेट करें. समय से जागें और समय पर दैनिक क्रियाओं को निपटाएं. इससे आप फ्रेश फील करेंगे.

ये भी पढ़ें: ऐसे पहचानें डिप्रेशन के शुरुआती लक्षण, इन घरेलू तरीकों से पाएं निजात


एक्सरसाइज-योग की आदत डालें


वर्क फ्रॉम होम आपको कोरोना से सुरक्षित रखने का एक तरीका है न कि आपकी आदत बिगाड़ने का. आपको ऑफिस जाना नहीं है इसलिए आप सीधे उस समय पर उठते हैं जब जॉब शुरू करनी होती है. पहले की तरह ही ये सोचकर कि ऑफिस जाना है आप समय से जागें और एक्सरसाइज़-योग जो करना चाहें करें. इससे आप खुद को फिट तो महसूस करेंगे ही साथ ही शरीर में होने वाली कई तरह की दिक्कतों को भी कंट्रोल कर सकेंगे. इससे आपकी आदत भी बनी रहेगी और जब फिर से ऑफिस जाने के दिन वापस आएंगे तो आपको कोई दिक्कत नहीं होगी.



ब्रेकफास्ट और लंच समय से और हेल्दी करें

घर में हैं जब मन होगा तब ब्रेकफास्ट और लंच कर लेंगे. ये सोचकर आप न तो ब्रेकफास्ट समय से करते हैं न ही लंच. फिर जब ब्रेकफास्ट या लंच करते हैं तो कुछ भी खा लेते हैं. इनका समय और डाइट प्लान निर्धारित नहीं करते हैं. इससे भी कई तरह की दिक्कतें आपके शरीर में हो सकती हैं. पहले आपको  सुबह ऑफिस के लिए निकलना होता था तो आप समय से और भर पेट ब्रेकफास्ट करते थे.ऑफिस में काम के चलते शायद ही आप दोपहर तक लंच के सिवा कुछ और खाते हों लेकिन अब घर में आप कभी भी कुछ भी खाते रहते हैं जिसकी वजह से आपके शरीर में कई तरह की दिक्कतें हो सकती हैं.

ये भी पढ़ें: फिट रहना चाहते हैं? तो आज ही छोड़ दें ये आदतें

 जंक फूड को बदलें हेल्दी फूड से


वर्क फ्रॉम होम के दौरान लोगों का वजन, एसिडिटी और शुगर जैसे दिक्कतें बढ़ने की एक वजह ये भी है कि काम करते हुए वो कुछ न कुछ खाते रहते हैं.ज्यादातर लोग इस दौरान जंक फ़ूड ही खाना पसंद करते हैं. कभी बेफर्स खा लिए तो कभी बर्गर, कभी पापड़ फ्राई करवा लिए तो कभी चाय-कॉफी काम के साथ चलती रहती है. इससे आपका वजन और शुगर बढ़ना लाज़मी है. अगर आपको काम के बीच में कुछ न कुछ खाने की आदत पड़ ही गयी है तो आप फल, जूस, सूप, छाछ या सलाद जैसी चीज़ों का सहारा ले सकते हैं. इससे आदत बदलने की ज़रूरत नहीं होगी और आपको हेल्दी डाइट भी मिलती रहेगी.

फिज़िकल एक्टिविटी पर भी ध्यान दें

वर्क फ्रॉम होम में काम का समय शुरू होने से कुछ पहले तक तो लोग बिस्तर में पड़े ही रहते हैं और जब काम शुरू करते हैं तो वर्क टारगेट पूरा करने में इतना बिजी हो जाते हैं कि कुछ पल के लिए अपनी जगह से उठ नहीं पाते हैं. यहाँ तक कि खाना-पीना भी काम के साथ ही चलता रहता है. इससे भी वजन, एसिडिटी, बैक पेन और शुगर ही नहीं कई और दिक्कतें भी शरीर में बढ़ सकती हैं. इसलिए ज़रूरी है कि काम के दौरान भी कुछ-कुछ मिनट के लिए आप ब्रेक लें और किसी न किसी काम के लिए अपनी जगह से हटकर चलते-फिरते रहें. फ्रेश एयर के लिए बालकनी, टैरिस या छत पर भी जाते रहें. इससे आप फिज़िकल तौर पर कुछ तो एक्टिव रहेंगे ही शरीर में बढ़ रही दिक्कतें भी कंट्रोल हो सकेंगी.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज