क्या वैक्सीन लगवाने के बाद भी हो सकता है कोरोना इन्फेक्शन ?

वैक्सीन लगवाने के बावजूद हैं इन्फेक्शन का खतरा, बरतें सावधानी

वैक्सीन लगवाने के बावजूद हैं इन्फेक्शन का खतरा, बरतें सावधानी

Know All About Corona Vaccination- कोविड-19 (COVID-19) वैक्सीन की दोनों डोज़ लेने के बावजूद कोरोना संक्रमण (Infection) होने का खतरा हो सकता है, इसलिए उन लोगों को भी आम लोगों की तरह सारी सावधानियां (Precautions) बरतनी होगीं जिससे वो संक्रमण से बच सकें.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 18, 2021, 6:39 AM IST
  • Share this:
Know All About Corona Vaccination- देश में कोरोना (Covid-19) की दूसरी लहर (Wave) पीक पर है. इससे बचने के लिए स्वास्थ्य विभाग हो या केंद्र और राज्य सरकार सभी कोविड वैक्सीनेशन करवाने की सलाह (Advice) दे रहे हैं. इसी क्रम में लोग वैक्सीनेशन करवाने पहुंच तो रहे हैं लेकिन एक सवाल सभी के मन में आ रहा है कि क्या वैक्सीनेशन के बाद कोरोना के इन्फेक्शन से बचा जा सकता है? इस सवाल की वजह है ऐसे कई मामलों का सामने आना, जहां वैक्सीनेशन की दोनों डोज़ लेने के बावजूद लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं. आइये जानते हैं इस बारे में.

क्या कोविड-19 वैक्सीन लेने के बाद भी हो सकता है संक्रमण ?

बीबीसी में प्रकाशित एक खबर के अनुसार, इस बात के कोई सुबूत नहीं हैं कि कोविड-19 वैक्सीन इन्फेक्शन को पूरी तरह रोक सकती है. लेकिन वैक्सीन लेने से इन्फेक्शन का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है और अगर इन्फेक्शन हो भी जाये तो व्यक्ति गंभीर रूप से बीमार होने से बचा रहता है. दरअसल वैक्सीन वायरस और बीमारी से लड़ने के लिए शरीर को तैयार करती है. अमेरिका के सेंटर ऑफ़ डिज़ीज़ कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) के अनुसार, वैक्सीन किसी बीमारी का इलाज नहीं करती बल्कि उन्हें होने से रोकती हैं और उनका असर कम करती हैं. अपने देश में वैक्सीन की दो डोज़ लेने के बावजूद कई लोग कोरोना संक्रमण का शिकार हुए हैं. लेकिन देखा गया है कि उन लोगों में संक्रमण तो है लेकिन बीमारी का असर कम है.

ये भी पढ़ें: गर्भ में पल रहे बच्चे को कोरोना वायरस से है कितना खतरा, जानें
 कोविड-19 वैक्सीनेशन के तहत कौन सी वैक्सीन दी जा रही


कोविड-19 वैक्सीनेशन के तहत अपने देश में जिस वैक्सीन की दो डोज़ दी जा रही हैं वो है कोविशील्ड और कोवैक्सीन. इनको ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ़ इंडिया (डीसीजीआई) द्वारा अनुमति दी गयी है. कोविशील्ड ऑक्सफ़ोर्ड-एस्ट्राज़ेनेका का संस्करण है और इसे अपने देश में सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया कंपनी ने बनाया है. वहीं कोवैक्सीन हमारे देश की अपनी बनाई गयी वैक्सीन है. जिसको भारत बायोटेक कंपनी इंडियन काउंसिल ऑफ़ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) के साथ मिलकर बनाया गया है.

जो लोग पहले हो चुके हो संक्रमित क्या उनको भी लेनी चाहिए वैक्सीन ?



जो लोग पहले कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं और अब नार्मल हैं उनको लगता है कि हमें वैक्सीन लेने की ज़रुरत नहीं है क्योंकि उनकी इम्यूनिटी स्ट्रांग हो चुकी है. लेकिन उन लोगों को भी वैक्सीनेशन करवाने की उतनी ही ज़रूरत है जितनी आम लोगों को है क्योंकि प्राकृतिक इम्यूनिटी ज़्यादा दिनों बनी नहीं रह सकती है. दूसरी ओर जो लोग वर्तमान में कोरोना संक्रमित हैं उनको संक्रमण के दौरान वैक्सीन नहीं लेनी चाहिए. उन लोगों को वैक्सीन ठीक होने के बाद ही लेना होगा.

ये भी पढ़ें: कोविड वैक्सिनेशन के बाद आप क्या कर सकते हैं और क्या नहीं, यहां जानिए

 वैक्सीन लगवाने के बाद क्या नहीं कर सकते हैं ?


वैक्सीन की दोनों डोज़ लेने के बाद भी आपको क्या नहीं करना चाहिए इस बारे में पिछले दिनों सीसीडी (Center for Disease Control and Prevention) यानी रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र द्वारा कुछ गाइडलाइंस जारी की गयी थीं. जिसका पालन आपको करते रहना होगा. सीडीसी के अनुसार जिन लोगों का वैक्सिनेशन हो चुका है उन लोगों को भी सार्वजनिक स्थानों में जाने पर मास्क को अच्छी तरह से पहनने की ज़रूरत है. साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की सलाह भी दी गयी है. उन लोगों को भी किसी भी समारोह और सभाओं में जाने से बचना होगा और सेनेटाइजर का इस्तेमाल करते रहना होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज