Home /News /lifestyle /

health news corona cases increasing must maintain social distancing wear mask follow covid protocol in hindi ans

फिर से बढ़ रहे हैं कोरोनावायरस के मामले, ना भूलें ये जरूरी बातें

कोरोना से बचाव के लिए फॉलो करें ये जरूरी बातें नहीं तो हो जाएंगे दोबारा संक्रमित.

कोरोना से बचाव के लिए फॉलो करें ये जरूरी बातें नहीं तो हो जाएंगे दोबारा संक्रमित.

Coronavirus protocol: कोरोना के मामले फिर से एक बार बढ़ने लगे हैं. एक्सपर्ट भी बार-बार चेतावनी दे रहे हैं कि कोविड प्रोटोकॉल का पालन सही से ना किया गया तो कोरोना की चौथी लहर भी आ सकती है. यदि आप नहीं चाहते हैं कि आपको दोबारा से कोविड हो, तो कोरोना से बचाव के लिए इन बातों का जरूर रखें ध्यान.

अधिक पढ़ें ...

Coronavirus protocol: कोरोनावायरस कुछ महीने शांत रहता है और फिर पांच-छह महीने के बाद मामलों में इजाफा नजर आने लगता है. कुछ दिनों से देश के कई राज्यों में कोरोना के मामले बढ़े हैं. देश की राजधानी दिल्ली में भी कोविड-19 के केसेस में बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है. हाल ही में कोरोना के नए वेरिएंट एक्सई (XE Variant) के आने से राज्य सरकारें अलर्ट हो गई हैं. वैसे, एक्सई वेरिएंट ओमिक्रोन का ही सब-वेरिएंट है, जिससे अधिक खतरा नहीं है. फिर भी स्कूल खुलने के बाद से कुछ स्कूलों में बच्चे संक्रमित भी पाए गए हैं. कुछ लोग तो अभी भी सावधानी बरतते हैं, लेकिन ऐसे लोगों की संख्या काफी कम है. लापरवाही बरतने वालों की तादाद ज्यादा है. इन्हीं सब वजहों से कोरोना के मामलों में अचानक से इजाफा होने लगता है. ऐसे में अभी भी लोगों को अलर्ट रहने की जरूरत है, क्योंकि अभी दूनिया से पूरी तरह से कोरोना गया नहीं है. लोग यूं ही लापरवाही बरतते रहेंगे, तो कभी भी कोरोना से पीछा नहीं छूटेगा. कुछ बातों का ख्याल अभी भी रखना बेहद जरूरी है.

इसे भी पढ़ें: कितना खतरनाक कोरोना का नया XE वेरिएंट? क्या हैं इसके लक्षण, किन बातों का रखें ध्यान, एक्सपर्ट से जानें

सामाजिक व्यवहार में ना करें ढिलाई
इस वायरस के खतरे को रोकने का एक ही तरीका है कि इसे फैलने से रोका जाए. अगर एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में वायरस का प्रसार ना हो, तो काफी हद तक मामलों में कमी आ सकती है. इससे वातावरण में भी वायरस का लोड कम होने की संभावना है. जरा सी भी लापरवाही बरती गई तो देर नहीं लगेगी कोरोना की चौथी लहर आने में. सोशल बिहेवियर में ढिलाई वायरस को पनपने और दोगुना बढ़ने का मौका दे सकता है.

गंभीर बीमारियों से पीड़ित लोगों के लिए है खतरा
टीओआई में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार, वैसे तो सभी आयु वर्ग के लोग संक्रमण की चपेट में आ सकते हैं. लेकिन, वर्तमान परिदृश्य की बात करें तो बुजुर्ग लोगों, गंभीर रोगों से ग्रस्त लोग जैसे डायलिसिस करा रहे मरीज, किडनी ट्रांसप्लांट, सीओपीडी, अस्थमा या अन्य सांस संबंधित बीमारियों, कीमोथेरेपी आदि सहित कैंसर का इलाज करवा रहे रोगियों में संक्रमण का खतरा सबसे अधिक रहता है. ऐसे में हर किसी को अलर्ट रहने की खास जरूरत है, क्योंकि यदि कोई स्वस्थ व्यक्ति भी संक्रमित होता है, तो अनजाने में न जाने कितने लोगों को संक्रमित कर सकता है.

इसे भी पढ़ें: Corona Symptoms in Kids: स्कूल खुलने से बढ़ी पेरेंट्स की चिंता, यूं पहचानें छोटे बच्चों में दिखने वाले कोरोना के लक्षण

मास्क पहना ना छोड़ें
कई लोग ऐसे हैं, जो मास्क पहनना बिल्कुल ही छोड़ दिए हैं. ऐसा करके वे खुद को तो संक्रमित करेंगे ही, परिवार, दोस्तों, ऑफिस सहकर्मियों आदि को भी संक्रमित कर देंगे. जरूरी है मास्क पहनना. अच्छी तरह से नाक और मुंह को बंद करने वाले मास्क पहनें, ताकि वायरस का शरीर में प्रवेश ना हो पाए. मास्क पहने के कई अन्य फायदे भी हैं. कोरोना से बचाव होने के साथ ही आप प्रदूषण से होने वाली समस्याओं से भी बचे रहते हैं. फेफड़े स्वस्थ रहते हैं. सिर्फ कपड़े का मास्क पहनने से ही वायरस के संक्रमण का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है.

जरूरी ना हो तो भीड़ में जानें से बचें
कोरोनावायरस से बचाव के लिए भीड़ में जानें से बचें. यदि आपको बहुत जरूरी काम है, तो ही बाहर जाएं. सार्वजनिक जगहों पर कई तरह के रोगजनक संक्रमणों के पनपने के लिए बेहतर जगह होता है. मास्क ना पहनना, 1 मीटर की शारीरिक दूरी ना बनाए रखना, सैनिटाइज के अनहेल्दी तरीके अपनाना, बंद जगहों पर प्रॉपर हवा का सर्कुलेशन ना होना कुछ ऐसे कारण हैं, जिनकी वजह से कोरोना महामारी के दौरान भीड़-भाड़ वाले फंक्शन, जगहों पर ना जाने की सलाह दी जाती है.

सर्दी-जुकाम में होम क्वारंटाइन में रहें
यदि आपको अंदर से अच्छा महसूस नहीं हो रहा है, बुखार या सर्दी-जुकाम है, तो बेहतर है कि आप होम क्वारंटाइन में रहें. अपना कोविड टेस्ट करा लें, ताकि जो भी आपके कॉन्टैक्ट में आया हो, उसका भी सही समय पर जांच हो जाए. जरूरी नहीं कि हर सर्दी-जुकाम, बुखार, बदन दर्द कोरोना ही हो, लेकिन सेफ्टी के लिए जरूरी है टेस्ट करा लेना, ताकि कोविड पॉजिटिव आने पर सही समय पर इलाज शुरू हो सके. क्वारंटाइन रहने से वायरस का प्रसार भी कम होता है.

हाथों की साफ-सफाई, सैनिटाइजेशन पर दें ध्यान
जब भी बाहर से आएं हाथों, चेहरे को जरूर पानी, साबुन से साफ करें. बाहर जाएं तो अपने साथ सैनिटाइजर रखें और बीच-बीच में इसका इस्तेमाल करते रहें. हाथों को सैनिटाइज करते रहने से ना सिर्फ कोरोना से बचाव होगा, बल्कि कई अन्य बैक्टीरियल, वायरल इंफेक्शन से भी बचे रह सकते हैं.

कोविड वैक्सीन लगवाएं
यदि आपने अब तक कोरोना का टीका नहीं लगवाया है, तो जरूर लगवा लें. बच्चों को भी वैक्सीन लगवाएं. जिन्होंने दोनों डोज ले लिया है, वे बूस्टर डोज समय पर लगवाकर अपने और अपने परिवार को कोरोनावायरस से सुरक्षित रखें.

Tags: Coronavirus, Health News, Health tips, Lifestyle

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर