गर्मियों में आप भी हो सकते हैं डिहाइड्रेशन के शिकार, जानें इसकी वजह और बचाव के उपाय

गर्मियों में डिहाइड्रेशन की कमी को दूर करने के लिए नींबू पानी सबसे उत्तम उपाय है.Image Credit : Pexels/Daria Shevtsova

गर्मियों में डिहाइड्रेशन की कमी को दूर करने के लिए नींबू पानी सबसे उत्तम उपाय है.Image Credit : Pexels/Daria Shevtsova

जब आप कम पानी (Water) पीते हैं और शरीर से तरल पदार्थ (Liquid) अधिक मात्रा में बाहर निकल जाता है तो यह डिहाइड्रेशन (Dehydration) की वजह बन जाता है. ऐसे में पानी पीते रहना बहुत जरूरी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 23, 2021, 6:24 AM IST
  • Share this:
Dehydration In Summer: गर्मी के मौसम में अगर पानी (Water) पीने के बावजूद आपकी प्‍यास नहीं बुझ रही और आप लगातार कमजोरी महसूस कर रहे हैं तो यह डिहाइड्रेशन (Dehydration) का लक्षण हो सकता है. अगर आप इसका तुरंत इलाज नहीं किए तो यह जानलेवा भी हो सकता है. हेल्‍थ लाइन के अनुसार, दरअसल जब आप कम पानी पीते हैं और लगातार पसीना (Excessive Sweating)आने और पेशाब की वजह से तरल पदार्थ अधिक मात्रा में शरीर से बाहर निकल जाता है तो यह डिहाइड्रेशन की वजह बन जाता है. ऐसे में शरीर में तुरंत पानी की आपूर्ति बहुत जरूरी हो जाती है. अगर तुरंत ऐसा ना किया गया तो शरीर के कई अंग, टिश्‍यू और सेल काम करना बंद कर देते हैं जिससे शरीर में कई तरह के कॉम्‍प्‍लीकेशन पैदा हो जाते हैं.

कितना पानी पीना है जरूरी

मायो क्‍लीनिक के अनुसार, हर महिला को रोजाना कम से कम 11.5 कप पानी पीना हीं चाहिए जबकि पुरुषों को एक दिन में 15.5 कप पानी की जरूरत पड़ती है. इसके अलावा जो लोग अधिक शारीरिक मेहनत करते हैं या एथेलीट हैं उन्‍हें और भी अधिक पानी पीने की सलाह दी जाती है.

इसे भी पढ़ें : हाई कोलेस्ट्रॉल से हैं परेशान तो इन 7 फूड्स को अपनी डाइट में करें शामिल
हॉस्पिटल कब ले जाएं

अगर माइल्‍ड डिहाइड्रेशन की शिकायत है तो आप इसका इलाज घर पर हीं कर सकते हैं. लेकिन अगर डिहाइड्रेशन की वजह से बेहोशी जैसी स्थिति हो रही है तो तुरंत हॉस्पिटल जाना चाहिए. इसके लक्षण की बात करें तो लो ब्‍लड प्रेशर, बहुत पसीना निकलना, हार्ट रेट बढ़ना, डार्क यूरीन होना, धंसी आंखें आदि इसके लक्षण होते हैं.

कब डिहाइड्रेशन की होती है शिकायत



-जो लोग शारीरिक मेहतन अधिक करते हैं और बहुत अधिक पसीना निकलने के बावजूद सही मात्रा में पानी नहीं पीते उनमें इसकी शिकायत अधिक होती है.

-अत्‍यधिक उल्‍टी या दस्‍त होने पर भी यह समस्‍या हो सकती है.

-हाई फीवर होने पर शरीर को नेचुरल तरीके से ठंडा करने के लिए पसीना निकलता है जिससे कई बार बुखार के वक्‍त शरीर में पानी की कमी हो सकती है.

- अगर कई बार पेशाब जाने पर भी पानी ना पिया जाए तो शरीर में पानी की कमी हो सकती है.

इसे भी पढ़ें : क्‍या है अप्लास्टिक एनीमिया, इन कारणों से नहीं बनता शरीर में नया ब्‍लड

क्‍या है घरेलू उपाय 

-छाछ पोटैशियम और मैग्‍नीशियम से भरपूर एक नेचुरल प्रोबायोटिक है जो दो चार बार के प्रयोग के बाद डिहाइड्रेशन में सुधार ला सकता है.

-सूप का प्रयोग भी शरीर में मिनरल्‍स के साथ पानी की आपूर्ति करता है.

- ग्रीन टी एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर ड्रिंक है जो शरीर को तुरंत हाइड्रेट करता है.

-नारियल पानी के सेवन से शरीर में पोटैशियम और सोडियम की तुरंत आपूर्ति होती है जिससे डिहाइड्रेशन को नियंत्रित किया जा सकता है.

- इसके अलावा नींबू पानी, जूस, ओआरएस आदि भी काफी फायदेमंद है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज