सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस के दर्द से हैं परेशान, तो करें ये उपाय, तुरंत दिखेगा असर

लैपटॉप के ज्‍यादा प्रयोग से भी युवाओं में सर्वाइकल स्पोंडिलोसिस की प्रॉब्‍लम बढ़ी है.Image Credit : Pixabay

लैपटॉप के ज्‍यादा प्रयोग से भी युवाओं में सर्वाइकल स्पोंडिलोसिस की प्रॉब्‍लम बढ़ी है.Image Credit : Pixabay

Cervical Spondylitis Home Remedies : सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस के 90 प्रतिशत मरीज 60 साल से अधिक के होते हैं. हालांकि आज की लाइफ स्‍टाइल में यह प्रॉब्‍लम वर्किंग युवाओं में भी देखने को मिल रही है.

  • Share this:
Cervical Spondylosis Home Remedies- सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस (Cervical Spondylosis) बहुत ही कॉमन हेल्‍थ प्रॉब्‍लम है जो आमतौर पर उम्र से संबंधित मानी जाती है. इसमें सर्वाइकल स्‍पाइन की हड्डियां और कार्टिलेज कमजोर हो जाते हैं. इसके अलावा लंबे समय तक डेस्क का काम, गलत पोश्‍चर में बैठना-सोना, कठोर तकिए का इस्तेमाल और हड्डियों का अपने स्थान से खिसक जाना, ट्यूमर या मांसपेशियों में मोच, गर्दन के स्पाइन में अर्थराइटिस आदि से भी यह समस्‍या बढ़ जाती है. क्‍लेवलैंड क्लिनिक के मुताबिक, सर्वाइकल स्पोंडिलाइटिस के 90 प्रतिशत मरीज 60 साल से अधिक के होते हैं.

हालांकि आज की लाइफ स्‍टाइल में यह प्रॉब्‍लम वर्किंग युवाओं में भी देखने को मिल रही है जिसकी सबसे बड़ी वजह होम ऑफिस और लैपटॉप का अत्‍यधिक प्रयोग है. हेल्‍थलाइन न्‍यूज के मुताबिक, सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस की वजह से स्‍पाइन एरिया में भयानक दर्द और स्टिफनेस आ जाती है. अगर आप भी सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस के दर्द से परेशान हैं तो यहां दिये घरेलू उपायों की मदद से  इस दर्द और स्टिफनेस से राहत पा सकते हैं.

1.सिंकाई करें



सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस के सीवियर पेन से रिलीफ पाने के लिए गर्दन और कंधे पर कोल्‍ड और हीट पैड से सिंकाई करें. इससे स्टिफनेस कम होगी और मांसपेशियों को दर्द से आराम मिलेगा.
इसे भी पढें : आयुर्वेदिक गुणों से भरपूर हैं सहजन की पत्तियां, कई बीमारियों को रखती हैं दूर


2. योग करें

कुछ योग मुद्राएं जैसे पद्मासन, यष्टिकासन, ताड़ासन सर्वाइकल स्पोंडिलाइटिस के दर्द को कम करने में बहुत मददगार होती हैं. सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस के दर्द को कम करने के लिए इसे नियमित रूप से करें.

3. एक्‍सरसाइज करें

सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस के दर्द से बचने के लिए रोजाना एक्‍सरसाइज करें. कुछ दिनों में इसका असर दिखने लगेगा और आप रिकवर जल्‍द कर पाएंगे.

4. आयुर्वेद का लें सहारा

जड़ी-बूटी जैसे हल्‍दी, अदरक, मेथी, अश्‍वगंधा और गुग्‍गुल को अपनी दिनचर्या में शामिल करें. इनमें एंटी-इंफ्लेमेंटरी गुण होते हैं जो सर्वाइकल स्पोंडिलाइटिस के दर्द को कम करने में मदद करते हैं. मेथी, अदरक, हल्‍दी जैसी जड़ी-बूटी को अपने भोजन में शामिल करें लेकिन गुग्‍गुल और अश्‍वगंधा को बिना एक्‍सपर्ट के सजेशन के ना इस्‍तेमाल करें.

इसे भी पढ़ें : स्‍पाइसी फूड के सिर्फ नुकसान ही नहीं फायदे भी हैं, कई बीमारियों को रखता है दूर

5. नहाने में करें खास नमक का प्रयोग

नहाने के लिए गुनगुना पानी लें और इसमें एप्‍सोम सॉल्‍ट (Epsom Salt Bath) का प्रयोग करें. इसमें मौजदू मैग्‍नेजियम स्टिफनेस, सूजन को कम करता है. कंधे और गर्दन के दर्द में भी यह आराम देता है. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज