Benefits of Giloy Juice- गिलोय जूस है इम्यूनिटी के लिए अमृत, जानें इसके फायदे

गिलोय का इस्तेमाल कई बीमारियों में किया जाता है. (credit: shutterstock/Kumar Jatinder)

गिलोय का इस्तेमाल कई बीमारियों में किया जाता है. (credit: shutterstock/Kumar Jatinder)

Benefits of Giloy Juice- गिलोय की पत्तियां बैक्टीरिया और वायरस जनित कई बीमारियों को जड़ से खत्म करने की क्षमता रखती हैं. गिलोय का काढ़ा शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाकर बीमारियों से लड़ने की ताकत प्रदान करता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 15, 2021, 1:28 PM IST
  • Share this:
Health Benefits of Giloy Juice- कोविड 19 (COVID ​​-19) की दूसरी लहर काफी जानलेवा साबित हो रही है. कोरोना से बचने के लिए हालांकि वैक्सीन और कई दवाइयां भी मार्केट में आ गई हैं लेकिन कई ऐसे मामले भी सामने आए हैं जहां वैक्सीन लगवाने के बाद भी कोरोना संक्रमण हुआ है. ऐसे में बेहतर है कि बॉडी की रोग प्रतिरोधक क्षमता अच्छी हो ताकि शरीर हर वायरस से लड़ने में सक्षम हो. गिलोय एक ऐसी ही आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी है जोकि बॉडी की इम्यूनिटी मजबूत करती है. गिलोय की पत्त‍ियों में कैल्शि‍यम, प्रोटीन, फॉस्फोरस पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है. इसके अलावा इसके तनों में स्टार्च की भी अच्छी मात्रा होती है. गिलोय का इस्तेमाल कई तरह की बीमारियों में किया जाता है. ये एक बेहतरीन पावर ड्रिंक भी है. ये इम्यून सिस्टम को बूस्ट करने का काम करती है, जिसकी वजह से कई तरह की बीमारियों से सुरक्षा मिलती है.

गिलोय की पत्तियां बैक्टीरिया और वायरस जनित कई बीमारियों को जड़ से खत्म करने की क्षमता रखती हैं. पतंजलि आयुर्वेद के संस्थापक और योग गुरु स्वामी रामदेव ने बताया था कि गिलोय का काढ़ा शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाकर बीमारियों से लड़ने की ताकत प्रदान करता है. गिलोय का इस्तेमाल बहुत पहले से ही बुखार को ठीक करने के लिए किया जाता रहा है. गिलोय का काढ़ा कई दिन तक लगातार सेवन करने से पुराने से पुराना बुखार भी ठीक हो जाता है. ऐसे में इसका सेवन लाभकारी साबित हो सकता है. एनडीटीवी की खबर के अनुसार आइए आपको बताते हैं इसके कुछ और फायदों के बारे में.

इसे भी पढ़ें: COVID-19 Symptoms in Kids: बच्चों में दिखें कोरोना संक्रमण के ये लक्षण तो ऐसे करें बचाव

खून साफ करता है गिलोय-
गिलोय एंटीऑक्सिडेंट की तरह काम करती है जो कि झुर्रियों से लड़ने में मदद करती है. इसके अलावा यह कोशिकाओं को स्वस्थ और निरोग रखने में अहम भूमिका निभाती है. गिलोय की पत्तियां शरीर से टॉक्सिन को बाहर निकालती हैं. साथ ही खून को साफ करती हैं, बीमारियों से लड़ने वाले बैक्टीरिया की रक्षा करती हैं और यूरीन की समस्या से भी निजात दिलाती हैं.

गिलोय मजबूत करती है पाचनतंत्र-

गिलोय का इस्तेमाल पाचन में सुधार और आंत संबंधी समस्याओं से निजात के लिए किया जाता है. रोजाना आधा ग्राम गिलोय के साथ आंवला पाउडर लेने से पाचन शक्ति मजबूत होती है. कब्ज के इलाज के लिए इसे गुड़ के साथ लेना चाहिए.



सांस संबंधी बीमारी में गिलोय है फायदेमंद-

गिलोय के इस्तेमाल से सांस संबंधी रोग जैसे अस्थमा और खांसी में फायदा होता है. इसे नीम और आंवला के साथ मिलाकर इस्तेमाल करने से त्वचा संबंधी रोग जैसे एग्जिमा और सोराइसिस दूर किए जा सकते हैं. यह पीलिया और कुष्ठ रोगों में भी फायदेमंद है. इसके साथ ही सूजन कम करने, गठिया और आर्थेराइटिस से बचाव में बहुत फायदेमंद है. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज