Home /News /lifestyle /

पीरियड्स के दर्द में राहत से लेकर एंटी एजिंग तक का काम करती है अशोक की छाल, जानें इसके फायदे

पीरियड्स के दर्द में राहत से लेकर एंटी एजिंग तक का काम करती है अशोक की छाल, जानें इसके फायदे

अशोक की छाल को पानी में उबालकर काढ़ा तैयार कर लें.

अशोक की छाल को पानी में उबालकर काढ़ा तैयार कर लें.

Health Benefits Of Ashok Tree: जिन महिलाओं के पीरियड्स (Menstruation) अनियमित होते हैं, उनके लिए अशोक का पेड़ औषधि (Medicine) की तरह काम करता है.

    Health Benefits Of Ashok Tree: अशोक का पेड़ कई बीमारियों के लिए रामबाण औषधि (Medicine) की तरह काम करता है. अशोक के पेड़ की छाल, पत्ते, जड़ या इसके फूल, ये सभी आयुर्वेद में औषधि के रूप में प्रयोग किए जाते हैं. इस पेड़ का सबसे ज्यादा उपयोग महिलाओं की विभिन्न प्रकार की बीमारियों को दूर करने के लिए होता है जिनमें यूरिन संबंधी समस्याओं से लेकर पीरियड के दर्द में राहत देना तक शामिल है. आइए जानते हैं महिलाओं की किन समस्याओं को दूर करने में अशोक का पेड़ उपयोगी है.

    पीरियड्स में फायदेमंद
    महिलाओं में हॉर्मोनल बदलाव के कारण वाइट डिस्चार्ज और अनियमित पीरियड्स की दिक्कत होती है. जिन महिलाओं को पीरियड्स के दौरान ब्लीडिंग बहुत ज्यादा होती है या जिन महिलाओं के पीरियड्स अनियमित होते हैं, उनके लिए अशोक का पेड़ औषधि की तरह काम करता है. इस्तेमाल के लिए अशोक की छाल को पीसकर उसके अंदर धागे वाली मिश्री को बराबर मात्रा में मिला लें. इसके बाद दिन में तीन बार इसका सेवन करें. इसका काढ़ा बनाकर दिन में दो बार पिया भी जा सकता है.

    इसे भी पढ़ेंः कंधे और पीठ की अकड़न को दूर करने के लिए करें ये 4 खास योगासन

    यूरिन संबंधित परेशानियों को दूर करे
    अगर किसी महिला को यूरिन संबंधित कोई समस्या है तो इसमें अशोक के बीज का इस्तेमाल काफी फायदेमंद साबित हो सकता है. अशोक के बीजों को पीसकर इसका सेवन करने से यूरिन संबंधित समस्या से छुटकारा मिलता है. महिलाओं में यूरीनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन एक आम बीमारी है, जिसमें यूरिन में जलन होती है, साथ ही बुखार आ जाता है. इससे महिलाओं की किडनी खराब होने तक की नौबत आ सकती है. यदि समय पर इसका इलाज नहीं कराया गया तो तकलीफ और अधिक बढ़ सकती है.

    गर्भधारण में उपयोगी
    कई महिलाओं में गर्भधारण के बाद बार-बार गर्भपात का खतरा होता है. इसमें अशोक के फूल जड़ी-बूटी का काम करते हैं. गर्भधारण में कोई समस्या न आए, इसके लिए अशोक के फूल में दही मिलाकर रोज इसका सेवन करना चाहिए. इससे गर्भधारण करने में आसानी होती है और गर्भपात होने का खतरा भी कम होता है.

    एंटी एजिंग का काम करती है अशोक की छाल
    महिलाओं में अक्सर हॉर्मोंस के बदलाव होते रहने की वजह से फोड़े फुंसी की परेशानी बनी रहती है. ऐसे में अशोक की छाल को पानी में उबालकर काढ़ा तैयार कर लें और रोज इसका सेवन करें. इसके अलावा सरसों का तेल अशोक की छाल में मिक्स करके फोड़े-फुंसी वाले स्थान पर लगाने से भी यह समस्या ठीक होती है और त्वचा में निखार आता है. यह एंटी एजिंग में भी मददगार है.

    इसे भी पढ़ेंः डायबिटीज के मरीजों को इन खास फलों से करना चाहिए परहेज, नहीं तो हो सकता है नुकसान

    किडनी में स्टोन होने का खतरा कम
    किडनी में स्टोन होने पर अशोक के बीज काफी काम आते हैं. इसके लिए अशोक के बीज पानी में मिलाकर अच्छी तरह पीस लें. फिर इस मिश्रण का दिन में तीन बार सेवन करें. इससे किडनी स्टोन की वजह से दर्द की समस्या कम होगी और स्टोन भी धीरे धीरे कम हो जाएगा.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

    Tags: Health, Health tips, Lifestyle

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर