Home /News /lifestyle /

स्‍वाद ही नहीं, सेहत के लिए भी फायदेमंद हैं ये 6 भारतीय मसाले, एसिडिटी से लेकर कब्‍ज तक में आता है काम

स्‍वाद ही नहीं, सेहत के लिए भी फायदेमंद हैं ये 6 भारतीय मसाले, एसिडिटी से लेकर कब्‍ज तक में आता है काम

अजवाइन अपच की समस्‍या को ठीक करने में फायदेमंद है. Image Credit : shutterstock

अजवाइन अपच की समस्‍या को ठीक करने में फायदेमंद है. Image Credit : shutterstock

Health Benefits Of These 6 Indian Spices : भारतीय मसालों (Indian Spices) में कई ऐसे मसाले हैं जिन्‍हें आयुर्वेद में दवाओं (Medicine) के रूप में उपयोग किया जाता है. ये सेहत के लिए काफी फायदेमंद होते हैं. अगर इनका सेवन सही तरीके से किया जाए तो पेट में होने वाली अनपच, कब्‍ज, खट्टी डकार, गैस (Acidity) बनना जैसी समस्‍याओं का उपचार किया जा सकता है. अगर हम एक चम्मच जीरा भून कर ठंडा कर लें और बारीक पीसकर शहद या पानी मिलाकर रोज खाली पेट पिएं तो डाइजेशन तेजी से बेहतर होगा.

अधिक पढ़ें ...

    Health Benefits Of These 6 Indian Spices : भारतीय व्‍यंजनों की‍ डिमांड दुनियाभर में है. अगर इसकी सबसे खास वजह को जाना जाए तो वो है भारतीय मसालों (Indian Spices) का अनूठे अंदाज में प्रयोग. जी हां, ये खाने के स्‍वाद को तो बढाते ही हैं, इनके सेवन से पेट की कई समस्‍याओं में भी आराम मिलता है. दरअसल भारतीय किचन में जो सबसे खास मसाले हैं वे पाचनतंत्र को बेहतर तरीके से काम करने में काफी मदद करते हैं. अगर इनका सेवन सही तरीके से किया जाए तो पेट में होने वाली अनपच, कब्‍ज, खट्टी डकार, गैस (Acidity) बनना जैसी समस्‍याओं का उपचार किया जा सकता है. यहां हम आपको बता रहे हैं उन छह मसालों के बारे में, जो हमारे पेट की सेहत के लिए काफी फायदेमंद (Benefits) होते हैं.

    1.जीरा का उपयोग

    दाल में छौंक लगानी हो या कोई तरकारी बनाना हो, जीरा का उपयोग भारतीय व्‍यंजनों में हमेशा किया जाता है. यह स्‍वाद को तो बढाता ही है पाचन को भी ठीक रखता है. अगर हम एक चम्मच जीरा भून कर ठंडा कर लें और बारीक पीसकर शहद या पानी मिलाकर रोज खाली पेट पिएं तो डाइजेशन तेजी से बेहतर होगा.

    इसे भी पढ़ें : शरीर में हो गई है खून की कमी, तो इन चीजों को आज से ही करें अपने डाइट में शामिल

    2.अजवायन का उपयोग

    अजवाइन भी अपच की समस्‍या को ठीक करने के लिए काफी फायदेमंद होता है. यह गैस और एसिडिटी के इलाज के लिए सबसे लोकप्रिय घरेलू उपचारों में से एक है. दरअसल इसमें थाइमोल  तेल होता है जो गैस्ट्रिक रस को छोड़ता है जिससे एसिडिटी से राहत मिलती है. आप अगर एक कप पानी में एक चम्मच अजवायन डालकर उबालें और चाय की तरह पिएं तो आपको तुरंत आराम मिलेगा.

    3.अदरक का प्रयोग

    दरअसल अदरक में कार्मिनटिव तत्‍व होते हैं जो गट के लिए फायदेमदं होता है. आप अदरक की चाय पिएं तो पेट में गैस बनना या अनपच आदि की समस्‍या ठीक हो सकती है.

    4.हींग का प्रयोग

    हींग का एसिडिटी और खट्टे डकारों के इलाज के लिए काफी उपयोगी होता है. यह गैस, अपच और किसी तरह के पेट की समस्‍या के इलाज में मदद करता है. इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी, कार्मिनेटिव और पाचक गुण होते हैं जो उपचार के लिए काफी उपयोगी है.

    इसे भी पढ़ेंः बीमारियों से बचने के लिए जरूर पिएं Coconut Milk, मोटापा करता है कम

    5.इलायची का उपयोग

    इलाइची में एक खास तत्‍व होता है जो लार ग्रंथियों (salivary glands) को उत्तेजित करते हैं और एसिडिटी से होने वाली जलन को कम करने के साथ-साथ आपकी भूख में सुधार करता है.

    6. दालचीनी का उपयोग

    पेट में गैस बनना, अनपच आदि हो तो दालचीनी का सेवन कर आप राहत पा सकते हैं. यह एक प्राकृतिक पाचन की तरह काम करता है जो आमतौर पर रिच इंडियन फूड रेसेपीज में प्रयोग किया जाता है. इसके प्रयोग से खाना को पचाना आसान हो जाता है.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

    Tags: Health benefit, Lifestyle

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर