कोलेस्ट्रॉल है हाई तो इस तरह करें कम, वरना बढ़ सकती है मुश्किलें

अपने भोजन में ओमेगा 3 फैटी एसिड को शामिल करें. Image Credit : Pexels/ Nathan Cowley

अपने भोजन में ओमेगा 3 फैटी एसिड को शामिल करें. Image Credit : Pexels/ Nathan Cowley

How To Reduce Cholesterol: शरीर (Body) को सुचारू तरीके से चलाने के लिए रक्त (Blood) में कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) सही मात्रा में होना जरूरी है. अगर ये कम या ज्‍यादा हो जाती है तो कई तरह की बीमारियां होने की संभावना बढ़ जाती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 23, 2021, 12:40 PM IST
  • Share this:
खराब लाइफस्टाइल (Lifestyle) और बदलते खानपान (Food) की वजह से इन दिनों बहुत से लोगों में कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) बढ़ने की समस्या देखने को मिल रही है. कोलेस्ट्रॉल बढ़ने की वजह से कई बीमारियों के होने का खतरा भी बढ़ जाता है. हालांकि शरीर को सुचारू तरीके से चलाने के लिए रक्त में कोलेस्ट्रॉल सही मात्रा में होना जरूरी है लेकिन ये अगर सामान्‍य की तुलना में कम या ज्‍यादा हो जाती है तो शरीर में कई तरह की समस्‍याएं होने लगती हैं. ऐसे में यह बहुत ही जरूरी है कि हम खुद को सेहतमंद रखने के लिए हेल्‍दी भोजन करें और एक्टिव लाइफ जिएं. मेडलाइन प्‍लस के मुताबिक, शरीर में तीन तरह के कोलेस्‍ट्रॉल होते हैं जो हमारे शरीर के सभी अंगों को प्रभावित करते हैं.

1.एलडीएल कोलेस्ट्रॉल

लो डेन्सिटी लिपोप्रोटीन(एलडीएल) बुरे कोलेस्ट्रॉल के नाम से जाना जाता है. लो डेनसिटी लिपोप्रोटीन्स धीरे-धीरे हृदय और मस्तिष्क को रक्त प्रवाह करने वाली धमनियों की भीतरी दीवारों पर जमां होता जाता है जिससे हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा बन जाता है.

2.एचडीएल कोलेस्ट्रॉल
हाई डेन्सिटी लिपोप्रोटीन (एचडीएल) अच्छे कोलेस्ट्रॉल के नाम से जाना जाता है. इससे हेल्‍दी हार्ट का पता चलता है.

3.वीएलडीएल कोलेस्ट्रॉल

वेरी लो डेन्सिटी लिपोप्रोटीन (वीएलडीएल) एलडीएल कोलेस्ट्रॉल से भी ज्यादा खतरनाक होता है. इससे हार्ट की बीमारियों की आशंका अधिक बढ़ जाती है.



ये भी पढ़ेंः मेंटली और फिजिकली रहना है एक्टिव तो रोज करें एक्सरसाइज, मिलेंगे ये 10 फायदे

कोलेस्‍ट्रॉल कम करने के लिए लाइफ स्‍टाइल में लाएं ये  7 बदलाव

1.सेचुरेटेड फैट से रहें दूर

रेड मीट और फुल फैट डेयरी प्रोटक्‍ट में सेचुरेटेड फैट होते हैं जो बैड कोलेस्‍ट्रॉल को बढ़ाते हैं. ये धीरे-धीरे हार्ट और ब्रेन तक जाने वाली रक्त प्रवाह धमनियों की भीतरी दीवारों में जमा होते जाते हैं जिससे हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा बन जाता है.

3.ओमेगा 3 फैटी एसिड

अगर आप अपने भोजन में ओमेगा 3 फैटी एसिड को शामिल करते हैं तो यह बैड कोलेस्‍ट्रॉल को नहीं बढ़ने देता है. हार्ट को हेल्‍दी रखने में यह मदद करता है. यही नहीं, यह ब्‍लड प्रेशर को भी सामान्‍य बनाता है. ऐसे में आप सेल्‍मन फिश, अखरोट और फ्लेक्‍ससीड जैसे ओमेगा 3 फैटी एसिड से भरपूर खाद्य पदार्थ को अपने भोजन में शामिल कर सकते हैं.

4.फाइबर युक्‍त भोजन

आप अपने भोजन में फाइबर युक्‍त भोजन को शामिल करें. यह ब्‍लड स्‍ट्रीम में बैड कोलेस्‍ट्रॉल के ऑब्‍जर्बशन को कम करने के काम आता है. इसके लिए आप राजमा, ओटमील, सेव आदि को भोजन में शामिल करें.

5.एक्‍सरसाइज करें

जब आप रोजाना एक्‍सरसाइज करते है तो आपके शरीर में गुड कोलेस्‍ट्रॉल बढ़ते हैं जो आपके हार्ट को हेल्‍दी रखते हैं. ऐसे में रोजाना वॉक पर जाएं, योगा-एरोबिक्‍स करें, स्‍पोर्ट्स, स्‍वीमिंग आदि को जरूर अपनी दिनचर्या में शामिल करें.

इसे भी पढ़ें : 60 के बाद भी आप दिख सकते हैं चुस्‍त दुरुस्‍त, इन टिप्‍स को अपनाकर बने रहें यंग





6.स्‍मोकिंग से रहें दूर

अगर आप स्‍मोकिंग करते हैं तो यह आपके हार्ट और ब्‍लड स्‍ट्रीम को बुरी तरह क्षतिग्रस्‍त करती हैं. यह बैड कोलस्‍ट्रॉल को बढ़ाती है. लेकिन जैसे ही आप स्‍मोकिंग छोड़ते हैं आपका ब्‍लड प्रेशर और हार्ट रेट रिकवर करने लगता है. इसलिए स्‍मोकिंग से दूरी बनाएं.

7.वजन करें कम

जहां तक हो सके फैट बढ़ाने वाले भोजन से दूर रहें. आपका बढ़ता वजन आपके शरीर में बैड कोलेस्‍ट्रॉल को बढ़ने में मदद करता है.  इसके लिए अपने भोजन में हेल्‍दी चीजों को शामिल करें और एक्टिव लाइफ लीड करें.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज