होम /न्यूज /जीवन शैली /

बुरी आदतों से कैसे करें किनारा? एक्सपर्ट की बताई ये 4 एडवाइज करेंगी हेल्प

बुरी आदतों से कैसे करें किनारा? एक्सपर्ट की बताई ये 4 एडवाइज करेंगी हेल्प

किसी भी पुरानी आदत को तुरंत छोड़ना इतना आसान नहीं होता, लेकिन कुछ समय और प्रयास से आदतों को बदला जा सकता है. (फोटो-canva.com)

किसी भी पुरानी आदत को तुरंत छोड़ना इतना आसान नहीं होता, लेकिन कुछ समय और प्रयास से आदतों को बदला जा सकता है. (फोटो-canva.com)

Break away from Bad Habits : हमारी कुछ आदतें जीवन को एक जगह रोके खड़ी हैं, लेकिन फिर भी हम उनसे छुटकारा नहीं ले पाते. हम उसमें सुधार को लेकर खुद को बेबस महसूस करते हैं. जैसे आप सोशल मीडिया पर या गेम खेलने में बहुत अधिक समय बिताते हैं, ये जानते हुए भी कि ये आपके लिए अच्छा नहीं है. ऐसी और भी कई आदतें होंगी जिसे आप छोड़ना चाहते होंगे, पर छोड़ नहीं पाए होंगे. तो आपको भी इन चार सलाहों को मानने में देरी नहीं करनी चाहिए.

अधिक पढ़ें ...

Break away from Bad Habits : कई बार जिंदगी में ऐसा होता है कि हम अपनी आदतों के सामने मजबूर हो जाते हैं. हम ये जानते हैं कि हमारी कुछ आदतें जीवन को एक जगह रोके खड़ी हैं, लेकिन फिर भी हम उनसे पार नहीं पा पाते. हम उसमें सुधार को लेकर खुद को बेबस महसूस करते हैं. जैसे आप सोशल मीडिया पर या गेम खेलने में बहुत अधिक समय बिताते हैं, ये जानते हुए भी कि ये आपके लिए अच्छा नहीं है. ऐसी और भी कई आदतें होंगी. जिसे आप छोड़ना चाहते होंगे, पर छोड़ नहीं पाए होंगे. किसी भी पुरानी आदत को तुरंत छोड़ना इतना आसान नहीं होता, लेकिन कुछ समय और प्रयास से आदतों को बदला जा सकता है. हिंदुस्तान अखबार में छपी रिपोर्ट में लॉ ऑफ अट्रैक्शन (Law Of Attraction) की डॉ करिश्मा आहूजा (Dr Karishma Ahuja) ने इससे जुड़े कुछ टिप्स बताएं है.

तो अगर आप भी लाइफ में ऐसे ही किसी संकट से जूझ रहे हैं और अपने अंदर सकारात्मक बदलाव लाना चाहते हैं तो आपको भी इन चार सलाहों को मानने में देरी नहीं करनी चाहिए.

बुरी आदतों की लिस्ट बनाएं
ऐसी आदतें, जिन्हें आप बदलना चाहते हैं, उसकी एक लिस्ट बनाएं. अपनी आदतों की लिस्ट बनाना आपको अपने बारे में बुरा महसूस कराने के लिए नहीं है. बल्कि आपको उन चीजों के बारे में अधिक जागरूक बनाने के लिए है, जिन्हें आप बदलना चाहते हैं. उन सभी को बदलने की कोशिश करने की बजाय, बस एक या दो को चुनें. जब आप इस प्रैक्टिस को कर रहे हों, तो खुद से ईमानदार रहें.

यह भी पढ़ें-
कुर्सी पर घंटों बैठकर काम करने से बिगड़ सकता है बॉडी पोस्चर, 20 साल बाद दिखने लगेंगे कुछ ऐसे…

बुरी आदतों के विपरीत लिखिए
एक बार में एक आदत लें और उस आदत का सकारात्मक पक्ष एक नए पेज पर लिखें. जैसे- आपने लिखा, ‘मैं अनहेल्दी जंक फूड खाता हूं, जो मुझे सुस्त महसूस कराता है.’ इसका सकारात्मक पक्ष होगा, ‘मैं हेल्दी फूड खाना पसंद करता हूं. जो मेरे मन और शरीर को ऊर्जावान बनाता है.’ एक बार में सभी सकारात्मक मंथन लिखे जाने के बाद, एक समय में एक सकारात्मक आदत पर काम करना शुरू करें. सबसे पहले उस आदत को लें, जिसे आप तुरंत अपने जीवन में शामिल करना चाहते हैं. उस पर अमल करने के लिए अपने फोन या डायरी में रिमाइंडर सेट करें.

अपने माइंड को पुन: प्रोग्राम करें
हर सुबह जब आप उठें, तो उन सभी सकारात्मक आदतों को लिखें, जिन्हें आप अपने जीवन में विकसित करना चाहते हैं. रात को सोने से पहले भी एक बार फिर उन्हें लिखें. धीर-धीरे इन आदतों के विचार आपके अवचेतन मन (subconscious mind) में जड़ जमाने लगेंगे और आपकी पुरानी आदतों से शक्ति छीन लेंगे. सकारात्मक आदतों को लिखने का ये अभ्यास ब्रेन को मजबूत तंत्रिका नेटवर्क (neural network) बनाने की अनुभूति देगा, जो आपके व्यवहार को संचालित करेगा और इन वांछनीय आदतों को आपके जीवन का हिस्सा बना देगा.

यह भी पढ़ें-
सेब की ‘चमक और ताजगी’ भी बन सकती है बीमारी की वजह! स्टडी में हुआ चौंकाने वाला खुलासा

अपने आप से जुड़े रहें
ज्यादातर बुरी आदतों की उत्पत्ति हमारे भीतर किसी ऐसी जरूरत से होती है, जो अधूरी रही हो. यही वजह है कि लोगों में अक्सर पुरानी आदतों को बदलने के लिए प्रेरणा की कमी होती है. चाहे हम खाने में अनुशासनहीनता की बात करें, या अन्य व्यसनों की बात करें.  इन आदतों को दूर करने के लिए हमें अपनी आंतरिक भावनाओं से निपटना होगा. रोजाना 15-20 मिनट मौन बैठें. कुछ मिनटों की सचेत सांस लेने के बाद आप जो भी नकारात्मक भावनाएं महसूस करते हैं उन्हें स्वीकार करें. अब अपने आप को याद दिलाएं कि आपको इन नकारात्मक भावनाओं को पकड़े रहने की जरूरत नहीं है. क्योंकि आप सुंदर हैं, प्रिय हैं और एक स्वस्थ्य सुखी जीवन के लायक हैं.

Tags: Health, Lifestyle, Mental health

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर