Home /News /lifestyle /

शुगर के पेशेंट हैं , तो त्योहारों पर इन 5 चीजों से मिठाई की कमी को पूरा करें

शुगर के पेशेंट हैं , तो त्योहारों पर इन 5 चीजों से मिठाई की कमी को पूरा करें

त्योहारों के दिन आप खजूर खाकर मिठाई की कमी को पूरा कर सकते हैं. (Image: Shutterstock)

त्योहारों के दिन आप खजूर खाकर मिठाई की कमी को पूरा कर सकते हैं. (Image: Shutterstock)

Sugar substitute in this festive season: दिवाली के बाद देश के कई हिस्सों में छठ पर्व मनाया जाता है. इस दौरान घरों में तरह-तरह के मीठे पकवान बनते हैं. हालांकि जो लोग शुगर के पेशेंट हैं, उनके लिए इन मीठी चीजों को खाना नुकसानदेह हो सकता है. इसलिए त्योहार के मौके पर आप चीनी के विकल्प वाली कुछ मीठी चीजें खाकर अपनी इस इच्छा को कम कर सकते हैं. शुगर बढ़ने के डर से आप मिठाई नहीं खाना चाहते तो इन 5 फूड्स से त्योहारों के दिन मीठा खाने की इच्छा को पूरा कर सकते हैं.

अधिक पढ़ें ...

    Sugar substitute in this festive season: त्योहार के मौके पर घर में तरह-तरह के मीठे पकवान बनते हैं. इन पकवानों को खाने के लिए लोग की लालसा पहले से ही बढ़ने लगती है. लेकिन जो लोग शुगर के पेशेंट हैं, उनके लिए इन मीठे पकवानों को खाना बहुत मुश्किल हो जाता है. क्योंकि इन मीठे पकवानों को खाने से इंसुलिन बढ़ सकता है. यह सच है कि चीनी से बने पकवानों को खाने से शुगर के मरीजों को नुकसान होता है, लेकिन चीनी के बदले में कई ऐसी चीजें हैं, जिन्हें खाकर मीठे पकवानों जैसा ही आनंद मिल सकता है. इन मीठे फूड्स से त्योहारों के दिन मीठा खाने की इच्छा भी पूरा हो सकती है. शुगर बढ़ने के डर से यदि आप भी मिठाई नहीं खाना चाहते हैं, तो इन 5 फूड्स से मीठा खाने की इच्छा को पूरा कर सकते हैं.

    इसे भी पढ़ेंः Diwali 2021 Health Tips: दिवाली पर ज्यादा खाने से अगर हो जाएं पाचन संबंधी दिक्कतें तो ऐसे पाएं निजात

    खजूर खाएं

    यदि आप शुगर के पेशैंट हैं, तो त्योहारों के दिन आप खजूर खाकर मिठाई की कमी को पूरा कर सकते हैं. खजूर ड्राई फ्रूट होता है जिसमें शुगर की मात्रा बहुत कम होती है लेकिन इसका मीठापन बहुत ज्यादा होता है. इसके अलावा स्वाद में भी खजूर बेमिशाल होता है. चीनी के विकल्प के रूप में खजूर बहुत अच्छा ड्राई फ्रूट है. इसे आप चॉकलेट बार, केक, मिल्क स्मूथनर में इस्तेमाल कर खा सकते हैं. खजूर पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थ है. इसमें फाइबर, पोटैशियम, मैग्नीशियम, विटामिन बी 6, पॉलीफिनॉल, एंटीऑक्सीडेंट्स आदि पाए जाते हैं.

    डार्क चॉकलेट बेहतर विकल्प

    अगर आप शुगर के पेशेंट हैं, तो त्योहार में मिठाई की जगह डार्क चॉकलेट का सेवन करें. डार्क चॉकलेट एंटी-ऑक्सीडेंट्स का बेहतरीन स्रोत है.  डार्क चॉकलेट ब्लड शुगर कंट्रोल रखेगी, साथ ही कोई परेशानी भी नहीं होगी. इसमें मौजूद फ्लेवनॉल्स बॉडी पर सुरक्षात्मक प्रभाव डालता है.

    इसे भी पढ़ेंः First Aid For Burns: पटाखों से जलने पर क्या है सबसे सही उपचार, डॉ अनुभव गुप्ता से जानें

    ओट्स की खीर खाएं

    त्योहार के सीजन में खीर तो बनाई ही जाती है. आप अगर शुगर के पेशेंट हैं, तो ओट्स की खीर का सेवन कर सकते हैं. ओट्स से शुगर नहीं बढ़ेगा. फाइबर से भरपूर ओट्स खाने से लंबे समय तक पेट भरा रहता है साथ ही मीठा खाने की इच्छा भी पूरी होती है. ओट्स शुगर को कंट्रोल करता है. आप ओट्स को दूध में उबालकर उसमें सूखे मेवा डालकर उसका सेवन कर सकते हैं. मीठे के लिए आप इसमें स्टेविया की पत्ते भी डाल सकते हैं.

    ड्राईफ्रूट्स के लड्डू का करें सेवन

    अगर आप शुगर के पेशेंट हैं, तो मीठा खाने के लिए ड्राईफ्रूट्स से बनी बर्फी या फिर अंजीर के लड्डू भी खा सकते हैं. ड्राईफ्रूट्स में कई प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं जो बीमारियों से शरीर की रक्षा करते हैं. ड्राईफ्रूट्स से शुगर भी नहीं बढ़ता है. फेस्टिवल के मौके पर शुगर कंट्रोल करने के लिए ड्राईफ्रूट्स के लड्डू बेस्ट फूड है.

    फलों से मीठे की इच्छा कम करें

    त्योहारों में मीठा खाने की बहुत ज्यादा इच्छा हो रही है, तो मिठाई की जगह फल खाएं. कई ऐसे फल हैं, जो स्वादिष्ट तो होते ही हैं, साथ ही ये नुकसान भी नहीं पहुंचाते. फलों में नैचुरल शुगर, विटामिन्स और मिनरल्स काफी मात्रा में मौजूद होते हैं. फलों में मौजूद फाइबर ब्लड शुगर और कोलेस्ट्रॉल लेवल कंट्रोल रखता है.  (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

    Tags: Lifestyle

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर